• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

गलवान घाटी संघर्ष की पहली बरसी, लेह में सेना ने दी शहीदों को श्रद्धांजलि

|
Google Oneindia News

लेह, जून 15: पूर्वी लद्दाख में स्थित गलवान घाटी में भारत और चीन की सेनाओं के बीच हुई हिंसक झड़प को आज एक साल पूरा हो गया है। गलवान हिंसा के एक साल पूरे होने के अवसर पर भारतीय सेना की फायर एंड फ्यूरी कॉर्प्‍स ने लेह स्थित वार मेमोरियल पर शहीदों को श्रद्धासुमन अर्पित किए। इस झड़प में भारतीय सेना के 20 जवान शहीद हो गए थे। जिसके बाद दोनों देशों के बीच भारी तनाव देखने को मिला था।

Fire & Fury Corps paid homage to martyrs of Galwan on the first anniversary of the violent clash
    Ranbankure: Galwan Valley हिंसा का 1 साल पूरा, कितनी तैयार है अब Indian Army ? | वनइंडिया हिंदी

    रक्षा जनसंपर्क इकाई (पीआरओ), श्रीनगर ने जानकारी दी कि पूर्वी लद्दाख में गलवान घाटी में भारत और चीन की सेनाओं के बीच हिंसक झड़प की पहली बरसी पर फायर एंड फ्यूरी कोर ने शहीदों को श्रद्धांजलि दी। फायर एंड फ्यूरी कॉर्प्‍स के COS मेजर जनल अक्ष कौशिक ने मंगलवार, 15 जून को लेह स्थित वार मेमोरियल पर पुष्‍पचक्र अर्पित कर गलवान के शहीदों को नमन किया।

    Fire & Fury Corps paid homage to martyrs of Galwan on the first anniversary of the violent clash

    इस संबंध में जारी एक बयान में कहा गया है कि अभूतपूर्व चीनी आक्रमण का सामना करते हुए, 20 भारतीय सैनिकों ने हमारी भूमि की रक्षा करते हुए अपने प्राणों की आहुति दी और पीएलए को भारी नुकसान पहुंचाया। देश इन वीर सैनिकों का सदा आभारी रहेगा, जिन्होंने सबसे कठिन ऊंचाई वाले इलाके में लड़ाई लड़ी और राष्ट्र की सेवा में सर्वोच्च बलिदान दिया। गलवान घाटी में हुई इस हिंसक झड़प के बाद भारत और चीन के बीच तनाव चरम पर पहुंच गया था और संशस्‍त्र संघर्ष के बादल मंडराने लगे थे।

    संसदीय समिति ने नए IT नियमों को लेकर ट्विटर को भेजा समन, 18 जून को अधिकारी होंगे पेशसंसदीय समिति ने नए IT नियमों को लेकर ट्विटर को भेजा समन, 18 जून को अधिकारी होंगे पेश

    15 जून 2020 को भारत-चीन के सैनिकों के बीच हुई इस हिंसक घटना में तनाव इतना बढ़ गया था कि किसी भी तरफ से छोटी सी उकसावे की कार्रवाई भी एलएसी पर बड़े टकराव की शुरुआत कर सकती थी। 15 जून को चीनी सेना को खदेड़ते हुए भारतीय सैनिकों ने अद्म्य साहस का परिचय दिया। चीनी सैनिकों की संख्या ज्यादा थी, लेकिन 20 जवानों ने उन्हें मुंहतोड़ जवाब देते हुए देश के नाम अपना सर्वोच्च बलिदान दे दिया।

    English summary
    Fire & Fury Corps paid homage to martyrs of Galwan on the first anniversary of the violent clash
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X