• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

कोवैक्सीन या कोविशील्ड की डोज लेने के बाद भी डेल्टा वेरिएंट कर सकता है संक्रमित, AIIMS की स्टडी में खुलासा

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली, जून 9। हाल ही में वैज्ञानिकों ने एक स्टडी के जरिए ये जाना था कि कोरोना के डेल्टा वेरिएंट के कारण ही दूसरी लहर इतनी घातक हुई थी। डेल्टा वेरिएंट के घातक होने का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि कोरोना की दूसरी लहर में तीन महीने के अंदर देश में मौत का आंकड़ा साढ़े तीन लाख के करीब पहुंच गया है। कोरोना का डेल्टा वेरिएंट इतना ज्यादा घातक है कि इस पर वैक्सीन का भी प्रभाव अधिक नहीं है। ये बात एम्स की स्टडी में सामने आई है। दरअसल, राजधानी दिल्ली में स्थित एम्स और नेशनल सेंटर ऑफ डिसीज कंट्रोल के अलग-अलग अध्ययन में ये बात सामने आई है कि भारत में लगाई जा रही कोविशील्ड और कोवैक्सीन की डोज लेने के बाद भी कोरोना का डेल्टा वेरिएंट किसी को भी संक्रमित कर सकता है। हालांकि आपको बता दें कि अभी तक किसी स्टडी की समीक्षा नहीं की गई है।

    Coronavirus का Delta Variants वैक्सीनेशन के बाद भी कर रहा संक्रमित, AIIMS की स्टडी | वनइंडिया हिंदी

    AIIMS

    63 मरीजों पर किया गया अध्ययन

    एम्स की स्टडी के मुताबिक, अल्फा वेरिएंट के मुकाबले डेल्टा वेरिएंट किसी भी व्यक्ति को 40 से 50 फीसदी अधिक संक्रमित कर सकता है, फिर भले ही व्यक्ति ने वैक्सीन की दोनों डोज ले रखी हों। एम्स-आईजीआईबी (इंस्टीट्यूट ऑफ जीनोमिक्स एंड इंटीग्रेटिव बायोलॉजी) का अध्ययन 63 संक्रमित मरीजों पर था। इन मरीजों को 5-7 दिन से तेज बुखार के बाद अस्पताल के इमरजेंसी वॉर्ड में रखा गया था। इन 63 लोगों में से 53 को कोवैक्सिन की कम से कम एक खुराक और बाकी को कोविशील्ड की कम से कम एक खुराक दी गई थी। इन 63 मरीजों में से 53 को कोवैक्सिन की और अन्य को कोविशील्ड की एक खुराक दी गई, जबकि 36 लोगों को वैक्सीन के दोनों डोज दिए जा चुके थे। डेल्टा वेरियंट संक्रमण के 76.9 फीसदी मामले ऐसे लोगों में दर्ज किए गए जिन्हें टीके की एक खुराक दी गई थी, जबकि दोनों डोज़ लगवाने वाले 60 फीसदी संक्रमित हुए।

    कोविशील्ड को लेकर अधिक संशय

    आपको बता दें कि एम्स की स्टडी में कोविशील्ड वैक्सीन को लेकर संशय अधिक नजर आया है। स्टडी में पता चला है कि डेल्टा वेरियंट के संक्रमण से ऐसे लोग ज्यादा संक्रमित हुए हैं, जिन्हें कोविशील्ड दी गई थी। डेल्टा वेरियंट संक्रमण उन 27 मरीजों को हुआ जिन्होंने वैक्सीन लगवाई थी, इनकी संक्रमण दर 70.3 फीसदी रही।

    इसके अलावा स्टडी में ये सामने आया है कि कोविशील्ड और कोवैक्सिन अल्फा वेरिएंट पर अधिक असरदार है। ये दोनों वैक्सीन संक्रमण के अल्फा वेरियंट से बचाव करने में सक्षम हैं।

    ये भी पढ़ें: तमिलनाडु में दूसरे सीरो सर्वे के आए नतीजे, 23 फीसदी आबादी के अंदर मिली एंटीबॉडीये भी पढ़ें: तमिलनाडु में दूसरे सीरो सर्वे के आए नतीजे, 23 फीसदी आबादी के अंदर मिली एंटीबॉडी

    English summary
    Delta Variant Can Affect if taken Covishield and Covaxin Doses, says AIIMS study
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X