• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

'Ok Google पर यूजर्स की कॉल रिकॉर्ड कर सुनते हैं कर्मचारी', संसदीय पैनल के सामने गूगल ने स्वीकारा

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली, 30 जून। सोशल मीडिया का इस्तेमाल कितना सुरक्षित है और क्या आप जो बात एक-दूसरे से करते हैं वह पूरी तरह से गोपनीय है इसपर गूगल ने संसदीय कमेटी में जो जवाब दिया है उसे सुनकर आप जरूर सतर्क हो जाएंगे। सूत्रों के अनुसार गूगल ने संसद की स्टैडिंग कमेटी में इस बात को स्वीकार किया है कि गूगल के कर्मचारी ग्राहकों की बातचीत की रिकॉर्डिंग को गूगल असिस्टेंट के जरिए सुनते हैं। दरअसल ग्राहकों की सुरक्षा को लेकर गूगल के प्रतिनिधि संसद की आईटी कमेटी के सामने पेश हुए और इस दौरान उन्होंने इस बात को स्वीकार किया है कि उनके कर्मचारी लोगों की व्यक्तिगत बातों को सुनते हैं।

    Google ने स्वीकारा, Ok Google पर Users की Call Record कर सुनते हैं कर्मचारी! | वनइंडिया हिंदी
    google

    गूगल ने रिकॉर्डिंग की बात स्वीकारी
    पैनल के के सूत्रों ने बताया कि गूगल ने इस बात को स्वीकार किया है कि जब गूगल के यूजर ओके गूगल के जरिेए गूगल से स्मार्ट स्पीकर के जरिए बात करतें हैं तो गूगल के कर्मचारी इसे सुनते हैं। भाजपा सांसद निशिकांत दुबे ने गूगल के प्रतिनिधि से इस बाबत सवाल किया था, जिसका जवाब देते हुए गूगल की टीम ने स्वीकार किया कि कभी-कभी हम यूजर्स जब वर्चुअल असिस्टेंट को कॉल नहीं करते हैं तो भी हम उनकी बातचीत को रिकॉर्ड करते हैं। हालांकि गूगल ने यह भी पैनल के सामने कहा है कि इस दौरान संवेदनशील बातों को नहीं सुना जाता है, यह सिर्फ सामान्य बातचीत होती है और उसे ही रिकॉर्ड किया जाता है।

    कैसे तय होता है कौन सी बात रिकॉर्ड करनी है कौन सी नहीं
    गूगल की ओर से कहा गया है कि वह गोपनीय बात को रिकॉर्ड नहीं करता है। लेकिन गूगल की ओर से यह स्पष्ट नहीं किया गया है कि आखिर वह कैसे यह तय करता है कि कौन सी बात गोपनीय संवेदनशील है और कौन सी नहीं। पैनल के सदस्य के अनुसार इस मामले को गंभीरता से लिया गया है और इसे गोपनीयता के अधिकार का हनन माना गया है। कमेटी की अंतिम रिपोर्ट पैनल के अध्यक्ष शशि थरूर तैयार करेंगे और इस मामले में सरकार को अपनी सिफारिश देंगे। पैनल ने मजबूती के साथ गूगल के पैनल से कहा है कि वह लोगों की गोपनीयता को सुरक्षित रखें और इस तरह का तरीका निकाले जिससे कि यूजर्स के डेटा के साथ कोई भी समझौता ना हो।

    इसे भी पढ़ें- अमेरिका-कनाडा पर सूरज का कहर, जल रहे हैं अमेरिकी शहर, खतरनाक लू से लगा लॉकडाउन!इसे भी पढ़ें- अमेरिका-कनाडा पर सूरज का कहर, जल रहे हैं अमेरिकी शहर, खतरनाक लू से लगा लॉकडाउन!

    प्राइवेसी पॉलिसी में नहीं है इसका जिक्र
    पैनल के एक सदस्य ने कहा कि गूगल ने जिस तरह से इस बात को स्वीकार किया है उसके बाद इस सवाल का जवाब मिल गया है कि आखिर जब कोई यूजर गूगल असिस्टेंट से किसी होटल की जानकारी मांगता है तो उसके बाद अलग-अलग तरह की डील और ऑफर्स के मैसेज आने लगते हैं। पैनल के एक अन्य सदस्य ने कहा कि गूगल के बयान के बाद स्पष्ट है कि गूगल स्मार्ट स्पीकर, गूगल असिस्टेंड के जरिए यूजर की कॉल रिकॉर्ड की जाती है, लेकिन गूगल की प्राइवेसी पॉलिसी में इसका जिक्र नहीं है, यह गोपनीयता के उल्लंघन का गंभीर मामला है।

    English summary
    Google admits it records and listen users call on ok google in parliament panel says sources.
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X