• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

जख्मी आतंकियों के लिए मेडिकल ऐप्लिकेशन बना रहा था डॉक्टर, NIA ने बेंगलुरु से गिरफ्तार किया

|

नई दिल्ली- नेशनल इंवेस्टिगेशन एजेंसी ने अब्दुर रहमान नाम के एक आतंकवादी को गिरफ्तार किया है, जो बेंगलुरु के एमएस रमैया मेडिकल कॉलेज में आंखों का स्पेशलिस्ट है। एनआईए की ओर से मंगलवार को जारी बयान में कहा गया है कि अब्दुर रहमान पर आरोप है कि वह आतंकवाद प्रभावित इलाकों में सक्रिय आतंकी संगठन आईएसआईएस के जख्मी दहशतगर्दों की मदद के लिए एक मेडिकल ऐप्लिकेशन और वेपनरी-रिलेटेड ऐप्लिकेशन विकसित कर रहा था ताकि आतंकियों तक सहायता पहुंचाई जा सके। एनआईए ने बेंगलुरु में उसके तीन ठिकानों पर छापेमारी की है और वहां से संदिग्थ मैटेरियल वाले डिजिटल डिवाइस, मोबाइल फोन और लैपटॉप भी बरामद किए हैं। जांच एजेंसी उसे नई दिल्ली की विशेष एनआईए अदालत में पेश करेगी और आगे की पूछताछ के लिए रिमांड मांगेगी।

आतंकियों का डॉक्टर एनआईए के शिकंजे में

आतंकियों का डॉक्टर एनआईए के शिकंजे में

एनआईए का कहना है कि 28 साल का अब्दुर रहमान साल 2014 की शुरुआत में सीरिया स्थित आईएसआईएस के मेडिकल कैंप में भी जा चुका है और 10 दिनों तक इस्लामिक स्टेट के आतंकियों के साथ रहकर दहशतगर्दों का इलाज करने के बाद भारत लौटा था। जांच एजेंसी ने बेंगलुरु के बासावांगुडी इलाके के निवासी अब्दुर को सोमवार को कश्मीरी दंपति जहांजैब सामी वानी और हीना बशीर बेग से जुड़े मामले में जारी जांच के सिलसिले में गिरफ्तार किया है, जो इसी साल मार्च में दिल्ली के जामिया नगर से दबोचे गए थे। सामी और बेग की गिरफ्तारी के बाद मार्च में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने शुरू में उनके खिलाफ मामला दर्ज किया था। ये दोनों पति-पत्नी कथित तौर पर प्रतिबंधित इस्लामिक स्टेट ऑफ खुरासान प्रॉविंस ( ISKP) से जुड़े हैं, जो कि आईएसआईएस का ही हिस्सा है और जिसे विध्वंसकारी और देश-विरोधी गतिविधियों में शामिल पाया गया था।

दो और आरोपी हो चुके हैं गिरफ्तार

दो और आरोपी हो चुके हैं गिरफ्तार

एनआईए के बयान में आगे कहा गया है कि, 'यह भी पाया गया है कि ये लोग अब्दुल्ला बासिथ के भी संपर्क में थे, जो पहले से ही एनआईए के एक दूसरे केस (आईएसआईएस अबू धावी मॉड्यूल) के सिलसिले में तिहाड़ जेल में बंद है। ' बयान में बताया गया है कि 'आगे की जांच के दौरान एनआईए ने दो और आरोपियों- पुणे निवासी सादिया अनवर शेख और नबील सिद्दीक खत्री को भी गिरफ्तार किया था, जो भारत में आईएसआईएस/आईएसकेपी की आगे की साजिशों से जुड़ी गतिविधियों और नागरिकता संशोधन कानून विरोधी प्रदर्शन में विध्वंसकारी गतिविधियों को अंजाम देना चाहते थे।'

आतंकियों के डॉक्टर के तीन ठिकानों पर छापेमारी

आतंकियों के डॉक्टर के तीन ठिकानों पर छापेमारी

एनआईए ने कहा है कि, 'पूछताछ के दौरान गिरफ्तार आरोपी अब्दुर रहमान ने कबूल किया है कि वह आरोपी जहांजैब सामी और दूसरे सीरिया स्थित आईएसआईएस के आतंकियों के साथ सुरक्षित मैसेजिंग प्लेटफॉर्म पर आईएसआईएस की गतिविधियों को बढ़ाने की साजिशें रचने में शामिल था। वह आतंकवाद प्रभावित क्षेत्रों में आईएसआईएस के जख्मी दहशतगर्दों की मदद के लिए एक मेडिकल ऐप्लिकेशन और वेपनरी-रिलेटेड ऐप्लिकेशन विकसित कर रहा था, ताकि आतंकियों तक सहायता पहुंचाई जा सके। ' उसकी गिरफ्तारी के बाद एनआईए ने बेंगलुरु में उसके तीन ठिकानों पर छापेमारी की है और वहां से संदिग्थ मैटेरियल वाले डिजिटल डिवाइस, मोबाइल फोन और लैपटॉप भी बरामद किए हैं। उसे नई दिल्ली स्थित एनआईए के स्पेशल कोर्ट में पेश किया जाएगा और आगे की पूछताछ के लिए रिमांड की मांग की जाएगी।

इसे भी पढ़ें- नेपाल के PM ओली का करीबी असगर अली कौन है, जिसके चलते नेपाली सेना में भी है खलबली

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Doctor was making medical application for injured ISIS operatives, NIA arrested from Bengaluru
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X