• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Big stumble: फिल्म 'शुभ मंगल ज्यादा सावधान' को इसलिए नहीं मिले ज्यादा दर्शक?

|

बेंगलुरू। भारतीय सिनेमा में हमेशा से होमोसेक्सुआलिटी विषय पर फिल्में बनती रही हैं। अभी हाल में रिलीज हुई आयुष्मान खुराना स्टारर फिल्म शुभ मंगल ज्यादा सावधान को कॉमेडी की चाशनी में डूबोकर पेश की गई, लेकिन आयुष्मान खुराना की दूसरी फिल्मों की तरह यह फिल्म बॉक्स ऑफिस पर वैसी सफलता नहीं दोहरा सकी।

film

21 फरवरी को रिलीज हुई फिल्म शुभ मंगल ज्यादा सावधान वर्ष 2017 में रिलीज हुई फिल्म शुभ मंगल सावधान की अगली कड़ी थी, जिसका विषय भी बोल्ड था। शुभ मंगल सावधान को दर्शकों का प्यार इसलिए मिल सका, क्योंकि फिल्म पांरपरिक सेक्सुअल डिस्आर्डर पर फोक्सड थी, लेकिन नई रिलीज फिल्म शुभ मंगल ज्यादा सावधान गे यानी होमोसेक्सुआलिटी पर बेस़्ड थी।

जब पैसे जुटाने के लिए ट्रेन में गाना गाते थे बॉलीवुड एक्टर आयुष्मान खुराना

film

फिल्म शुभ मंगल ज्यादा सावधान को वींकेड पर ही दर्शकों का प्यार मिला, क्योंकि बहुसंख्यक दर्शक वर्ग फिल्म को कॉमेडी की वजह से देखने गए, क्योंकि लोगों को जरा भी अंदेशा नहीं था कि फिल्म पूरी तरह होमोसेक्सुआलिटी पर बेस्ड थी और होमोसेक्सुआलिटी को सामाजिक मान्यता दिलाने की कोशिश कर रही है।

film

यही वजह थी कि फिल्म को शुरूआती तीन यानी वीकेंड पर जो दर्शक थियेटर पहुंचे, वो दोबारा न खुद पहुंचे और न ही परिवार और गर्लफ्रेंड को ही लेकर थियेटर पहुंचे। इसकी तस्दीक फिल्म शुभ मंगल ज्यादा सावधान की शुरूआती तीन दिन के बॉक्स ऑफिस कलेक्शन करती हैं।

film

पूरे भारत में करीब 2500 स्क्रीन पर 21 फरवरी को रिलीज हुई फिल्म शुभ मंगल ज्यादा सावधान की पहले दिन की कमाई थी 9.55 करोड़ रुपए और दूसरे दिन यानी शनिवार को उसकी कमाई बढ़कर 11.08 करोड़ रुपए हो गई और रविवार यानी 23 फरवरी उसकी कमाई 12.03 करोड़ रुपए पहुंच गई। वीकेंड पर शुभ मंगल सावधान की कुल कमाई थी करीब 33 करोड़ रुपए थी।

film

शुभ मंगल ज्यादा सावधान को वीकेंड में हुई 33 करोड़ की कमाई में ज्यादा योगदान एडवांस बुंकिंग की थी। क्योंकि अगर फिल्म लोगों के टेस्ट की होती तो उसके अगले दिन भी कमाई का यह सिलसिला बॉक्स ऑफिस पर चलता। कुछ नहीं तो नॉन वीकेंड पर कमाई आधी हो जाती, लेकिन हुआ उसका उल्टा।

Chhapaak: इन 7 वजहों से 7वें आसमान पर पहुंचने में नाकाम रह गई फिल्म छपाक!

film

फिल्म शुभ मंगल ज्यादा सावधान की कमाई सोमवार यानी 24 फरवरी को धड़ाम हो गई। फिल्म शुभ मंगल ज्यादा सावधान की सोमवार की कमाई गिरकर तिहाई रह गई। फिल्म ने सोमवार को महज 3.87 करोड़ कमाए और यह सिलसिला अगले 10 दिनों तक चलता रहा है।

