• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

कोरोना वायरस से जंग जीत रही दिल्ली, 49 दिनों में पहली बार 1000 से कम मामले आए

|

नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस (कोविड-19) हारता हुआ दिखाई दे रहा है। यहां 49 दिनों में पहली बार 1000 से कम मामले रिकॉर्ड किए गए हैं। जिससे माना जा रहा है कि दिल्ली ने वायरस की पीक को पार कर लिया है। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार सोमवार को दिल्ली में 945 नए मामले सामने आए हैं। यहां पिछले 24 घंटे में कुल 11,470 टेस्ट किए गए। जिसमें 4177 RT-PCR टेस्ट और 7293 रैपिड एंटीजन टेस्ट हैं। हालांकि एम्स के निदेशक रणदीप गुलेरिया ने कहा है कि अब भी सचेत रहना होगा।

arvind kejriwal, sanjay singh, delhi, coronavirus, covid-19, delhi coronavirus situation, coronavirus india, coronavirus india delhi, coronavirus delhi india, coronavirus delhi cases, delhi cases
    Coronavirus : Human Trial के फेज-1 और 2 में पहुंचे दो स्वदेशी Corona Vaccine | वनइंडिया हिंदी

    इस सफलता के लिए जहां एक ओर दिल्ली सरकार का कहना है कि ये सब 'केजरीवाल मॉडल' के कारण हुआ है। तो वहीं भाजपा का कहना है कि दिल्ली सरकार के हाथ से स्थिति निकलने के बाद केंद्र की वजह से ही स्थिति नियंत्रण में आई है। एम्स निदेशक का कहना है कि ऐसा लग रहा है कि दिल्ली ने वायरस के पीक को पार कर लिया है लेकिन अब भी हमें इसपर ध्यान देने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा, 'मुझे ऐसा लग रहा है कि कई जगहों में पीक आकर चला गया है। दिल्ली में सुधार इसलिए दिख रहा है कि क्योंकि मामले कम होते जा रहे हैं। हालांकि कई जगह पीक नहीं आया है। कई राज्यों में मामले बढ़ रहे हैं।'

    दिल्ली में अब कुल मामलों की संख्या 1,23,747 हो गई है। पिछले 24 घंटों में 1784 मरीजों के ठीक होने के बाद कुल 1,04,918 मरीज स्वस्थ हुए हैं। एक दिन में 35 मरीजों की मौत हुई हैं, जिससे मरने वालों का आंकड़ा 3663 हो गया है। राजधानी में सक्रिय मामले बीते हफ्ते से लगातार कम हो रहे हैं। अब ये संख्या 15,166 पर आ गई है, यानी 44 दिनों में सबसे कम। वहीं रिकवरी रेट 85 फीसदी हो गया है। 1 जून के बाद पहली बार 24 घंटों के भीतर आने वाले नए मामलों की संख्या 1000 से कम रही है। वहीं बीते 9 दिनों से नए मामले 1000-2000 के बीच आ रहे हैं। इससे पहले 11 अप्रैल को दिल्ली में कोविड-19 के मामले 1000 से ऊपर आ रहे थे। फिर 23 जून को सबसे ज्यादा 3947 मामले आए थे।

    कंटेनमेंट जोन की बात करें तो अब इनकी संख्या 696 है। आप के राज्यसभा सदस्य संजय सिंह का कहना है, 'आज कोरोना से लड़ने में अरविंद केजरीवाल सरकार को जो सफलता मिली है उसकी चर्चा सिर्फ हिंदुस्तान में ही नही, दुनिया में भी हो रही है। दिल्ली में अब तक लगभग 1 लाख लोग ठीक हो गए हैं, जिनमें से 80% को दिल्ली सरकार के होम आइसोलेशन के तहत घरों में ही इलाज मिला।' उन्होंने कहा कि इस लड़ाई में डॉक्टर, नर्स, सफाई कर्मचारी और पुलिस अधिकारी भी साथ रहे। सिंह ने कहा, 'योगी सरकार ने अरविंद केजरीवाल सरकार के होम आइसोलेशन मॉडल को उत्तर प्रदेश में भी लागू किया। ये केजरीवाल सरकार की उपलब्धि है कि अन्य राज्य भी दिल्ली मॉडल से सीख रहे हैं। उत्तर प्रदेश सरकार को दिल्ली सरकार की तर्ज पर ही टेस्टिंग भी बढ़ानी चाहिए।'

    हालांकि दिल्ली भाजपा महासचिव राजेश भाटिया का कहना है कि आम आदमी पार्टी अपनी जिम्मेदारियों से भाग रही है। उन्होंने कहा कि दिल्ली में कोविड-19 की स्थिति केजरीवाल सरकार के हाथ से निकल गई थी, इस स्थिति को गृहमंत्री अमित शाह द्वारा नियंत्रण में लाया गया है।

    देश में कोरोना वायरस के 37,148 नए केस, कुल मामले 11 लाख 55 हजार से अधिक

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    delhi records less than one thousand coronavirus cases first time in 49 days may hit the peak
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X