• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

जानिए, State Bank of India ग्राहक सेवाओं में करने जा रहा है क्या बड़ा बदलाव!

|

बेंगलुरू। अगर आप पैसों को डबल करने के लिए एसबीआई (State Bank Of India) द्वारा बेची गईं फिक्स्ड डिपॉजिट्स (Fix Deposits) खरीद रखी है तो सावधान होने की बारी है, क्योंकि स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) ने खुदरा एफडी के ब्याज दरों में कटौती की है। इससे पहले एसबीआई ने SBI खाताधारकों को चेतावनी दी थी कि बैंक 28 फरवरी तक बिना केवाईसी वाले बैंक खातों के फ्रीज कर देगी।

FD

हालांकि बैंक बिना केवाईसी वाले खाताधारकों को SMS, ईमेल, सोशल मीडिया के जरिए भी अलर्ट किया है। अगर आप भी एसबीआई बैंक के खाताधारकों में शामिल हैं तो यह दुर्घटना आपके साथ भी घट सकती है। बैंक ने सभी खाताधारकों को 28 फरवरी तक अपने खाते से जुड़ा अहम काम खत्म करवा लेने की सलाह दी है और खाताधारको द्वारा लापरवाही बरती गई तो 28 फरवरी के बाद बिना चेतावनी के बैंक ऐसे खातों को फ्रीज कर देगा, जिससे खाताधारकों का खाता में पड़ा पैसा भी गंवाना पड़ सकता है।

FD

वहीं, फिक्स्डड डिपॉजिट्स के जरिए पैसा दोगुना करके भविष्य सुरक्षित करने वाले खाताधारकों को भी एसबीआई ने बड़ा दिया है। सूचना के मुताबिक एसबीआई ने 7 दिनों से लेकर 45 दिनों तक के मैच्योरिटी पीरियड को छोड़कर सभी टेन्योर के लिए कटौती की घोषणा की है। बैंक की ओर से जारी नए एफडी रेट्स 10 फरवरी से प्रभावी होंगे। रिजर्व बैंक ऑफ़ इंडिया (RBI) की ओर से मौद्रिक नीति समीक्षा बैठक के एक दिन बाद एसबीआई बैंक ने खुदरा एफडी के ब्याज दरों में कटौती की घोषणा की है।

FD

इससे पहले, एसबीआई ने लगातार नौवीं बार वित्त वर्ष 2019-20 के लिए मार्जिनल कॉस्ट ऑफ लेंडिंग रेट (एमसीएलआर) में कटौती का ऐलान किया है। अब एमसीएलआर की दर 0.05% घटकर 7.85% प्रति वर्ष हो गई है, जिससे कार लोन और होम लोन ग्राहकों को फायदा होगा, क्योंकि अब उन्हें सस्ते में होम लोन और ऑटो लोन मिल जाएगा। इसके पहले दिसंबर में भी एसबीआई ने एमसीएलआर में बदलाव किया था। तब एसबीआई ने एक साल के एमसीएलआर में 0.10% की कटौती की थी, जिसके बाद यह दर 8.0 फीसदी से कम होकर 7.90 फीसदी हो गई थी।

FD

फिक्स्ड डिपॉजिस्ट्स को लेकर बैंक द्वारा जारी एक बयान में कहा गया है कि बैंक ने जनवरी में 1 से लेकर 2 साल से कम के मैच्योरिटी पीरियड पर एफडी रेट्स में 15 बीपीएस की कटौती की है। दरअसल, बैंक ने 'सिस्टम में सरप्लस नकदी को देखते हुए 10 फरवरी, 2020 से SBI ने रिटेल टर्म डिपॉजिट्स (Rs.2 Crs से कम) और बल्क टर्म डिपॉजिट्स (Rs.2 Crs और ऊपर) पर अपनी ब्याज दर को वापस लिया है।

FD

बैंक ने रिटेल सेगमेंट में टर्म डिपॉजिट को 10-50 बीपीएस और बल्क सेगमेंट में 25-50 बीपीएस की दर से घटा दिया है। हालांकि बैंक ने 7 दिनों से लेकर 45 दिनों तक के मैच्योरिटी पीरियड को छोड़कर सभी टेन्योर के लिए कटौती की घोषणा की है। वैसे, SBI ने जमा पर ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया है।

