• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Bipin Rawat : रावत के निधन से दुखी मित्र संधू ने कहा-'वो यारों का यार था और CDS के लिए बेस्ट च्वाइस'

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली, 09 दिसंबर। तमिलनाडु में हेलिकॉप्टर क्रैश का शिकार हुए CDS बिपिन रावत की मौत से पूरा देश आहत है। किसी को समझ ही नहीं आ रहा कि ये सब कैसे हो गया? जनरल बिपिन रावत एक ऐसी हस्ती थे, जिन्हें लोग कभी भी भूल नहीं पाएंगे। वो केवल बहादुर इंसान नहीं बल्कि एक जिंदादिल व्यक्ति भी थे। उन्हें याद करते हुए उनके राष्ट्रीय रक्षा अकादमी (एनडीए) के बैचमेट और उनके करीबी दोस्त ने उनको देश के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) का बिल्कुल सही विकल्प बताया ।

    CDS General Bipin Rawat Helicopter Crash: अगर मिल जाते 90 सेकंड तो टल जाता हादसा | वनइंडिया हिंदी
    ब्रिगेडियर संधू दोस्त को याद करके भावुक हुए

    ब्रिगेडियर संधू दोस्त को याद करके भावुक हुए

    ब्रिगेडियर मंदीप सिंह संधू (सेवानिवृत्त) रावत के क्लोज फ्रेंड में से एक थे, अपने मित्र से निधन से दुखी संधू ने कहा कि 'मेरा दोस्त एक शेर था।' उन्हें याद करते हुए भावुक संधू ने कहा कि 'रावत बहुत मिलनसार और मृदुभाषी व्यक्ति थे। वो हमेशा सेना की बेहतरी के बारे में सोचते थे। वो हमेशा कहते थे कि सेना को आधुनिक लड़ाकू बल के रूप में पुनर्गठित करने की जरूरत है। हमने देश के वीर को खोया है।'

    Bipin Rawat's Profile: CDS रावत के खून में थी देशभक्ति, कहलाते थे 'काउंटर विशेषज्ञ'Bipin Rawat's Profile: CDS रावत के खून में थी देशभक्ति, कहलाते थे 'काउंटर विशेषज्ञ'

    'वो यारों का यार था और CDS के बेस्ट च्वाइस'

    'वो यारों का यार था और CDS के बेस्ट च्वाइस'

    संधू ने कहा कि 'बहुत बिजी रहने वाले रावत हमेश दोस्तों के लिए वक्त निकालते थे। हम एक ही एनडीए बैच में थे और साथ में कश्मीर में ब्रिगेड की कमान भी साथ में संभाली थी। चेहरे पर मुस्कान और दोस्तों के लिए प्यार रावत की खासियत थी। हमने आज अपना एक जिंदादिल दोस्त खो दिया। वो यारों का यार था।'

    रावत और उनकी पत्नी का पार्थिव शरीर आज लाया जाएगा दिल्ली

    रावत और उनकी पत्नी का पार्थिव शरीर आज लाया जाएगा दिल्ली

    आपको बता दें कि तमिलनाडु में हेलिकॉप्टर क्रैश का शिकार हुए चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (CDS) जनरल बिपिन रावत और उनकी पत्नी मधुलिका रावत का पार्थिव शरीर भारतीय सेना के जहाज से आज दिल्ली लाया जाएगा और शुक्रवार को कैंट श्मशान में रावत और उनकी पत्नी का अंतिम संस्कार होगा। ANI के मुताबिक रावत और उनकी पत्नी का पार्थिव शरीर उनके घर पर कल सुबह 11 बजे से दोपहर 2 बजे तक लोगों के अंतिम दर्शन के लिए रखा जाएगा और फिर कामराज मार्ग से दिल्ली कैंट के बरार स्क्वायर श्मशान घाट तक अंतिम यात्रा निकाली जाएगी और फिर कैंट श्मशान में उनकी यात्रा निकाली जाएगी।

    वायुसेना ने इस हादसे की जांच के आदेश दिए

    वायुसेना ने इस हादसे की जांच के आदेश दिए

    आपको बता दें कि इस दर्दनाक हादसे में रावत और उनकी पत्नी के अलावा ब्रिगेडियर एल एस लिद्दर, सीडीएस के सैन्य सलाहकार एवं स्टाफ अफसर लेफ्टिनेंट कर्नल हरजिंदर सिंह ,विंग कमांडर पी. एस. चव्हाण, स्क्वाड्रन लीडर के. सिंह, जेडब्ल्यूओ दास, जेडब्ल्यूओ प्रदीप ए., हवलदार सतपाल, नायक गुरसेवक सिंह, नायक जितेन्द्र कुमार, लांस नायक विवेक कुमार और लांस नायक सई तेजा शामिल हैं। भारतीय वायुसेना ने इस हादसे की जांच के आदेश दिए है।

    Comments
    English summary
    Speaking with ANI, Brigadier Mandeep Singh Sandhu (Retd), Ex-Army Special Forces, recalled how General Rawat was 'very focused' on doing something for the nation and the Army always.
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X