• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

महज 3 दिन में CM पद से इस्तीफे के लिए मजबूर हुए फडणवीस बोले, 'हम महाराष्ट्र CM की कुर्सी नज़र गड़ाए नहीं बैठे हैं'

|

नई दिल्ली। महाराष्ट्र में एनसीपी नेता और महाराष्ट्र के डिप्टी मुख्यमंत्री अजित पवार के साथ मिलकर सरकार बनाकर पूरी पार्टी के लिए फजीहत का कारण बन चुके पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने बुधवार को कहा है कि वो महाराष्ट्र में सत्ता परिवर्तन अथवा सरकार बनाने की ओर नज़र गड़ाए नहीं बैठे है। बता दें, नवंबर, 2019 में देवेंद्र फडणवीस को अजीत पवार के पलटने के बाद शपथ लेने के महज तीसरे दिन मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा था।

Devendra

जम्मू-कश्मीर में पीपुल्स एलायंस के साथ मिलकर डीडीसी चुनाव में उतरेगी कांग्रेस

बकौल देवेंद्र फडणवीस, महाराष्ट्र में उद्ध ठाकरे नेतृत्व में चल रही महा विकास अघाड़ी सरकार एक दिन खुद-ब-खुद चरमराकर गिर जाएगी, उसके बाद बीजेपी महाराष्ट्र को वैकल्पिक सरकार देगी। जहां तक महाराष्ट्र में सत्ता परिवर्तन का सवाल है, हम उसकी ओर नजर गड़ाए नहीं बैठे हैं। ये जो सरकार महाराष्ट्र में है, ये अपने बोझ से एक दिन चरमारएगी, क्योंकि ऐसी सरकारें चलती नहीं, जिस दिन चरमाराएगी, उस दिन हम वैकल्पिक सरकार देंगे।

आखिरकार पाकिस्तान ने कबूल ही लिया कि...26/11 मुंबई हमले में शामिल थे 11 लश्कर आंतकीआखिरकार पाकिस्तान ने कबूल ही लिया कि...26/11 मुंबई हमले में शामिल थे 11 लश्कर आंतकी

Devendra

गौरतलब है महाराष्ट्र में भाजपी और शिवसेना ने एनडीए के बैनर तले महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव लड़ा था, लेकिन मुख्यमंत्री पद को लेकर दोनों दलों में मतभेद ने दोनों के रास्ते अलग कर दिए। इसके बाद चली लंबे समय तक चली उठापटक के बाद शिवसेना ने चुनाव में तीसरे और चौथे नंबर पर आई पार्टी क्रमशः एनसीपी और कांग्रेस के साथ मिलकर महाराष्ट्र में सरकार का गठन किया था। शिवसेना चीफ उद्धव ठाकरे के नेतृत्व में गठित महा विकास अघाड़ी सरकार को अभी एक वर्ष अधिक हो चुके हैं, लेकिन कई बार पटरी से गिरती नजर आई है।

उद्धव के बयान पर पवार ने ली चुटकी, कहा- 30 साल से देख रहे विधान भवन पर भगवा फहराने का सपनाउद्धव के बयान पर पवार ने ली चुटकी, कहा- 30 साल से देख रहे विधान भवन पर भगवा फहराने का सपना

Devendra

फिलहाल, महाराष्ट्र में विपक्ष में बैठी बीजेपी लगातार शिवसेना और उसकी धुर विरोधी विचारधारा वाली पार्टी कांग्रेस और एनसीपी के गिरने की आस में बैठी है। हालांकि ऐसे कई मौके आए जब महाराष्ट्र में सत्तासीन महा विकास अघाड़ी सरकार संकट में आ गई थी। भाजपा का मानना है कि यह सरकार अलग-अलग विचारधारा वाले लोगों के गठबंधन से हैं, जो ज्यादा दिन तक नहीं चलने वाली है। कहने का मतलब है कि महाराष्ट्र रूपी पेड़ लगे फल के गिरने का इंतजार कर रही है और अब देखना यह है कि उसके हाथ फल लगेगा या लबादा।

Video: मुंबई की सड़कों पर फ्रांस के राष्ट्रपति का पोस्टर, संबित पात्रा ने CM उद्धव से पूछा- आपके राज में ये क्या हो रहा है?Video: मुंबई की सड़कों पर फ्रांस के राष्ट्रपति का पोस्टर, संबित पात्रा ने CM उद्धव से पूछा- आपके राज में ये क्या हो रहा है?

English summary
Former Chief Minister Devendra Fadnavis, who had created trouble for the entire party by forming a government in Maharashtra along with NCP leader and Maharashtra Deputy Chief Minister Ajit Pawar, has said on Wednesday that he is not eyeing to form a regime change or government in Maharashtra . Let me tell you, in November, 2019, Devendra Fadnavis had to resign as Chief Minister on the third day after taking oath after the reversal of Ajit Pawar.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X