FD

फिक्स्ड डिपॉजिट्स में के ब्याज दर उक्त कटौती की घोषणा के बाद फिक्स्ड डिपाजिट्स की मियांद यानी मेच्योरिटी बढ़ना तय हैं यानी जिस फिक्स्ड डिपॉजिट्स की मियांद 46 दिनों की थी वह मियांद बढ़कर 60 दिन हो सकती है। बैंक के मुताबिक उसने 46 दिनों से 179 दिनों में मैच्योर होने वाली एफडी के लिए ब्याज दर में 50 बीपीएस की कटौती की है।

यानी अब 46 दिनों से 179 दिनों में मैच्योर होने वाली एफडी पर 5 फीसदी की दर से ही ब्याज मिलेगा जबकि 180 दिनों से लेकर 210 दिनों तक और 211 दिनों से 1 वर्ष से कम समय में मैच्योर होने वाली एफडी के लिए बैंक 5.50% की ब्याज मिलेगा।

FD

एसबीआई पहले 80 दिनों से लेकर 210 दिनों तक और 211 दिनों से 1 वर्ष से कम समय में मैच्योर होने वाली एफडी के लिए एसबीआई 5.80% ब्याज दे रहा था। इसके अलावा बैंक ने 1 वर्ष से 10 वर्षों में मैच्योर होने वाली जमा पर भी 10 बीपीएस की ब्याज दर घटा दी है, जिन पर पहले 6.10% की दर से ब्याज मिलते थे, लेकिन नई कटौती को घोषणा के बाद उन जमा पर अब महज 6% ब्याज ही मिलेंगे।

FD

उल्लेखनीय है एसबीाई ने वरिष्ठ नागरिकों को सभी टेन्योर में अतिरिक्त 50 बेसिस पॉइंट की ब्याज दर देता है। नई दर के हिसाब से SBI एक वर्ष से 10 वर्ष के बीच वरिष्ठ नागरिकों को मैच्योरिटी के लिए 6.50% ब्याज देगा। 7 दिनों से 45 दिनों में मैच्योर होने वाली एफडी के लिए एसबीआई 5.00% ब्याज देगा। अब 46 दिन से 179 दिनों के लिए ब्याज दर 5.50% मिलेगा। 180 दिनों में मैच्योर होने वाली एफडी के लिए 210 दिन और 211 दिन से 1 वर्ष से कम होने पर बैंक 6% की ब्याज दर देगा।

SBI के प्रॉफिट में 41.2% का इजाफा, Q3 में मुनाफा बढ़कर 5,583 करोड़ रुपए पहुंचा

10 फरवरी से हो जाएंगे आपके Fixed Deposits रेट्स में बदलाव

10 फरवरी से हो जाएंगे आपके Fixed Deposits रेट्स में बदलाव

एसबीआई ने 46 दिनों से 179 दिनों में मैच्योर होने वाली एफडी के लिए ब्याज दर में 50 बीपीएस की कटौती की है। यानी अब इन जमाओं पर 5 फीसद की दर से ब्याज मिलेगा। 180 दिनों से लेकर 210 दिनों तक और 211 दिनों से 1 वर्ष से कम समय में मैच्योर होने वाली एफडी के लिए बैंक 5.50% की ब्याज दर देगा। पहले एसबीआई इन डिपॉजिट पर 5.80% दे रहा था। बैंक ने 1 वर्ष से 10 वर्षों में मैच्योर होने वाली जमा पर 10 बीपीएस की ब्याज दर घटा दी है। इन जमा पर पहले 6.10% की दर से ब्याज मिलते थे, अब 6% ब्याज मिलेंगे।

10 फरवरी से सस्ते हो हो जाएंगे कार व होम लोन्स

10 फरवरी से सस्ते हो हो जाएंगे कार व होम लोन्स

एसबीआई ने लगातार नौवीं बार वित्त वर्ष 2019-20 के लिए मार्जिनल कॉस्ट ऑफ लेंडिंग रेट (एमसीएलआर) में कटौती का ऐलान किया है। अब एमसीएलआर की दर 0.05% घटकर 7.85% प्रति वर्ष हो गई है, जिससे कार लोन और होम लोन ग्राहकों को फायदा होगा, क्योंकि अब उन्हें सस्ते में होम लोन और ऑटो लोन मिल जाएगा। इसके पहले दिसंबर में भी एसबीआई ने एमसीएलआर में बदलाव किया था। तब एसबीआई ने एक साल के एमसीएलआर में 0.10% की कटौती की थी, जिसके बाद यह दर 8.0 फीसदी से कम होकर 7.90 फीसदी हो गई थी।

