• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

'ये मंगलसूत्र का विज्ञापन है या कामसूत्र का?', अब सब्यसाची के ज्वैलरी एड पर मचा हंगामा

|
Google Oneindia News

मुंबई: हाल ही में दिवाली और करवा चौथ के त्यौहार को लेकर रिलीज हुए दो विज्ञापनों पर सोशल मीडिया पर जमकर हंगामा मचा। इनमें पहला विज्ञापन था फैब इंडिया का, जिसमें दीवाली को 'जश्न-ए-रिवाज' कहा गया और दूसरा विज्ञापन डाबर की फेम ब्लीच क्रीम का था, जिसमें एक समलैंगिंक जोड़े को करवा चौथ का त्यौहार मनाते हुए दिखाया गया। सोशल मीडिया पर लोगों ने इन दोनों विज्ञापनों को 'हिंदू धर्म विरोधी' बताया और विवाद बढ़ने पर कंपनियों ने माफी मांगते हुए विज्ञापन वापस ले लिए। इस बीच अब मशहूर डिजाइनर सब्यसाची मुखर्जी का एक विज्ञापन सोशल मीडिया पर लोगों के निशाने पर आ गया है।

मंगलसूत्र के एड में समलैंगिंक कपल्स

मंगलसूत्र के एड में समलैंगिंक कपल्स

बुधवार को डिजाइनर सब्यसाची ने इंस्टाग्राम पर अपने नए ज्वैलरी एड कैंपन 'इंटिमेट फाइन ज्वैलरी' की तस्वीरें शेयर कीं और लोगों ने उन्हें ट्रोल करना शुरू कर दिया। दरअसल, इस विज्ञापन की तस्वीरों में अलग-अलग मॉडल्स को ज्वलैरी ब्रांड के मंगलसूत्र का प्रचार करते हुए दिखाया गया है। तस्वीरों में कपल्स और समलैंगिंक कपल्स हैं, जो नए ज्वैलरी कलेक्शन के तहत 'द रॉयल बंगाल मंगलसूत्र' पहने हुए हैं।

सोशल मीडिया पर लोगों ने बताया- हिंदू संस्कृति पर हमला

सोशल मीडिया पर लोगों ने बताया- हिंदू संस्कृति पर हमला

ये तस्वीरें जैसे ही सोशल मीडिया पर वायरल हुईं, लोगों ने इस विज्ञापन को अश्लील बताते हुए इसका विरोध करना शुरू कर दिया है। सोशल मीडिया यूजर्स ने अपने कमेंट में लिखा कि यह विज्ञापन हिंदू संस्कृति पर हमला है और धार्मिक भावनाओं को आहत करने के मकसद से बनाया गया है। लोग तस्वीरों पर कमेंट कर इस विज्ञापन को वापस लेने की मांग कर रहे हैं।

'इस ज्लैवरी के लिए मुझे कुछ चीप होना पड़ेगा'

'इस ज्लैवरी के लिए मुझे कुछ चीप होना पड़ेगा'

इंस्टाग्राम पर एक यूजर ने इन तस्वीरों पर कमेंट करते हुए लिखा- 'आप आखिर किस बात का विज्ञापन कर रहे हैं? अब कोई भी इस ज्वैलरी को नहीं पहनेगा, क्योंकि आपने दुनिया को दिखा दिया कि अगर मैं वो ज्वैलरी पहनती हूं, तो मुझे कुछ चीप होना पड़ेगा। प्लीज अपने इस कैंपेन पर ध्यान दीजिए।' एक अन्य यूजर ने अपने कमेंट में कहा, 'मैं बता नहीं सकती कि ये विज्ञापन देखकर मुझे कितनी निराशा हुई है, इसे देखकर मेरा पूरा दिन दिन बर्बाद हो गया।'

'मुझे लगा कि ये अंडरगार्मेंट्स का विज्ञापन है'

'मुझे लगा कि ये अंडरगार्मेंट्स का विज्ञापन है'

सोशल मीडिया पर कुछ यूजर्स ने विज्ञापन की तुलना कामसूत्र से भी की। एक यूजर ने लिखा- 'मंगलसूत्र या कामसूत्र'। एक और यूजर ने तस्वीरों पर कमेंट करते हुए लिखा- 'तस्वीरें देखकर पहले मुझे लगा कि ये अंडरगार्मेंट्स का विज्ञापन है, लेकिन इसके बाद मैंने आपका कैप्शन पढ़ा और तब पता चला कि ये इंटिमेट फाइन ज्लैवरी है।'

'मंगलसूत्र को इस तरीके से कौन बेचता है'

'मंगलसूत्र को इस तरीके से कौन बेचता है'

वहीं, कुछ यूजर्स ने सब्यसाची के इस विज्ञापन पर इस बात को लेकर नाराजगी जताई कि उन्होंने शादी जैसे पवित्र बंधन के मौके पर पहने जाने वाले मंगलसूत्र को खराब तरीके से दिखाया है। एक यूजर ने लिखा- 'आजकल आपको हो क्या गया है सब्यसाची? मंगलसूत्र को इस तरीके से कौन बेचता है? अगर आपके अंदर हिम्मत है तो बुर्का और ताबीज इस तरीके से बेचकर दिखाइए। हिंदू भावनाओं का अपमान करना बंद कीजिए।'

यूजर ने की विज्ञापन वापस लेने की मांग

यूजर ने की विज्ञापन वापस लेने की मांग

एक और यूजर ने सब्यसाची के इस एड कैंपेन की तस्वीरों पर कमेंट करते हुए लिखा, 'सब्यसाची ये बहुत ही शर्मनाक विज्ञापन है। आप नग्नता और अश्लीलता से भरे कंटेंट के साथ मंगलसूत्र का प्रचार कर रहे हैं। यह जानबूझकर हिंदू भावनाओं को आहत करने की कोशिश है। इस पोस्ट को जल्द से जल्द हटाइए।' एक अन्य इंटरनेट यूजर ने अपनी नाराजगी जाहिर करते हुए लिखा, 'ज्लैवरी, कलाकारी का एक बेहद खूबसूरत हिस्सा होता है, इस विज्ञापन को कुछ बेहतर तरीके से भी बनाया जा सकता था।'

ये भी पढ़ें-राजस्थान के इस शाही फोर्ट में होगी विक्की-कैट की शादी! देखिए 700 साल पुराने किले के अंदर की तस्वीरें

English summary
Designer Sabyasachi Mangalsutra Ad In Controversy On Social Media
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X