• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

आत्मकथा लिखने पर डेढ साल से निलंबित केरल के DGP के खिलाफ FIR

|

नई दिल्ली। सर्विस रूल के उल्लंघ्न मामले में बीते डेढ़ साल के निलंबित चल रहे केरल के डीजीपी जैकब थॉमस अब नई मुसीबत में आ गए हैं। दरअसल उनके खिलाफ उनकी आत्मकथा 'श्रावुकालक्कोप्पम नींथुम्बोल' (स्विमिंग विद शार्क) को लेकर एफआईआर दर्ज कराई गई है। बता दें कि ये मामला मुख्य सचिव टोम जोस के निर्देश पर दर्ज कराया गया है।

fir against kerala dgp for writing auto biography

दरअसल एफआईआर में कहा गया है कि जैकब थॉमस ने इस किताब में कथित रूप से सरकारी गोपनीयता का खुलासा किया है। ये वो गोपनीय दस्तावेज उनके पास सतर्कता निदेशक के तौर पर जानकारी में आए थे। इस तरह इन चीजों को आत्मकथा में डालकर उन्होंने पुलिस बल से जुड़े कानून का उल्लंघ्न किया है।

थॉमस द्वारा कुल 240 पन्नों में लिखी गई किताब में 1985 बैच के आईपीएस थॉमस ने कई बड़े नेताओं पर निशान साधा है। इसमें पूर्व मुख्यमंत्री ओमान चांडी भी शामिल हैं। इसमें कहा गया कि कई विवादास्पद मामलों में जांच को प्रभावित किया गया। हालांकि जैकॉब का कहना है कि उन्हें ये सब लिखने के लिए किसी की इजाजत की जरूरत नहीं है क्योंकि किताब या फिर आत्मकथा लिखना साहित्य की श्रेणी में आता है।

पंडित जवाहर लाल नेहरू की Biography: जिन्होंने कहा था आराम हराम है...

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
fir against kerala dgp for writing auto biography
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X