• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

किसान आंदोलन: टिकरी रेप केस पर राकेश टिकैत ने तोड़ी चुप्पी, कहा- बीकेयू पीड़ित परिवार के साथ खड़ा

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली, 13 जून: केंद्रीय कृषि कानून के विरोध में किसानों का धरना पिछले 7 महीने से जारी है। इस बीच किसान संगठनों ने 26 जून को देशभर में राजभवन के बाहर प्रदर्शन किया जाएगा। इस बीच भारतीय किसान यूनियन (बीकेयू) के नेता राकेश टिकैत ने कथित टिकरी बलात्कार मामले पर अपनी चुप्पी तोड़ते हुए कहा कि बीकेयू पीड़िता के परिवार के साथ खड़ा है और कानून के तहत इस मामले में कार्रवाई की जानी चाहिए।

    Tikri Rape Case: Rakesh Tikait बोले- पीड़ित परिवार के साथ है Bharatiya Kisan Union | वनइंडिया हिंदी

    Rakesh Tikait

    न्यूज एजेंसी एएनआई से बात करते हुए किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि जिसने अपराध किया है, उसे कानून द्वारा दंडित किया जाएगा। बीकेयू महिला स्वयंसेवकों की सुरक्षा के लिए हमेशा मौजूद है। इस तरह की किसी भी घटना से बचने के लिए हमने पुरुषों और महिलाओं के लिए अलग-अलग बैरिकेडिंग रखी है, यहां तक के कैंप भी अलग हैं, वॉशरूम भी पूरी तरह से अलग बनाए हुए हैं। ऐसी घटनाएं कहीं पर भी नहीं होनी चाहिए। हमारी महिलाएं बहनें हैं अगर कोई महिला हमसे कहती है कि उन्हें कोई समस्या है तो हम उस पर संज्ञान लेते हैं।

    इसके साथ ही उन्होंने कहा कि इस घटना के बाद हमने चेकिंग बढ़ा दी है, हम सब ट्रैक कर रहे हैं कि कौन कहां से आया है, हमने पुलिस से कहा है कि अगर उन्हें कोई संदिग्ध व्यक्ति मिलता है, तो पुलिस उन्हें यहां से हटा सकती है। टिकैत ने आगे बताया कि हमने पीड़िता के पिता से मुलाकात की है, हमने उनसे कहा है कि संयुक्त मोर्चा उनके साथ खड़ा है और लड़की ने जो कुछ भी बताया है, उसके आधार पर उन्हें शिकायत दर्ज करनी चाहिए।

    ममता बनर्जी से मिलने पर राकेश टिकैत बोले- क्या मैं अफगानिस्तान के राष्ट्रपति से मिला जो परमिशन लेता?ममता बनर्जी से मिलने पर राकेश टिकैत बोले- क्या मैं अफगानिस्तान के राष्ट्रपति से मिला जो परमिशन लेता?

    पुलिस की पिटाई पर टिकैत की सफाई

    वहीं 10 जून को दिल्ली पुलिस की स्पेशल ब्रांच के दो असिस्टेंट सब-इंस्पेक्टर के सिंघु बॉर्डर पर प्रदर्शन स्थल की तस्वीरें खींचने के बाद प्रदर्शन कर रहे किसानों के एक समूह ने उन पर कथित रूप से हमला किया था, जिसको लेकर नरेला पुलिस स्टेशन में FIR दर्ज की गई है। अब इस पूरे मामले में राकेश टिकैत ने सफाई देते हुए बताया कि वो(पुलिसकर्मी) सिविल ड्रेस में होंगे, उनको लगा होगा​ कि चैनल के लोग हैं और हमें गलत तरह से दिखाते हैं। हमारे लोग मारपीट नहीं करते। पुलिस और सरकार तो चाहती है कि हम किसानों के साथ पंगेबाजी करें। इतने दिनों से अगर पुलिस वाले वहां आ रहे हैं तो आपस में संपर्क होना चाहिए, वे गलत तरीके से फोटो दिखा रहे होंगे, यही कारण हो सकता है।

    English summary
    farmers protest BKU leader Rakesh Tikait statement on Tikri rape case
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X