• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

फारूख अब्दुल्ला ने चुनाव आयुक्त ने लिखा पत्र, 'सुरक्षा के नाम पर प्रत्याशियों को रोका जा रहा'

|

श्रीनगर। जम्मू कश्मीर में गुपकार गठबंधन ने चुनाव आयुक्त केके शर्मा को पत्र लिखा है जिसमें शिकायत की गई है कि जिला विकास परिषद (डीडीसी) चुनाव में गठबंधन के प्रत्याशियों को सुरक्षा के नाम पर रोका जा रहा है। पत्र में कहा गया है कि प्रजातांत्रिक प्रक्रिया में हस्तक्षेप के लिए सुरक्षा को बहाना नहीं बनाना चाहिए।

Farooq Abdulla

जम्मू कश्मीर की 7 प्रमुख पार्टियों ने मिलकर पीपल्स अलायंस फॉर गुपकार डिक्लेरेशन (PGAD) नाम का गठबंधन बनाया है। नेशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष फारुख अब्दुल्ला इस गठबंधन का प्रमुख बनाया है। राज्य में होने वाले डीडीसी चुनाव में 7 पार्टियों का ये गठबंधन एकजुट होकर चुनाव लड़ रहा है। डीडीसी चुनाव इसी महीने के आखिर में शुरू हो रहे हैं।

शनिवार को गठबंधन के प्रमुख फारुख अब्दुल्ला ने जम्मू कश्मीर के हाल ही में नियुक्त हुए चुनाव आयुक्त केके शर्मा को पत्र लिखा है। पत्र में कहा गया है कि डीडीसी चुनाव को देखते हुए एक विशेष परिस्थिति सामने आई है। गुपकार गठबंधन की तरफ से जो उम्मीदवार खड़े किए गए हैं। उन्हें सुरक्षा के नाम पर सुरक्षित स्थान पर ले जाकर बैठा दिया गया है और उन्हें वहां से आने नहीं दिया जा रहा है। उन्हें प्रचार नहीं करने दिया जा रहा। उम्मीदवार उन लोगों से संपर्क नहीं कर पा रहे हैं जिनका उन्हें वोट लेना है।

सुरक्षा के नाम पर भेदभाव

पत्र में आगे उन्होंने लिखा कि हमारी पार्टियां (गुपकार गठबंधन में शामिल) पहले सत्ता में रह चुकी हैं और हमें सरकार चलाने का अनुभव है। हम इस बात को समझते हैं कि सुरक्षा को लेकर चुनौतियां हैं लेकिन ये चुनौतियां नहीं हैं बल्कि पिछले तीन दशक से इसका दर्द सह रहे हैं। इसके लिए सरकार सभी उम्मीदवारों को सुरक्षा मुहैया कराती थी भले ही वह किसी भी विचारधारा से हों। लेकिन वर्तमान शासन में ये देखा गया है कि सुरक्षा में भेदभाव किया जा रहा है। कुछ लोगों को सुरक्षा दी जा रही है जबकि कुछ को सुरक्षा के नाम पर रोका जा रहा है। ये ऐसा लगता है कि उम्मीदवारों की सुरक्षा से ज्यादा लोकतांत्रिक प्रक्रिया में हस्तक्षेप नजर आ रहा है।

जम्मू कश्मीर में लोकतंत्र बहुत ही कमजोर अवस्था में है। सरकारें आती-जाती हैं। किसी भी सरकार के पास ये हक नहीं है कि वह जम्मू-कश्मीर में लोकतंत्र की संस्था की नींव को कमजोर करे जिसे हजारों राजनीतिक कार्यकर्ताओं ने अपनी जान देकर तैयार किया है।

जिसे 'गुपकार गैंग' बता रहे शाह, लद्दाख में उसी नेशनल कॉन्फ्रेंस के साथ BJP ले रही सत्ता सुख

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
farooq abdullah wrote letter to jammu kashmir election commissioner kk sharma
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X