• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Farmers Protest: जानिए, किसान आंदोलन के चलते दिल्ली के कौन से बॉर्डर हैं बंद

|

नई दिल्ली। दिल्ली में प्रवेश के कई रास्तों पर किसान आंदोलन कर रहे हैं। जिसकी वह से दिल्ली बॉर्डर पर यातायात प्रभावित है। कुछ जगहों पर रूट डायवर्जन किए गए हैं जबकि कुछ जगहों पर बॉर्डर सील कर दिए गए हैं। शनिवार शाम को दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने बंद रास्तों की जानकारी दी है और बताया है कि किन रास्तों पर ना आएं।

दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने दी जानकारी

दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने दी जानकारी

दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने बताया है कि गौतम बुद्ध द्वार के पास किसान जमा हैं। इसके चलते नोएडा से दिल्ली जाने वाली नोएडा लिंक रोड, चीला बॉर्डर यातायात के लिए बंद है। इस ओर से दिल्ली आने के लिए नोएडा लिंक रोड से बचें और डीएनडी से आएं। एनएच 24 पर गाजीपुर बॉर्डर भी यातायात के लिए बंद है। लोगों को दिल्ली आने के लिए NH-24 की जगह अप्सरा/भोपड़ा/DND का उपयोग करने की सलाह दी जाती है।

    Farmers Protest: सरकार और किसानों की 5वें दौर की बैठक भी फेल, 9 दिसंबर को अगली बैठक | वनइंडिया हिंदी
    टीकरी बॉर्डर भी यातायात के लिए बंद

    टीकरी बॉर्डर भी यातायात के लिए बंद

    टीकरी और झरोड़ा बॉर्डर भी यातायात के लिए बंद है। बदुसराय बॉर्डर केवल हल्के मोटर वाहनों जैसे कारों और दोपहिया वाहनों के लिए खुला है। झटीकरा बॉर्डर केवल दोपहिया वाहनों के आवागमन के लिए खुला है। हरियाणा के लिए जो बॉर्डर खुले हैं, उनमें धनसा, दौराला, कपासेरा, राजोकरी एनएच 8, बिजवासन/बजघेरा, पालम विहार और डूंडाहेड़ा हैं। सिंघु, औचंदी, लामपुर, पियाओ मनियारी, मंगेश बॉर्डर बंद हैं। NH 44 दोनों तरफ से बंद है। इनकी जगह सफियाबाद, सबोली, एनएच8/भोपरा/अप्सरा सीमा/पेरिफेरल एक्सप्रेस से जाएं।

    किसान कर रहे हैं आंदोलन

    किसान कर रहे हैं आंदोलन

    कई महीने चल रहा है किसानों का आंदोलन केंद्र सरकार तीन नए कृषि कानून लेकर आई है, जिनमें सरकारी मंडियों के बाहर खरीद, अनुबंध खेती को मंजूरी देने और कई अनाजों और दालों की भंडार सीमा खत्म करने समेत कई प्रावधान किए गए हैं। इसको लेकर किसान जून से आंदोलनरत हैं। किसानों ने हाल ही में 'दिल्ली चलो' का नारा दिया है। जिसके बाद 26 नवंबर को किसान पंजाब हरियाणा से दिल्ली की ओर कूच किए और 10 आठ दिन से किसान सिंधु बॉर्डर पर डटे हुए हैं। दूसरे बॉर्डरों पर भी किसान आए हुए हैं। किसान संगठनों और सरकार के बीच हुई कई दौर की बातचीत से भी अभी कोई नतीजा नहीं निकलता दिख रहा है। किसानों का कहना है कि सरकार जमीनों और मंडी सिस्टम को बड़े कारोबारियों को सौंप रही है, जो हमें बर्बाद कर देगा। ऐसे में इनको तुरंत वापस लिया जाए।

    ये भी पढ़ें- किसानों के बीच सिंघु बॉर्डर पहुंचे दिलजीत दोसांझ, केंद्र सरकार से हाथ जोड़कर की ये अपील, किसानों को दिए एक करोड़

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Delhi Traffic Police about border closed due to farmers protests
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X