• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

रेप केस में फंसाने वाली प्रोफेसर ने आरोपी को किया था 529 बार कॉल, कोर्ट ने बरी किया

|

नई दिल्‍ली। दिल्ली उच्च न्यायालय ने बलात्कार के एक मामले में एक आरोपी को बरी करने के फैसले को बरकरार रखा। उच्च न्यायालय ने कहा कि महिला की गवाही भरोसे लायक नहीं है और यह विरोधाभासी है। अदालत ने ऐसा इसलिए कहा क्‍योंकि महिला ने कथित बलात्कार और शिकायत दर्ज करने वाले दिन के बीच आरोपी को 529 बार फोन किया था। आरोप लगानेवाली महिला एक यूनिवर्सिटी में प्रफेसर है। न्यायमूर्ति मनमोहन व न्यायमूर्ति संगीता ढींगरा सहगल की पीठ ने महिला प्रोफेसर के बयानों में विरोधाभास के चलते उसको अविश्वनीय करार दिया। पीठ ने इस बात पर सवाल उठाया कि घटना के एक महीने के बाद महिला ने रिपोर्ट दर्ज क्यों कराई और उसने चिकित्सकीय जांच से इंकार क्‍यों किया। आपको बता दें कि निचली अदालत ने पांच जनवरी को आरोपी को बरी किया था।

महिला ने कहा था- नशा देकर सोशल मीडिया फ्रेंड ने किया था रेप

महिला ने कहा था- नशा देकर सोशल मीडिया फ्रेंड ने किया था रेप

महिला ने बताया था कि सोशल मीडिया पर एक शख्स से उनकी दोस्ती हुई थी जिसने उनका रेप किया। महिला ने बयान दिया था कि शख्स ने उनकी ड्रिंक में कोई ड्रग्स मिलाकर रेप किया था। सुनवाई के दौरान कोर्ट को पता लगा कि महिला ने शिकायत दर्ज करवाने से पहले उस शख्स को 529 बार फोन किया था। यह फोन कॉल 16 दिसंबर 2016 (कथित रेप के बाद) से 29 जनवरी 2017 (शिकायत दर्ज करवाने तक) तक किए गए थे।

 प्रोफेसर ने जिस दिन घटना बताया उस दिन छुट्टी थी

प्रोफेसर ने जिस दिन घटना बताया उस दिन छुट्टी थी

इसके अलावा महिला ने कहा था कि उस दिन महिला को आईआईएम नोएडा कैंपस में किसी गेस्ट लेक्चर के लिए बुलाया गया था। फिर कोर्ट ने पाया कि उस दिन मिलाद उन-नबी की सरकारी छुट्टी थी। इतना ही नहीं शख्स ने आईआईएम से प्राप्त आईटीआई का जवाब भी दिखाया जिसमें बताया गया था कि उस दिन छुट्टी थी और कोई लेक्चर नहीं था। रेप हुआ या नहीं यह भी कोर्ट में प्रूव नहीं हो पाया क्योंकि महिला ने तब मेडिकल करवाने से ही इनकार कर दिया था।

कोर्ट ने महिला ने पूछा- 32 दिनों तक कहां थी

कोर्ट ने महिला ने पूछा- 32 दिनों तक कहां थी

कोर्ट ने यह भी पूछा कि महिला ने 32 दिनों बाद शिकायत क्यों दर्ज करवाई। कोर्ट ने कहा कि महिला ने होटल में रेप होने की बात की तो उस वक्त स्टाफ से शिकायत क्यों नहीं की गई। महिला ने यह भी कहा था कि घटना के बाद शख्स उन्हें शिवाजी स्टेडियम मेट्रो स्टेशन तक छोड़कर गया था। इसपर भी कोर्ट ने सवाल उठाए।

Read Also- अलीगढ़ मामला: नेजल ब्रिज फ्रेक्‍चर, किडनी गायब- ढाई साल की मासूम का पोस्‍टमार्टम रिपोर्ट पढ़ कलेजा कांप जाएगा

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Delhi: Woman makes 529 calls before filing rape complaint, Man acquitted by High Court.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X