डे वाइज विश्लेषण करेंगे तो पाएंगे कि फिल्म के विषय को लेकर दर्शकों ने नाक-मुंह सिकोड़ लिए थे। फिल्म शुभ मंगल ज्यादा सावधान देखकर थियेटर से लौटे न खुद दोबारा गए और न ही दूसरों इसके बारे में बताया। यही वजह थी कि फिल्म बॉक्स ऑफिस में कमाई नहीं कर पाई।

film

सोमवार यानी 24 फरवरी को फिल्म महज 3.87 करोड़ रुपए की कमाई कर पाई। अगले दिन 25 फरवरी को भी फिल्म की कमाई और गिर गई और महज 3.07 करोड़ ही कमा पाई। उसके अगले दिन यानी 26 फरवरी को फिल्म की कमाई गर्त में जाती दिखी। क्रमश 26 और 27 फरवरी को फिल्म की कमाई 2.62 करोड़ पर अटक कर रह गई थी।

film

इस तरह शुभ मंगल सावधान अपने बोल्ड और गैंर पारंपरिक सेक्सुआलिटी विषय के कारण दर्शकों की थियेटर तक खींचने में नाकाम रही। फिल्म 28 फरवरी यानी एक सप्ताह में गिरत-पड़ते 44.84 करोड़ के आंकड़े तक पहुंची। एक हफ्ते बाद भी फिल्म शुभ मंगल सावधान अपनी लागत नहीं वसूल पाई थी।

film

उल्लेखनीय है करीब 50 करोड़ की लागत में निर्मित फिल्म शुभ मंगल ज्यादा सावधान नवोदित निर्देशक हितेश केवल्या के निर्देशन में बनी थी। फिल्म में आयुष्मान खुराना के अलावा वेबसीरीज के शाहरूख कहे जाने वाले जीतेंद्र कुमार मुख्य आकर्षण थे, जिन्होंने फिल्म के नायक आयुष्मान खुराना के होमासेक्सुल पार्टनर का रोल निभाया था।

चूंकि फिल्म होमोसेक्सुआलिटी पर बेस्ड थी, तो फिल्म में नायिका की गुंजाइश नहीं थी, इसलिए कोई भी लीडिंग अभिनेत्री को न कॉस्ट किया जा सका और संभवतः कोई लीडिंग अभिनेत्री आयुष्मान के पार्टनर जीतेंद्र कुमार को मिल भी सकती थी।

film

फिल्म शुभ मंगल सावधान की दुर्गित बॉक्स ऑफिस पर दूसरे वीकेंड पर भी कायम रही। फिल्म का शुक्रवार यानी 28 फरवरी की कमाई गिरकर 2.08 करोड़ रह गई, लेकिन शनिवार और रविवार को फिल्म छुट्टी का दिन होने के वजह से थोड़ी कमाई बढ़ गई और फिल्म ने 28 और 29 फरवरी को क्रमशः 3.25 और 4.06 करोड़ रुपए की कमाई करने में सफल हुई।

लेकिन दूसरे सोमवार यानी रिलीज के 11वें दिन फिर औंधे में मुंह गिर गई और उसके दूसरे दिन की कमाई 1.5 करोड़ रुपए पर आ गई। कमोबेश यही हाल फिल्म का मंगलवार को तय माना जा रहा है और पूरी आशंका है कि फिल्म की लाइफ टाइम इंडिनन बॉक्स ऑफिस कलेक्शन 55.73 करोड़ से बढ़कर हद से हद 60 करोड़ जा सकती है।

film

इसलिए कहा जा सकता है कि अगर फिल्म शुभ मंगल ज्यादा सावधान के साथ टैग लाइन रोमांटिक कॉमेडी नहीं लगा होता तो यह फिल्म थियेटर दर्शकों का मोहताज हो जाता। 11वें दिन तक फिल्म 55.73 करोड़ इसलिए कमा सकी, क्योंकि आयुष्मान खुराना की पिछले 7 फिल्मों को दर्शकों ने खूब इंज्वॉय किया था।

आयुषमान खुराना ने पिछली रिलीज फिल्म बाला और ड्रीम गर्ल में भी एक गंजे और ट्रांसजेंडर की भूमिका निभाई थी। हालांकि फिल्म शुभ मंगल ज्यादा सावधान में आयुष्मान खुराना ने अपनी अन्य फिल्मों की तरह खूब मेहनत किया था, लेकिन फिल्म के विषय-वस्तु ने फिल्म की दुर्गति तक पहुंचाने में पूरा योगदान किया।

रियलिटी शो बिग बॉस 13 का सबसे बड़ा गेमर निकला आबरा का डाबरा पारस छाबड़ा!

