• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Hathras case: योगी सरकार पर भड़कीं प्रियंका गांधी, कहा- ऐसी घटनाओं पर गुस्सा चढ़ता है, मेरी भी 18 साल की बेटी है

|

लखनऊ। हाथरस में हुई रेप की घटना से पूरे देश में गुस्सा चरम पर है, क्या आम और क्या खास , सभी के निशाने पर यूपी पुलिस और योगी सरकार है, गुरुवार को कांग्रेस नेता राहुल गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा पीड़िता के परिवार से मिलने के लिए हाथरस के लिए रवाना हुए थे लेकिन लेकिन ग्रेटर नोएडा के पास ही उनके काफिले को रोक लिया गया, इस दौरान प्रियंका गांधी ने यूपी सरकार पर जमकर निशाना साधा और कहा कि ऐसी घटनाओं पर गुस्सा चढ़ता है, मेरी भी 18 साल की बेटी है, हर महिला को गुस्सा चढ़ना चाहिए, हमारे हिंदू धर्म में कहां लिखा है कि अंतिम संस्कार परिवार के बिना हो।

    Hathras Case: Priyanka Gandhi को Uttar Pradesh Police ने रोका तो भड़कीं, कही ये बात | वनइंडिया हिंदी

    ऐसी घटनाओं पर गुस्सा चढ़ता है, मेरी भी 18 साल की बेटी है

    मालूम हो कि जब आज प्रियंका और राहुल गांधी के काफिले को रोका गया तो इसके बाद राहुल गांधी और प्रियंका गांधी पैदल ही हाथरस के लिए निकल पड़े लेकिन इसी बीच पुलिस और कांग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच झड़प शुरू हो गई और इस दौरान राहुल गांधी के साथ धक्का-मुक्की हुई, जिसकी वजह से राहुल गांधी जमीन पर गिर पड़े, बताया जा रहा है कि उनके हाथ में चोट आई है। वहीं इस झड़प में कुछ कार्यकर्ताओं को भी चोटें आई हैं।

    प्रियंका गांधी ने जारी किया मृतका के पिता का Video

    मालूम हो कि हाथरस के लिए निकलने से पहले प्रियंका गांधी ने मृतका के पिता के बयान का वीडियो भी जारी किया था और योगी सरकार और यूपी पुलिस पर बड़े आरोप लगाए ।

    'धमकाकर उन्हें चुप कराना चाहती है सरकार'

    प्रियंका ने वीडियो शेयर कर ट्वीट किया, 'हाथरस की बेटी के पिता का बयान सुनिए, उन्हें जबरदस्ती ले जाया गया। सीएम से वीसी के नाम पर बस दबाव डाला गया। वो जांच की कार्रवाई से संतुष्ट नहीं हैं। अभी पूरे परिवार को नजरबंद रखा है। बात करने पर मना है। क्या धमकाकर उन्हें चुप कराना चाहती है सरकार? अन्याय पर अन्याय हो रहा है।'

    पीड़िता के शव को लेकर गांव वालों ने भारी हंगामा किया

    आपको बता दें कि मंगलवार को गैंगरेप पीड़िता का शव दिल्ली से देर रात हाथरस पहुंचा था, जहां पीड़िता के शव को लेकर गांव वालों ने भारी हंगामा किया, गांव वाले शव का अंतिम संस्कार आधी रात को करने को तैयार नहीं थे, वो न्याय के लिए मांग कर रहे थे, जिसके बाद पुलिस और गांववालों के बीच बहस भी हुई लेकिन हंगामे के बीच पीड़िता का अंतिम संस्कार कर दिया गया और इस वक्त गांव में भारी पुलिस बल तैनात है।

    क्या है पूरा मामला?

    आपको बता दें कि 14 सितंबर को सुबह पीड़ित अपनी मां और भाई के साथ पशुओं को चारा लेने के लिए खेतों में गई थी, थोड़ी देर बाद लड़की का भाई और मां घास काटने के बाद घर चले गए, उसी दौरान पीड़िता को अकेला पाकर गांव के रहने वाले चार उच्च जाति के लड़कों ने उसके साथ गैंगरेप किया, पीड़िता के साथ ना सिर्फ सामूहिक दुष्कर्म हुआ बल्कि विरोध करने पर उसकी जीभ काट दी और उसकी रीढ़ की हड्डी भी तोड़ डाली गई, 19 वर्षीय लड़की के साथ हाथरस के चंदपा थाना क्षेत्र के एक गांव में दरिंदगी हुई थी। घटना के 9 दिन बीत जाने के बाद पीड़िता होश में आई थी तो उसने अपने साथ हुई आपबीती अपने परिजनों को बताई थी, जब पीड़िता का डॉक्टरी परीक्षण हुआ तो इसमें गैंगरेप की पुष्टि हुई थी, जिसके बाद हाथरस पुलिस ने चारों आरोपी को अरेस्ट किया था लेकिन कल सुबह पीड़ि‍ता ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया और फिर मंगलवार देर रात ही पुलिस वालों ने जबरन उसका अंतिम संस्कार भी कर दिया।

     यह पढ़ें: हाथरस जा रहे राहुल गांधी के साथ पुलिस ने की धक्का-मुक्की, जमीन पर गिरे यह पढ़ें: हाथरस जा रहे राहुल गांधी के साथ पुलिस ने की धक्का-मुक्की, जमीन पर गिरे

    English summary
    Congress leader Priyanka Gandhi Vadra today said every woman in India should be angry at whatever has happened in Hathras gangrape case.
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X