• search

स्‍वरा भास्‍कर ने पद्मावत देखने के बाद भंसाली को लताड़ा कहा- वजाइना के बाहर भी एक जिंदगी है

By Ankur Kumar
Subscribe to Oneindia Hindi
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

    नई दिल्‍ली। अपनी अदाकारी के साथ-साथ अपने बयानों को लेकर भी सुर्खियों में रहने वाली एक्‍ट्रेस स्‍वरा भाष्‍कर फिर चर्चा में हैं। इस बार उनके निशाने पर हैं फिल्‍म पद्मावत के डायरेक्‍टर संजय लीला भंसाली। फिल्‍म देखने के बाद स्‍वरा भाष्‍कर ने संजय लीला भंसाली के नाम खुला खत लिखा है। इस खत में उन्‍होंने लिखा है कि 'अपने पूरे परिवार के साथ 'पद्मावत' देखने पहुंची थीं। फिल्म में मौजूद सभी किरदारों ने उनका दिल जीत लिया लेकिन पूरी फिल्म में उन्हें बस एक बात से बहुत तकलीफ हुई और वह है 'जौहर'।' स्वरा की भंसाली से नाराजगी इस बात को लेकर है जो उन्होंने फिल्म में महिलाओं को 'वजाइना' के तौर पर सीमित कर दिया है। स्‍वरा ने खत में लिखा है महिलाएं चलती-फिरती वजाइना नहीं हैं। विस्‍तार से पढि़ए

    महिलाओं को रेप का शिकार होने के अलावा जिंदा रहने का भी हक

    महिलाओं को रेप का शिकार होने के अलावा जिंदा रहने का भी हक

    स्‍वरा भास्‍कर ने संजय लीला भंसाली से सवाल पूछते हुए लिखा है सर, महिलाओं को रेप का शिकार होने के अलावा जिंदा रहने का भी हक है। आप पुरुष का मतलब जो भी समझते हों- पति, रक्षक, मालिक, महिलाओं की सेक्शुअलिटी तय करने वाले...उनकी मौत के बावजूद महिलाओं को जीवित रहने का हक है।' स्वरा ने अपना सुझाव रखते हुए खत में लिखा कि क्या जौहर के बिना पद्मावती की जिंदगी नहीं चल सकती थी। क्या कोई महिला किसी पुरुष के बिना असंपूर्ण है।

    फिल्‍म का एक सीन देखकर रोना आया

    फिल्‍म का एक सीन देखकर रोना आया

    स्वरा ने अपना दुख जाहिर करते हुए लिखा कि वैसे तो रानी पद्मावती के समय हालात कुछ और थे। उस समय सती प्रथा और जौहर जैसी प्रथाओं को बहुत उच्च माना जाता था लेकिन भंसाली जी से कुछ अलग देखने की ही अपेक्षा थी। फिल्म के क्लाइमैक्स सीन में जब चित्तौड़ की सभी महिलाएं रानी पद्मावती के साथ जौहर के लिए आगे बढ़ती नजर आती हैं तो उनमें एक प्रेग्नेंट महिला और एक छोटी बच्ची भी होती है। ऐसे सीन को देखकर किसी भी व्यक्ति को रोना आ जाएगा।

    महिलाए चलती-फिरती वजाइना नहीं है

    महिलाए चलती-फिरती वजाइना नहीं है

    स्‍वरा ने लिखा है 'महिलाएं चलती-फिरती वजाइना नहीं हैं। हां, महिलाओं के पास यह अंग होता है लेकिन उनके पास और भी बहुत कुछ है। इसलिए लोगों की पूरी जिंदगी वजाइना पर केंद्रित, इस पर नियंत्रण करते हुए, इसकी हिफाजत करते हुए, इसकी पवित्रता बरकरार रखते हुए नहीं बीतनी चाहिए।' वजाइना के बाहर भी एक जिंदगी है। बलात्कार के बाद भी एक जिंदगी है।

    भंसाली की फिल्‍म ऑनर किलिंग, सती प्रथा जैसी कुप्रथाओं को बढ़ावा देती हैं

    भंसाली की फिल्‍म ऑनर किलिंग, सती प्रथा जैसी कुप्रथाओं को बढ़ावा देती हैं

    अपने लेटर के माध्‍यम से स्‍वरा ने संजय लीला भंसाली पर आरोप लगाया है और लिखा है कि भंसाली की फिल्म ऑनर किलिंग, जौहर, सती प्रथा जैसी कुप्रथाओं का महिमामंडन करती है। स्वरा यह भी मानती हैं कि यह फिल्म ऐतिहासिक तथ्यों पर आधारित है लेकिन वह कहती हैं कि फिल्म की शुरुआत में सिर्फ सती और जौहर प्रथा के खिलाफ डिस्क्लेमर दिखाकर निंदा कर देने से कुछ नहीं होता। इसके आगे तो तीन घंटे तक राजपूती आन, बान और शान का महिमामंडन चलता है।

    स्‍वरा भास्‍कर का छोटा सा परिचय

    स्‍वरा भास्‍कर का छोटा सा परिचय

    स्वारा का जन्म 9 अप्रैल 1988 को दिल्ली में हुआ था। उनके पिता का नाम चित्रपु उदय भास्कर हैं, जोकि एक स्ट्रेटजिक एक्सपर्ट हैं। उनकी माँ का नाम इरा भास्कर है। जोकि एकजेएनयू में प्रोफेसर हैं। स्वरा शुरूआती पढ़ाई दिल्ली के सरदार पटेल विद्यालय से की है। स्वारा ने दिल्ली यूनिवर्सिटी से लिटरेचर में स्नातक किया है। उन्होंने जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी से सोसलॉजी में डिग्री हासिल की है। एक्टिंग में आने से पहले से स्वारा थिएटर में काम करती थीं। फिल्मों में अपनी किस्मत आजमाने के लिये स्वरा 2008 में मुंबई आ गयीं। स्वरा अनारकली ऑफ आरा, तनु वेड्स मनु, प्रेम रतन धन पाओ, निल बटे सन्नाटा जैसी फिल्मों से बॉलीवुड में अपनी अलग पहचान बना चुकी हैं।

    जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें - निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Actor Swara Bhaskar, who is known for being outspoken about her thoughts and has constantly portrayed characters with great strength, has called out director Sanjay Leela Bhansali for glorifying Sati and Jauhar in his film Padmaavat, in an open letter.

    Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
    पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.

    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Oneindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Oneindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more