करण जौहर की फिल्म कपूर एंड संस में गे कैरेक्टर को दिखाय गया

करण जौहर की फिल्म कपूर एंड संस में गे कैरेक्टर को दिखाय गया

वर्ष 2016 में आई फिल्म कपूर एंड सन्स एक फैमिली ड्रामा थी, जिसमें फवाद खान परिवार के सबसे बड़े बेटे बने हैं जो गे हैं। फिल्म में रूढ़ीवाद न दिखाते हुए उसके जीवन की सच्चाई को दिखाया गया है। फिल्म में दिखाया गया है कि गे होना कोई अपराध नहीं है।

 मनोज वाजपेयी की फिल्म अलीगढ़ ने काफी सुर्खियां बटोरी थीं

मनोज वाजपेयी की फिल्म अलीगढ़ ने काफी सुर्खियां बटोरी थीं

वर्ष 2016 में मनोज वाजपेयी की फिल्म अलीगढ़ ने काफी सुर्खियां बटोरी थीं। यह एक सच्ची घटना पर आधारित फिल्म थी। ये अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के एक गे प्रोफेसर राम चंद्र सिरस की कहानी है, जिनके एक लड़के के साथ यौन संबंधों का वीडियो वायरल हो गया था। हंसल मेहता ने बेहद खूबसूरती के साथ इस फिल्म को बनाया है. फिल्म में बताया गया है कि कैसे रूढ़ीवादी लोग लोगों के जीवन पर नकारात्मक असर करते हैं कि लोग अपनी जान तक ले लेते हैं।

सोनाली बोस निर्देशित फिल्म मार्गरेटा विद स्ट्रा भी ऐसी थी एक फिल्म

सोनाली बोस निर्देशित फिल्म मार्गरेटा विद स्ट्रा भी ऐसी थी एक फिल्म

वर्ष 2015 की यह बेहद खूबसूरत फिल्म में कल्की कोचलिन सेरीब्रल पाल्सी से पीड़ित हैं। ये उनके और उनकी नेत्रहीन दोस्त के बीच के समलैंगिक रिश्तों पर आधारित फिल्म है। फिल्म में विकलांगों की यौन जरूरतों और समाज में उसके प्रति नकारात्मक रवैये को दिखाया गया है। ये देखने लायक फिल्म है।

फिल्म Bombay Talkies की एक कहानी एक गे कपल पर फोकस्ड थी

फिल्म Bombay Talkies की एक कहानी एक गे कपल पर फोकस्ड थी

2013 में आई Bombay Talkies में भी 4 कहानियां थीं. जिसे करण जौहर, अनुराग कश्यप, जोया अख्तर और दिबाकर बनर्जी ने निर्देशित किया था। एक कहानी एक गे कपल पर फोकस्ड थी, जिसे रणदीप हुडा और सकीब सलीम ने निभाया था। इन दोनों का लिप लॉक सीन बेहद चर्चित रहा था।

समलैंगिक रिश्तों पर बनी पहली फिल्म I Am को मिला नेशनल एवॉर्ड!

समलैंगिक रिश्तों पर बनी पहली फिल्म I Am को मिला नेशनल एवॉर्ड!

