• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Hathras Incident: बोले डॉ.कुमार विश्वास- 'भगत सिंह, सुखदेव-राजगुरु को भी बिना अंतिम संस्कार किए जलाया था'

|

नई दिल्ली। हाथरस में हुई रेप की घटना से पूरे देश में गुस्सा चरम पर है, क्या आम और क्या खास , सभी के निशाने पर यूपी पुलिस और योगी सरकार है, जिस तरह से कल देर रात परिवार और गांव वालों के विरोध के बावजूद पीड़िता का अंतिम संस्कार पुलिस वालों ने कराया है, उसकी वजह से यूपी पुलिस बहुत सारे सवालों के कठघरे में है।

'भगत सिंह-सुखदेव,राजगुरु को बिना अंतिम संस्कार किए जलाया था'

'भगत सिंह-सुखदेव,राजगुरु को बिना अंतिम संस्कार किए जलाया था'

मशहूर कवि डॉ. कुमार विश्वास ने इस घटना की कड़ी निंदा करते हुए एक ट्वीट किया है,जिसमें उन्होंने लिखा है कि सूर्यास्त के बाद, विधान के विपरीत, घरवालों से छुपाकर, जबरन, अपनी सरकार और पुलिस के बल पर गुपचुप तरीके से 'हम सदा शासक रहेंगे' की सोच वाले अहंकारी अंग्रेजों ने शहीद-ए-आजम भगतसिंह, सुखदेव और राजगुरु को बिना अंतिम संस्कार किए जलाया था।

यह पढ़ें:Hathras Incident: पीड़िता के जबरन अंतिम संस्कार पर भड़के जावेद अख्तर ने पूछा- किसके दम पर उन्होंने ऐसा किया?यह पढ़ें:Hathras Incident: पीड़िता के जबरन अंतिम संस्कार पर भड़के जावेद अख्तर ने पूछा- किसके दम पर उन्होंने ऐसा किया?

    Hathras Case: 14 सितंबर को हुई वारदात के बाद से जानिए जानिए अबतक क्या-क्या हुआ ? | वनइंडिया हिंदी
    'हाथरस की बिटिया का श्राप हमारे समय के सर पर है'

    'हाथरस की बिटिया का श्राप हमारे समय के सर पर है'

    इससे पहले भी कुमार विश्वास ने ट्वीट किया था कि हाथरस की बिटिया का श्राप हमारे समय के सर पर है !, बच्चियां अभी भी उसी हाल में है ! नेतागण बिहार में बिजी है ! देश का चौथा खम्भा राजविदूषकों के यहां चरस की पुड़िया ढूंढने में बिजी है ! सभ्यता के पतन का मार्ग इन दिनों GDP की तरह ईजी है, ईश्वर ही राह दिखाए।

     'जो भी कहा जा रहा है वो सच नहीं'

    'जो भी कहा जा रहा है वो सच नहीं'

    आपको बता दें कि पीड़िता के जबरन अंतिम संस्कार कराए जाने की वजह से चारों ओर से आलोचनाओं में घिरी हाथरस पुलिस ने इस बारे में कहा है कि जो कुछ भी कहा जा रहा है पूरी तरह से गलत और बेबुनियाद है।

    गांव वालों ने भारी हंगामा किया

    आपको बता दें कि मंगलवार को गैंगरेप पीड़िता का शव दिल्ली से देर रात हाथरस पहुंचा, जहां पीड़िता के शव को लेकर गांव वालों ने भारी हंगामा किया, गांव वाले शव का अंतिम संस्कार आधी रात को करने को तैयार नहीं थे, वो न्याय के लिए मांग कर रहे थे, जिसके बाद पुलिस और गांववालों के बीच बहस भी हुई लेकिन हंगामे के बीच पीड़िता का अंतिम संस्कार कर दिया गया और इस वक्त गांव में भारी पुलिस बल तैनात है।

    क्या है पूरा मामला?

    क्या है पूरा मामला?

    आपको बता दें कि 14 सितंबर को सुबह पीड़ित अपनी मां और भाई के साथ पशुओं को चारा लेने के लिए खेतों में गई थी, थोड़ी देर बाद लड़की का भाई और मां घास काटने के बाद घर चले गए, उसी दौरान पीड़िता को अकेला पाकर गांव के रहने वाले चार उच्च जाति के लड़कों ने उसके साथ गैंगरेप किया, पीड़िता के साथ ना सिर्फ सामूहिक दुष्कर्म हुआ बल्कि विरोध करने पर उसकी जीभ काट दी और उसकी रीढ़ की हड्डी भी तोड़ डाली गई, 19 वर्षीय लड़की के साथ हाथरस के चंदपा थाना क्षेत्र के एक गांव में दरिंदगी हुई थी। घटना के 9 दिन बीत जाने के बाद पीड़िता होश में आई थी तो उसने अपने साथ हुई आपबीती अपने परिजनों को बताई थी, जब पीड़िता का डॉक्टरी परीक्षण हुआ तो इसमें गैंगरेप की पुष्टि हुई थी, जिसके बाद हाथरस पुलिस ने चारों आरोपी को अरेस्ट किया था लेकिन कल सुबह पीड़ि‍ता ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया और फिर कल देर रात ही पुलिस वालों ने जबरन उसका अंतिम संस्कार भी कर दिया।

    यह पढ़ें: Hathras Incident: DCW की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने मुख्य न्यायाधीश को लिखा पत्र, मांगा इंसाफयह पढ़ें: Hathras Incident: DCW की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने मुख्य न्यायाधीश को लिखा पत्र, मांगा इंसाफ

    English summary
    Hathras victim’s body forcibly taken away for cremation by UP police, Dr. Kumar Vishwas said its Painful. see his tweet.
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X