• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

क्या रिया ने सुशांत के डिप्रेशन की फर्जी कहानी गढ़ी?

|

क्या रिया ने सुशांत के डिप्रेशन की फर्जी कहानी गढ़ी?
    Rhea ने Share किया Sushant की Diary का पन्ना, बताया-मेरा पास और कोई property नहीं | वनइंडिया हिंदी

    क्या रिया ने सुशांत के डिप्रेशन की फर्जी कहानी गढ़ी थी ? बिहार पुलिस ने सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दाखिल कर कहा है कि रिया ने सुशांत की मानसिक बीमारी की झूठी कहानी गढ़ी थी। वह सुशांत को डिप्रेशन में दिखा कर उसे ब्लैकमेल करना चाहती थी ताकि उसके पैसे को हड़प सके। सुशांत डिप्रेशन में नहीं थे। यह बात एक और तथ्य से प्रमाणित होती है। मुम्बई के इंवेट मैनेजर उदय सिंह गौरी का दावा है कि उन्होंने 13 जून को फिल्म प्रोजेक्ट को लेकर सुशांत से बात की थी। फिल्म निर्माता रमेश तौरानी और निर्देशक निखिल आडवाणी से भी सुशांत की बात हुई थी। सुशांत ने फिल्म प्रोजेक्ट को लेकर रुचि दिखायी थी। अगर सुशांत मानसिक रूप से बीमार थे या गहरे तनाव में थे तब फिर उन्होंने कैसे दो प्रमुख फिल्मी हस्तियों से बात की ? जब बड़े फिल्म निर्माता या निर्देशक सुशांत से फिल्म प्रोजेक्ट को लेकर बात कर रहे थे तो फिर उनके अवसाद में रहने की बात गले नहीं उतरती।

    सुशांत के डिप्रेशन पर सवाल

    सुशांत के डिप्रेशन पर सवाल

    कई सुपरहिट फिल्मों के प्रोड्यूसर और वितरक रमेश तौरानी एक इंटरव्यू में बता चुके हैं कि मौत से एक दिन पहले यानी 13 जून को उनकी सुशांत से बात से बात हुई थी। उन्होंने सुशांत को एक स्क्रिप्ट के बारे में बताया था। निर्देशक निखिल आडवाणी ने फिल्म को लेकर उनसे डिसकस भी किया था। इस बातचीत में सुशांत बिल्कुल नॉर्मल लगे थे। हमें ऐसा बिल्कुल नहीं लगा कि उन्हें कोई दिक्कत है। सुशांत गंभीरता से हमारी बात सुन रहे थे। उन्हें पटकथा को लेकर जहां भी कुछ संदेह हुआ, बेधड़क सवाल पूछे। सुशांत ने कुछ ऐसे सवाल उठाये जिस हम लोगों ने गौर किया क्यों कि उनकी जिज्ञाषा सही थी। मुम्बई के टैलैंट मैनेजर उदय सिंह गौरी की सुशांत से अक्सर बात होती थी। 13 जून को उदय ने ही सुशांत की रमेश तौरानी और निखिल आडवाणी से बात करायी थी। पहले उदय सिंह गौरी ने सुशांत से बात की। दोनों के बीच बहुत देर बात हुई। इस दौरान सुशांत ने फिल्म को लेकर काफी बातें पूछीं। इस फिल्म के लिए उन्होंने बहुत उत्साह दिखाया। इसके बाद उदय ने रमेश तौरानी, निखिल आडवाणी और सुशांत के बीच व्हाट्स एप कॉन्फ्रेंसिंग कॉल के जरिये बात करायी। इन तीनों के बीच करीब 20 मिनट तक बात चली थी। इस बातचीत में किसी को भी नहीं लगा कि सुशांत मानसिक रूप से बीमार हैं। 13 जून को सुशांत नयी फिल्म को लेकर उत्साह दिखाते हैं और 14 जून को वे निराश और तनाव में खुदकुशी कर लेते हैं, ये बात किसी को हजम नहीं हो रही।