My Brother Nikhil के बाद ओनीर ने 2010 में फिल्म I Am बनाई. ये समलैंगिक रिश्तों पर बनी पहली फिल्म थी, जिसे राष्ट्रीय पुरस्कार दिया गया। कहा जा सकता है इस फिल्म के बाद लोगों ने समलैंगिक रिश्तों के प्रति अपना नजरिया बदलना शुरू किया। फिल्म में चार कहानियां थीं जो देखने लायक हैं।

फिल्म माई ब्रदर निखिल भी समलैंगिक रिश्तों पर पर बेस्ड थी

फिल्म माई ब्रदर निखिल भी समलैंगिक रिश्तों पर पर बेस्ड थी

वर्ष 2005 में निर्देशक ओनीर के निर्देशन में बनी थी फिल्म My Brother Nikhil जिसमें समलैंगिकता और HIV को बहुत ही परिपक्वता और भावनात्मक तरीके से फिल्माया गया था। फिल्म में जूही चावला और संजय सूरी मुख्य भूमिकाओं में थे।

अमोल पालेकर की दायरा महिला किरदार निभाने वाले एक्टर की है कहानी

अमोल पालेकर की दायरा महिला किरदार निभाने वाले एक्टर की है कहानी

वर्ष 1997 में ही अमोल पालेकर के निर्देशन में बनी फिल्म दायरा (The Square Circle) बनी थी। इस फिल्म की कहानी भी एकदम अलग थी। ये एक थिएटर एक्टर और गांव की एक लड़की के जीवन संघर्ष को दिखाती है। थिएटर एक्टर जो महिला किरदार निभाता था और लड़की जिसे पुरुष बनने पर मजबूर थी। क्रॉस ड्रेसिंग के प्रति समाज किस तरह सोचता है ये सब आप इस फिल्म में देख सकते हैं। फिल्म में मुख्य भूमिकाएं निभाई थीं निर्मल पांडे और सोनाली कुलकर्णी ने.

निर्देशिका कल्पना लाजिमी ने दरमियां में दिखाया गया ट्रांसजेंडर का दर्द

निर्देशिका कल्पना लाजिमी ने दरमियां में दिखाया गया ट्रांसजेंडर का दर्द

वर्ष 1997 में कल्पना लाजिमी ने दरमियां- in between बनाई थी। ये फिल्म एक फिल्म एक्ट्रेस और उसके किन्नर बेटे की कहानी थी, जिसमें किरण खेर और आरिफ जकारिया मुख्य भूमिका में थे। इस फिल्म के जरिए भी ट्रांसजेंडर के दर्द और उनके जीवन के संघर्षों को दिखाया गया था।

महेश भट्ट द्वारा निर्देशित फिल्म तमन्ना में परेश रावल बने थे किन्नर

महेश भट्ट द्वारा निर्देशित फिल्म तमन्ना में परेश रावल बने थे किन्नर

1997 में महेश भट्ट द्वारा निर्देशित फिल्म तमन्ना में परेश रावल ने एक किन्नर का रोल निभाया था। फिल्म में परेश रावल एक बच्ची को पालते हैं जिसका किरदार पूजा भट्ट ने निभाया था। कहानी मूल रूप से थर्ड जेंड के प्रति समाज के नकारात्मक रवैये पर आधारित थी। इस फिल्म को राष्ट्रीय पुरस्कार दिया गया था। इसी से मिलता जुलता किरदार फिल्म सड़क में सदाशिव अमरापुरकर ने निभाया था, लेकिन वो किरदार एक अलग रंग लिए हुए था। महारानी के रूप में सदाशिव फिल्म के विलेन थे।

दीपा मेहता निर्देशित फिल्म फायर संभवत पहली समलैंगिक फिल्म थी

दीपा मेहता निर्देशित फिल्म फायर संभवत पहली समलैंगिक फिल्म थी

वर्ष 1996 में रिलीज हुई फिल्म निर्देशक दीपा मेहता की फिल्म फिल्म फायर ने समलैंगिकता को शायद पहली बार बॉलीवुड की मेनस्ट्रीम फिल्म में दिखाया गया था। इस फिल्म में लेस्बियन रिश्ते दिखाए गए थे और मुख्य भूमिकाओं में थीं शबाना आजमी और नंदिता दास। 90 के दशक में इस तरह की फिल्म का आना बहुत मायने रखता था, लिहाजा फिल्म ने बहुत आलोचनाएं झेली थीं और बॉक्स ऑफिर बुरी तरह फ्लॉफ रही थी।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
The film Shubh Mangal zyada saavdhan got the love of the audience on weekends, as the majority of the audience went to watch the film for comedy, as people had no idea that the film was completely based on homosexuality. The film was trying to give homosexuality social recognition.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X