• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

DRDO का एक और कमाल, एक ही दिन में सरफेस टू एयर मिसाइल VL-SRSAM का दो बार सफल परीक्षण

|

नई दिल्ली: चीन के साथ पिछले 9 महीनों से भारत का सीमा विवाद जारी है। इसके अलावा पाकिस्तान भी लगातार अंतरराष्ट्रीय सीमा और एलओसी पर नापाक हरकतों को अंजाम देता रहता है। दोनों दुश्मनों को देखते हुए भारत अपनी रक्षा तैयारियां लगातार मजबूत कर रहा है। साथ ही रक्षा क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनने की दिशा में डीआरडीओ भी तेजी से काम कर रहा। इसी क्रम में सोमवार को डीआरडीओ के हाथ एक और सफलता लगी, जहां सरफेस टू एयर मिसाइल का सफल परीक्षण हुआ।

drdo

न्यूज एजेंसी एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक डीआरडीओ ने भारतीय नौसेना के लिए वर्टिकल लॉन्च शॉर्ट रेंज सरफेस टू एयर मिसाइल (VL-SRSAM) को डिजाइन और विकसित किया है। सोमवार को इस मिसाइल के दो परीक्षण किए गए। दोनों ही दौर में मिसाइल सभी उम्मीदों पर खरी उतरी। साथ ही सफलता पूर्वक अपने लक्ष्य को भेदा। डीआरडीओ के मुताबिक ये मिसाइल कई तरह के हवाई खतरों को बेअसर करने में सक्षम है। इसे डीआरडीओ और भारतीय नौसेना के लिए बड़ी उपलब्धि मानी जा रही है।

DRDO ने जवानों के लिए तैयार की पहली स्वदेशी पिस्टल, इजराइल की Uzi गन को देगी टक्कर

पिछले महीने भी मिली थी बड़ी कामयाबी

डीआरडीओ लगातार उन्नत किस्म की मिसाइलें विकसित कर रहा है। पिछले महीने 25 जनवरी को ओडिशा के तट से आकाश एनजी (Akash New Generation missile) का सफल प्रक्षेपण किया गया था। ये नई जेनेरेशन की आकाश मिसाइल का पहला लॉन्च था, जो पूरी तरह से कामयाब रहा। डीआरडीओ के मुताबिक आकाश-एनजी एक नई पीढ़ी की सरफेस-टू-एयर मिसाइल है, जिसका उपयोग भारतीय वायुसेना हवाई खतरों को रोकने के लिए करती है। परीक्षण के दौरान मिसाइल के कमांड कंट्रोल सिस्टम, एवियोनिक्स, एरोडायनैमिक सिस्टम सभी ने ठीक काम किया।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
DRDO test fire Short Range Surface to Air Missile VL-SRSAM for Indian Navy
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X