बिना लॉ डिग्री के ही 21 सालों तक मजिस्ट्रेट बना रहा ये शख्स, ऐसे खुली पोल

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

चेन्नई। तमिलनाडु का एक शख्स बिना कानून की पढ़ाई किए ही 21 सालों तक मजिस्ट्रेट बना रहा। शख्स ने 21 साल तक जुडिशियल मजिस्ट्रेट के पद बना रहा और किसी को इस बात की भनक तक नहीं लगी। मामला मदुरै के पूर्व मजिस्ट्रेट पी नटराजन का है, जो इत ने लंबे वक्त तक अपने पद पर बने रहे, लेकिन किसी को भन क तक नहीं लगी, लेकिन उनकी पोल उस वक्त खुल गई जब सुप्रीम कोर्ट ने उनकी डिग्री की शिनाख्त करने आदेश दिए। डिग्री की जांच के बाद लोग हैरान रह गए। बार काउंसिल ऑफ तमिलनाडु ने नटराजन के खिलाफ जांच के आदेश दे दिए हैं।

 Fake lawyer serves as ‘magistrate’ for 21 years

आपको जानकर हैरानी होगी की आ रोपी मजिस्ट्रेट ने वकील के तौर पर अपनी प्रैक्टिस शुरू की और मजिस्ट्रेट बन गए। अब बाक काउंसिल उनकी वकालत के पंजीकरण को रद्द करने की बात कर रहा है। इसके लिए उनके खिलाफ नोटिस जारी की गई है। उनसे जवाब मांगा जा रहा है। वहीं नटराजन का कहना है कि उन्होंने 21 सालों तक न्यायिक सेवा दी है इसलिए उनके खिलाफ इस तरह का एक्शन न लिया जाए। उन्होंने अपनी सफाई में कहा कि वो मैसूर यूनिवर्सिटी से जुड़े सारदा लॉ कॉलेज से 1975 से 1978 के बीच बैचलर ऑफ जनरल लॉ की डिग्री ली थी। लेकिन अब उनकी डिग्री को लेकर सवाल उठ रहे हैं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
The authorities at the Bar Council of Tamil Nadu and Puducherry are yet to get over the shock of finding that a man managed to served the Tamil Nadu judicial service as a magistrate for more than 21 years without any recognised law degree.
Please Wait while comments are loading...

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.