• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Children's Day पर Google ने बनाया खास Doodle , चाचा नेहरू को यूं किया याद

|

नई दिल्ली। आज भारत के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू का जन्मदिन है, जिसे पूरा राष्ट्र बालदिवस के रूप में मनाता है, इस खास दिन को Google ने भी अपने अंदाज में सेलिब्रेट किया है, उसने Doodle बनाकर बच्चों को बाल दिवस की बधाई दी है और सबके प्रिय चाचा नेहरू को याद किया। बनाए गए डूडल में बच्चों की खोजी प्रवृत्ति को दर्शाया गया है। इसमें एक बच्ची टेलिस्कोप की मदद से अंतरिक्ष में देख रही है। जिसे वहां ग्रह, आकाशगंगा और सैटलाइट दिख रहे हैं।

गूगल ने बनाया खास डूडल

गूगल ने बनाया खास डूडल

आपको बता दें कि महान लेखक,विचारक और कुशल राजनेता जवाहर लाल नेहरू का जन्म कश्मीरी ब्राह्मण परिवार में हुआ था। यह परिवार 18वीं शताब्दी के आरंभ में इलाहाबाद आ गया था। इलाहाबाद में बसे इसी परिवार में उनका जन्म 14 नवंबर 1889 को हुआ था। उनके पिता का नाम पंडित मोतीलाल नेहरू और माता का नाम श्रीमती स्वरूप रानी था।

यह भी पढ़ें: Chhath 2018: पहली बार ऋतिक रोशन को समझ आई छठ की महिमा, ऐसे दी बधाई

पंडित नेहरू की शिक्षा

पंडित नेहरू की शिक्षा

उनकी प्रारंभिक शिक्षा घर पर ही हुई। 15 वर्ष की उम्र में 1905 में नेहरू इंग्लैंड के हैरो स्कूल में भेजे गए। हैरो में दो वर्ष तक रहने के बाद नेहरू केंब्रिज के ट्रिनिटी कॉलेज पहुंचे जहां उन्होंने तीन वर्ष तक अध्ययन कर विज्ञान में स्नातक उपाधि प्राप्त की। कैम्ब्रिज छोड़ने के बाद लंदन के इनर टेंपल में दो वर्ष बिताकर उन्होंने वकालत की पढ़ाई की।

नेहरू का विवाह कमला कौल के साथ हुआ

नेहरू का विवाह कमला कौल के साथ हुआ

15 वर्ष की उम्र में 1905 में नेहरू इंग्लैंड के हैरो स्कूल भेजे गए भारत लौटने के चार वर्ष बाद मार्च 1916 में नेहरू का विवाह कमला कौल के साथ हुआ। कमला दिल्ली में बसे कश्मीरी परिवार की थीं। दोनों की अकेली संतान इंदिरा प्रियदर्शिनी का जन्म 1917 में हुआ। 1929 में लाहौर अधिवेशन में नेहरू कांग्रेस के अध्यक्ष चुने गए थे। 27 मई 1964 को प्रधानमंत्री पद पर रहते हुए निधन होने तक नेहरू अपने देशवासियों का आदर्श बने रहे। देश की मौलिक एकता पर जोर देने के अलावा नेहरू भारत को वैज्ञानिक खोजों और तकनीकी विकास के आधुनिक युग में ले जाने के प्रति भी सचेत थे।

बच्चों के बीच चाचा के नाम से मशहूर नेहरू

बच्चों के बीच चाचा के नाम से मशहूर नेहरू

बच्चों के बीच चाचा नेहरू के नाम से मशहूर भारत के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू एक ऐसे व्यक्ति थे जिन्होंने स्वतंत्र भारत का जो स्वरूप आज हमारे सामने मौजूद है, उसकी आधारशिला रखी थी। आधुनिक भारत के निर्माण की राह बनाने के साथ ही उन्होंने देश के भावी सामाजिक स्वरूप का खाका भी खींचा था। दुनिया के पटल पर भारत आज अपने जिन मूल्यों आदर्शो के लिए जाना पहचाना जाता है, उसे स्वरूप प्रदान करने का श्रेय एक हद तक नेहरू को दिया जाना चाहिए।

आधुनिक भारत की नींव नेहरू ने ही रखी

आधुनिक भारत की नींव नेहरू ने ही रखी

आज भले ही कुछ राजनैतिक ताकतों ने नेहरू के विचाऱों को अपनी प्रगति से जोड़ दिया हो लेकिन सच तो यही है कि आधुनिक भारत की नींव नेहरू ने ही रखी थी।उनके बारे में सर्वपल्ली राधाकृष्णन ने कहा था कि जवाहर लाल नेहरू हमारी पीढ़ी के एक महानतम व्यक्ति थे। वह एक ऐसे अद्वितीय राजनीतिज्ञ थे, जिनकी मानव-मुक्ति के प्रति सेवाएं चिरस्मरणीय रहेंगी। स्वाधीनता संग्राम के योद्धा के रूप में वह यशस्वी थे और आधुनिक भारत के निर्माण के लिए उनका अंशदान अभूतपूर्व था।

नेहरू ने विधवाओं को पुरुषों के बराबर अधिकार प्रदान करवाया

नेहरू ने विधवाओं को पुरुषों के बराबर अधिकार प्रदान करवाया

अपने देशवासियों में निर्धनों और अछूतों के प्रति सामाजिक चेतना की जरूरत के प्रति जागरुकता पैदा करने और लोकतांत्रिक मूल्यों के प्रति सम्मान पैदा करने का भी कार्य उन्होंने किया। उन्हें अपनी एक उपलब्धि पर विशेष गर्व था कि उन्होंने प्राचीन हिंदू सिविल कोड में सुधार कर अंतत: उत्तराधिकार और संपत्ति के मामले में विधवाओं को पुरुषों के बराबर अधिकार प्रदान करवाया।

यह भी पढ़ें: Chhath 2018: उगते सूर्य को अर्घ्य के साथ महापर्व संपन्न, CM नीतीश कुमार ने कही बड़ी बात

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Google is celebrating Children's day with a doodle envisioned by a school student from Mumbai, winner of the 2018 Doodle 4 Google competition in India.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X