• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

अब ISRO की होगी ट्रेनों पर नजर, तेल चोरी पर लगेगी लगाम, क्या है सरकार का मास्टर प्लान

|

नई दिल्‍ली। सैटेलाइट से रेलगाड़ियों की रियल टाइम मॉनिटरिंग से अब न सिर्फ रेलयात्रियों को अपने गंतव्य पर पहुंचने की सही सूचना मिलेगी बल्कि मालगाड़ियों से तेल और कोयले की चोरी पर भी लगाम लगेगी, जी हां, अब ट्रेनों पर हमारी-आपके अलावा भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) की नजर होगी, जिससे अब मालगाड़ियों से चोरी करने वाले और फालतू में ट्रेनों को आउटर सिग्नलनों पर रोकने वालों की खैर नहीं होगी।

रियल टाइम मॉनिटरिंग शुरू

रियल टाइम मॉनिटरिंग शुरू

आपको बता दें कि इसरो के सैटेलाइट के जरिए कंट्रोल ऑफिस एप्लीकेशन सिस्टम में ट्रेनों के परिचालन की रियल टाइम मॉनिटरिंग शुरू हो गई है, जिसके चलते 700 से ज्यादा ट्रेनों के इंजनों में जीपीएस सिस्टम लगाए गए हैं।

तेल और कोयले की चोरी पर लगेगी लगाम

इस बारे में बात करते हुए आईपीएस अधिकारी और आरपीएफ के महानिदेशक अरुण कुमार ने मीडिया को बताया कि नई तकनीक से उम्मीद है कि मालगाड़ियों से तेल और कोयले की चोरी पर लगाम लगेगी, क्योंकि रियल टाइम मॉनिटरिंग होने से अनधिकृत स्टेशनों पर या स्टेशनों के बीच में मालगाड़ियों को रोकना मुश्किल होगा।

यह पढ़ें: Jammu Kashmir Live: SC की मंजूरी के बाद श्रीनगर पहुंचे येचुरी

अब चोरी करना नहीं होगा आसान

अब चोरी करना नहीं होगा आसान

गौरतलब है कि इंडियन रेलवे को सबसे ज्यादा आमदनी मालगाड़ियों से होती है लेकिन तेल और कोयले की चोरी की शिकायत अक्सर मिलती रहती है, जिसमें रेलवे के रनिंग स्टाफ, रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ), रेलवे स्टेशनों के लोकल कर्मचारियों की मिली भगत होती है, फिलहाल जीपीएस सिस्टम एक्टिव होने के कारण अब चोरी करना आसान नहीं होगा।

तेजस ट्रेन के लिए बड़ा ऐलान

तेजस ट्रेन के लिए बड़ा ऐलान

देश की पहली 'प्राइवेट' ट्रेन तेजस में सफर करने वाले हैं और सफर में देर होती है तो आप मुआवजे के हकदार होंगे। तेजस के सफर में एक घंटे से ज्यादा की देरी होती है तो आपको मुआवजा मिलेगा। आईआरसीटीसी अक्टूबर महीने ने इस तेजस ट्रेन का संचालन शुरू करने वाली है। पहली ट्रेन दिल्ली से लखनऊ के बीच चलेगी। हालांकि इस ट्रेन का बेस किराया इसी रूट पर चलने वाली शताब्दी के आसपास ही होगा, लेकिन इसमें अन्य कई सुविधाएं दी गई हैं।

यह पढ़ें: Article 370: अफरीदी ने कश्मीर को लेकर किया Tweet, गंभीर ने लगाई फिर से लताड़

जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें - निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
The Control Office Application (COA) system designed by Indian Space Research Organisation (ISRO) has begun real-time monitoring of over 700 trains, fitted with GPS (Global Positioning System).
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Oneindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Oneindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more