ATM से 10000 रुपए से अधिक की निकासी पर OTP अनिवार्य होगा

ATM से 10000 रुपए से अधिक की निकासी पर OTP अनिवार्य होगा

SBI ने अपने खाताधारकों की जमापूंजी की सुरक्षा को देखते हुए एटीएम से कैश निकासी के लिए नया नियम बनाया है। SBI के नए नियम के मुताबिक रात 8 बजे से दिन के 8 बजे तक एटीएम से 10000 रुपए से अधिक की निकासी पर OTP अनिवार्य होगा। बिना ओटीपी के एटीएम से कैश की निकासी नहीं होगी। एसबीआई ने 1 जनवरी OTP बेस्ड ATM ट्रांजैक्शन की सेवा शुरू की है। अब बैंक ने इसके लिए अपने खाताधारकों को अपने मोबाइल नंबर को अपटेड करने की सलाह दी है।

28 फरवरी के बाद बंद हो जाएंगे SBI के ये अकाउंट

28 फरवरी के बाद बंद हो जाएंगे SBI के ये अकाउंट

एसबीआई ने बैंक खाताधारकों के लिए चेतावनी जारी की है। SBI ने एसएमएस, ईमेल और सोशल मीडिया के जरिए जानकारी दी है और तय डेडलाइन के भीतर अपना केवाईसी अपटेड करवाने की सलाह दी है। बैंक ने खाताधारकों को अगले एक महीने में अपने खाते का केवाईसी (Know Your Customer) अपडेट करा लेने की सलाह देते हुए कहा है कि अगर कोई भी ग्राहक इससे चूक जाता है तो बैंक उसका बैंक खाता फ्रीज कर देगा।

क्या है केवाईसी और क्या हैं जरूरी दस्तावेज?

क्या है केवाईसी और क्या हैं जरूरी दस्तावेज?

केवाईसी के लिए जरूरी दस्तावेज केवाईसी अपडेट कराने के लिए आपको ज्यादा परेशान होने की जरूरत नहीं। एसबीआई की वेबसाइट के मुताबिक, केवाईसी के लिए पहचान पत्र देना जरूरी है। इसके लिए आप वोटर आइडी कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड(PAN Card), आधार कार्ड(Aadhaar Card), नरेगा कार्ड, पेंशन भुगतान आदेश, डाकघर से जारी पहचान पत्र जमा करवा सकते हैं। आपको इस बात का ध्यान रखना है कि आप केवाईसी के लिए जो दस्तावेज दे रहे हैं, उसमें वही एड्रेस हो, जो आपके बैंक खाते में दर्ज है। पहचान पत्र के अलावा आपको अपना एड्रेस प्रूफ देना होगा, जिसके लिए आप टेलीफोन बिल, पासबुक, सरकारी प्राधिकारी पत्र, बिजली का बिल, राशन कार्ड या क्रेडिट कार्ड स्टेटमेंट दे सकते हैं।

घर बैठे करा सकते हैं ई-केवाईसी?

घर बैठे करा सकते हैं ई-केवाईसी?

अगर आपके पास आधार कार्ड हैं और नेट बैंकिंग का प्रयोग करते हैं तो आप ऑनलाइन तरीके से ई-केवाईसी करा सकते हैं। इसके लिए आपको अपना ई-आधार कार्ड नेटबैंकिंग के द्वारा बैंक की साइट पर अपलोड करना होगा। ज्यादातर बैंकों ने इसकी सुविधा भी शुरू की है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
SBI has announced deduction for all tenures except the maturity period ranging from 7 days to 45 days. The new FD rates issued by the bank will be effective from February 10. It is being told that one day after the monetary policy review meeting by the Reserve Bank of India (RBI), SBI Bank has cut the interest rates of retail FDs.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Oneindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Oneindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more