• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

राहत इंदौरी के निधन पर रो पड़े कुमार विश्वास, कहा- एक जिंदादिल हमसफर हाथ छुड़ा कर चला गया

|

नई दिल्‍ली। मशहूर शायर राहत इंदौरी का दिल का दौरा पड़ने की वजह निधन हो गया है। आज सुबह ही कोरोना संक्रमित होने के बाद उन्‍हें इंदौर के अस्‍पताल में भर्ती कराया गया था। उन्‍होंने खुद ट्वीट कर कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि की थी। डॉक्टर के मुताबिक, राहत इंदौरी को लगातार तीन हार्ट अटैक आए थे। राहत इंदौरी के निधन से पूरे देश में शोक की लहर है। हिंदी के जानेमाने कवि कुमार विश्‍वास ने राहत के निधन पर शोक व्‍यक्‍त किया है।

    Rahat Indori Passed Away: Kumar Vishwas बोले-एक जिंदादिल हमसफर हाथ छुड़ा कर चला गया | वनइंडिया हिंदी
    कुमार विश्‍वास ने जताया शोक

    कुमार विश्‍वास ने जताया शोक

    कुमार विश्‍वास ने ट्वीट कर कहा- हे ईश्वर ! बेहद दुखद ! इतनी बेबाक़ ज़िंदगी और ऐसा तरंगित शब्द-सागर इतनी ख़ामोशी से विदा होगा,कभी नहीं सोचा था! शायरी के मेरे सफ़र और काव्य-जीवन के ठहाकेदार क़िस्सों का एक बेहद ज़िंदादिल हमसफ़र हाथ छुड़ा कर चला गया। आपको बता दें कि इससे पहले कोरोना पॉजिटिव होने पर कुमार विश्‍वास ने राहत इंदौरी के लिए ट्वीट किया था। उन्‍होंने लिखा था कि ग़लत आदमी से भिड़ गया है कोरोना इस बार ( बाक़ी साइलेंट है) ! जल्दी ठीक हो जाइए राहत भाई ! हज़ारों रातें लुटा कर कमाई करोड़ों दुआएँ, मेरी तरह आपको जल्दी ही आसमान से मुख़ातिब होकर शेर सुनाते हुए देखने के लिए हमा तन गोश हैं।

    आम आदमी पार्टी की तरफ से प्रकट किया गया शोक

    राहत इंदौरी के निधन पर आम आदमी पार्टी के तरफ से भी शोक व्‍यक्‍त किया गया। पार्टी ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से ट्वीट किया। इसमें उनकी शायरी से उन्‍हें श्रद्धांजली दी गई। ट्वीट में लिखा गया: मैं मर जाऊं तो मेरी एक अलग पहचान लिख देना, लहू से मेरी पेशानी पे हिन्दुस्तान लिख देना।

    राहत इंदौरी के बेटे ने बतायी क्‍या हुआ था

    राहत इंदौरी के बेटे और युवा शायर सतलज राहत ने बताया था कि पिता चार महीने से सिर्फ नियमित जांच के लिए ही घर से बाहर निकलते थे। उन्हें चार-पांच दिन से बेचैनी हो रही थी। डॉक्टरों की सलाह पर एक्सरे कराया गया तो निमोनिया की पुष्टि हुई थी। इसके बाद सैंपल जांच के लिए भेजे गए, जिसमें वे संक्रमित पाए गए। राहत को दिल की बीमारी और डायबिटीज थी। उनके डॉक्टर रवि डोसी ने बताया था कि उन्हें दोनों फेफड़ों में निमोनिया था। सांस लेने में तकलीफ के चलते आईसीयू में रखा गया था।

    मुन्नाभाई एमबीबीएस और मर्डर जैसी फिल्मों में गीत लिखे

    मुन्नाभाई एमबीबीएस और मर्डर जैसी फिल्मों में गीत लिखे

    राहत इंदौरी का जन्म 1 जनवरी 1950 को मध्य प्रदेश के इंदौर में हुआ था। उन्होंने बरकतुल्लाह यूनिवर्सिटी से उर्दू में एमए किया था। भोज यूनिवर्सिटी ने उन्हें उर्दू साहित्य में पीएचडी से नवाजा था। राहत ने मुन्ना भाई एमबीबीएस, मीनाक्षी, खुद्दार, नाराज, मर्डर, मिशन कश्मीर, करीब, बेगम जान, घातक, इश्क, जानम, सर, आशियां और मैं तेरा आशिक जैसी फिल्मों में गीत लिखे।

    बहादुरी को सलाम: डूबते लड़कों को बचाने के लिए इन महिलाओं ने उतारी साड़ी और मदद के लिए फेंकीबहादुरी को सलाम: डूबते लड़कों को बचाने के लिए इन महिलाओं ने उतारी साड़ी और मदद के लिए फेंकी

    English summary
    Famous Shayar Rahat Indori passes away, Poet Kumar Vishwas pays tribute.
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X