• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Nirbhaya case: निर्भया के दरिंदों के सभी विकल्प समाप्त, नए डेथ वारंट पर सुनवाई आज

|

नई दिल्ली। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने बुधवार को निर्भया सामूहिक बलात्कार और हत्याकांड के दोषी पवन कुमार गुप्ता की दया याचिका खारिज कर दी है। अब दोषियों के सभी कानूनी विकल्प समाप्त हो गए है, ऐसे में तिहाड़ जेल प्रशासन ने फांसी की नई तारीख के लिए पटियाला हाउस कोर्ट में अर्जी लगा दी, इस पर आज दिन में दो बजे सुनवाई होगी, गौरतलब है कि पहले ही निर्भया के दोषियों की फांसी तीन बार टल चुकी है।

नए डेथ वारंट पर सुनवाई आज

नए डेथ वारंट पर सुनवाई आज

अब अगर आज कोर्ट की ओर से अगर फांसी का तारीख तय होती है तो यह चौथी बार होगा. जब निर्भया के दोषियों के डेथ वारंट जारी होंगे। वहीं निर्भया के पिता ने कहा, पवन गुप्ता के पास बस एक विकल्प बचा है। दया याचिका ठुकराए जाने के खिलाफ उच्चतम न्यायालय का रुख करना, बाकी सब अपने सभी विकल्पों का इस्तेमाल कर चुके हैं।

यह पढ़ें: कंगना की बहन रंगोली का Tweet-इन्हें मिलना चाहिए पीएम मोदी का सोशल अकाउंट

 दोषियों के सभी विकल्प खत्म हो चुके हैं

दोषियों के सभी विकल्प खत्म हो चुके हैं

मालूम हो कि दिल्ली सरकार ने बुधवार को तीस हजारी कोर्ट का रुख किया। जज धर्मेंद्र राणा की अदालत को दिल्ली सरकार ने बताया कि राष्ट्रपति की ओर से पवन की दया याचिका खारिज होने के बाद दोषियों के सभी विकल्प खत्म हो चुके हैं, इस पर जज राणा ने दोषियों को बृहस्पतिवार को अपना जवाब देने के लिए नोटिस जारी किया है।

निर्भया से 6 दरिंदों ने गैंगरेप किया था...

निर्भया से 6 दरिंदों ने गैंगरेप किया था...

गौरतलब है कि सात साल पहले, साल 2012 में दिल्ली में चलती बस में पैरामेडिकल की छात्रा निर्भया से 6 दरिंदों ने गैंगरेप किया था और पीड़िता को बस से नीचे फेंक दिया था। दिल्ली में हुई इस हैवानियत की घटना ने पूरे देश को हिलाकर रख दिया है। कुछ दिनों बाद ही इलाज के दौरान निर्भया ने दम तोड़ दिया था। इस मामले में 4 दोषियों को मौत की सजा सुनाई गई है, जबकि एक नाबालिग दोषी सजा काटकर जेल से बाहर आ चुका है।

यह पढ़ें: Coronavirus: क्या 'Sex' या 'Kiss' करने से फैलता है कोरोना वायरस?

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
The Tihar jail administration will be seeking a fresh date of execution for the four death-row convicts in the Nirbhaya gang-rape and murder case after President Ram Nath Kovind rejected the mercy petition of one of the convicts.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X