    पटना पुलिस की जांच के बाद नये-नये खुलासे

    पटना पुलिस की जांच के बाद नये-नये खुलासे

    जब सुशांत अपनी मौत से एक दिन पहले तक नयी फिल्म मिलने की संभावना से उत्साहित थे तो फिर रिया उन्हें कैसे मानसिक आरोग्याशाला भेजने की बात करती थी ? अप्रैल 2019 में रिया और सुशांत में करीबियां बढ़ी थीं। इसके बाद रिया अक्सर सुशांत के घर आने लगी थी। आरोप है कि रिया सुशांत के घर आने जाने के करीब सात आठ दिन बाद ही उसके क्रेडिट कार्ड पर पार्टी करने लगी थी। धीरे- धीरे सुशांत की जिंदगी और उसके पैसे पर रिया का दखल बढ़ता गया। इससे सुशांत अपने परिवार से कटते चले गये। रिया के इसी वर्ताव से सुशांत की बहनें या उनके पिता के के सिंह नाराज रहने लगे। ईडी से पूछताछ में रिया ने कहा है कि सुशांत के परिवार वाले उन दोनों का ब्रेकअप कराना चाहते थे। जब कि सुशांत रिश्ते को निभाना चाहते थे। यानी ये बिल्कुल साफ है कि रिया और सुशांत के परिजनों के बीच बहुत पहले ही अनबन शुरू हो गयी थी। सुशांत की मौत के बाद न तो रिया ने इस झगड़े के बारे में बताया और न ही सुशांत के परिजनों ने। दरअसल सुशांत के परिजनों को लगता था कि जब मुम्बई पुलिस इस मामले की जांच करेगी तो सारी बातें अपने आप सामने आ जाएंगी। लेकिन जब उन्होंने मुम्बई पुलिस को रिया की मदद करते देखा तो मुंह खोलने का फैसला कर लिया। के के सिंह ने आखिरकार पटना में एफआइआर लिखा कर रिया समेत छह लोगों को सुशांत मौत मामले में आरोपी बना दिया। बिहार पुलिस ने करीब एक हफ्ते की जांच में इस बात के सबूत खोज लिये कि रिया ने सुशांत के डिप्रेशन को एक योजना के तहत प्लांट किया था। पटना पुलिस की जांच के बाद नये-नये खुलासे होने लगे जिससे सुशांत की मौत की गुत्थी उलझ गयी।

    घर छोड़ने के बाद भी रिया की थी सुशांत पर नजर

    घर छोड़ने के बाद भी रिया की थी सुशांत पर नजर

    रिया चक्रवर्ती ने 8 जून को सुशांत का घर छोड़ दिया था। चूंकि सुशांत के स्टाफ को रिया ने ही बहाल किया था इसलिए वे उसके विश्वासपात्र बने रहे। वह घर में मौजूद किसी स्टाफ को फोन कर सुशांत के बारे में पूछताछ करती रहती थी। सिद्धार्थ पिठानी से वह व्हाट्स एप कॉल पर बात करती थी। सुशांत को फंदे से लटकता किसी ने नहीं देखा था। सिर्फ सिद्धार्थ पिठानी के बयान पर ही ये बात कही जा रही है। जब तक ताला तोड़ने वाला घर में मौजूद रहा कोई कमरे में दाखिल नहीं हुआ। पुलिस आयी तो सुशांत की बॉडी बेड पर थी। इस बीच क्या-क्या हुआ कोई नहीं जानता। इतना ही नहीं रिया बांद्रा के डीसीपी के भी सम्पर्क में थी। जब सुशांत की मौत खुदकुशी थी तो फिर रिया क्यों डीसीपी से बात करती थी ? क्या रिया इनक्वायरी डिटेल्स की जानकारी हासिल करना चाहती थी ? रिया के कॉल डिटेल्स की जैसे-जैसे परत खुल रही है, मामला संगीन होता दिख रहा है। ईडी ने जब तलब किया तो पर्दे में छिपी रिया को बाहर निकलना पड़ा। लेकिन बिहार पुलिस ने उसे पूछताछ के लिए बुलाया तो वह अंडरग्राउंड हो गयी। आखिर क्यों ?

    Kerala Plane Crash: विमान में सवार इस शख्स को पहले ही थी अनहोनी की आशंका

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Did Riya create a fake story of Sushant singh rajput's depression?
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X