रेप के आरोपी फलाहारी बाबा की जमानत अर्जी को अलवर कोर्ट ने किया खारिज

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। छत्तीसगढ़ की युवती से बलात्कार के आरोपी फलाहारी बाबा उर्फ संत कौशलेंद्र महाराज की जमानत अर्जी को अलवर कोर्ट ने खारिज कर दिया है। फलाहारी बाबा ने कोर्ट से जमानत देने की अपील की थी, जिसे गुरुवार को खारिज कर दिया गया। दुष्कर्म के आरोपी अलवर के फलाहारी बाबा को राजस्थान पुलिस ने 23 सितंबर तड़के गिफ्तार किया था। गिरफ्तारी के बाद अलवर कोर्ट ने पूछताछ के लिए फलाहारी बाबा को 15 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया।

Falahari Baba Bail plea rejected by Alwar court Rajasthan

छत्तीसगढ़ के बिलासपुर जिले की रहने वाली एक युवती ने फलाहारी बाबा के खिलाफ रेप की कोशिश का केस दर्ज कराया है। रेप के आरोप लगने के बाद फलाहारी महाराज खुद को बीमार बताकर एक निजी अस्पताल में भर्ती करा लिया 22 सितंबर को को अस्पताल ने बाबा की सेहत को ठीक बताया तो पुलिस ने अस्पताल से ही बाबा को गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तारी के बाद फलाहारी ने खुद के नपुंसक और रेप करने में असमर्थ होने की बात कही थी। इसके बाद पुलिस मेडिकल टेस्ट के लिए बाबा को सरकारी अस्पताल लेकर गई है। वहां पर डाक्टरों की पांच सदस्यी टीम ने फलाहारी बाबा का मेडिकल टेस्ट किया तो उसके नपुंसक होने दावा गलत साबित हुआ।

ये है मामला
पीड़ित युवती के मुताबिक फलाहारी बाबा ने 7 अगस्त को उसके साथ रेप की कोशिश की थी। पीड़िता के परिजन इस बाबा के शिष्य हैं। यह युवती जयपुर में रह कर कानून की पढ़ाई कर रही थी। बाबा की सिफारिश पर सुप्रीम कोर्ट के एक वकील के यहां उसने अपनी इंटर्नशिप करने का मौका मिला था। इंटर्नशिप पूरी करने के बाद उसे 3 हजार रुपए का मानदेय मिला था। घरवालों ने सलाह दी कि वह 3 हजार रुपए के उस चैक को बाबा के आश्रम को दान कर दे। इसीलिए वह अलवर आई थी। रक्षाबंधन का दिन होने की वजह से फलहारी बाबा ने उसे आश्रम में ही रुकने के निर्देश दिए। उससे कहा कि रात में उसे गुप्त दिव्य मंत्र दिया जाएगा। इतना ही नहीं उसे हाई कोर्ट का जज बनाने का प्रलोभन भी दिया। इसके बाद रात को उससे रेप की कोशिश की गई।

फलाहारी बाबा रामानुज संप्रदाय का साधु माना जाता हैं। अलवर में बाबा का वेंकटेश दिव्य बालाजी धाम आश्रम है, जहां हर दिन भक्तों की भीड़ रहती है। फलाहारी बाबा अलवर में गोशाला और संस्कृत का स्कूल भी चलाते हैं। बाबा के रिश्ते कई राजनीतिक दलों से भी बताए जाते हैं और उन्हें भाजपा का करीबी माना जाता है। हाल ही बाबा की मध्यप्रदेश के सीएम शिवराज सिंह और गृह मंत्री राजनाथ सिंह के साथ फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हुई हैं। यहीं नहीं राजस्थान की सीएम वसुंधरा राजे भी इनके आश्रम आ चुकी हैं।
जानिए कौन है फलाहारी बाबा, जीभ पर शहद से लिखा ॐ कहा इसे चाटो

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Falahari Baba Bail plea rejected by Alwar court Rajasthan

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.