11 की उम्र से चचेरे भाई कर रहे थे कुकर्म, सुसाइड नोट में दर्दनाक कहानी लिख IIT छात्र ने कर ली खुदकुशी

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। दिल्ली आईआईटी के नीलगिरी हॉस्टल में एमएससी प्रथम वर्ष के 21 वर्षीय छात्र ने शुक्रवार सुबह फांसी लगाकर जान दे दी। छात्र की पहचान गोपाल मालो के नाम से हुई है जिसके पिता का नाम समत मालो है। सुसाइड नोट में छात्र ने खुलासा किया है कि जब वह 11 साल का था, तभी से ही उसके मामा और मौसी के बेटे उसके साथ कुकर्म कर रहे थे। आईआईटी में आने के बाद वह उस पर वापस घर आने के लिए दबाव बना रहे थे, जिस कारण वह डिप्रेशन में था। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है।

'परिवार को अपने साथ हुए कुकर्म के बारे में नहीं बताया'

'परिवार को अपने साथ हुए कुकर्म के बारे में नहीं बताया'

शुक्रवार सुबह गोपाल के दोस्तों ने उसे फांसी पर लटके देखा, जिसके बाद पुलिस को सूचित किया गया। गोपाल के परिजनों का कहना है कि उसने कभी भी अपने साथ हुए कुकर्म के बारे में उन्हें नहीं बताया था। फिलहाल पुलिस ने पोक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया है और इसे पश्चिम बंगाल पुलिस को भेज दिया है। इस मामले में बंगाल पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर सकती है।

'खिड़की से अंदर देखा तो गोपाल पंखे से लटका हुआ था'

'खिड़की से अंदर देखा तो गोपाल पंखे से लटका हुआ था'

नीलगिरी होस्टल का कमरा नंबर डी-5 में तीन बिस्तर लगे हैं। बीच के बिस्तर पर गोपाल मालो सोता था। ऐसे में गुरुवार रात जब उसके साथ रहने वाले दोनों दोस्त नहीं सो रहे थे, तो उसने दोनों को सोने के बहाने कमरे से बाहर कर दिया और अंदर से गेट बंद कर लिया। गोपाल के दोनों दोस्त रातभर बाहर ही सोए और सुबह करीब सात बजे कमरे पर पहुंचे। कई बार खटखटाने पर जब गोपाल ने गेट नहीं खोला तो एक दोस्त ने खिड़की से अंदर देखा तो गोपाल पंखे से लटका हुआ था। जिसके बाद उसने तुरंत सुरक्षाकर्मियों को सूचना दी। सुरक्षाकर्मियों ने युवकों की सूचना को पुख्ता कर मामले की जानकारी पुलिस को दी।

'बचपन से ही मामा-मौसी के बेटे मेरे साथ दुष्कर्म करते रहे'

'बचपन से ही मामा-मौसी के बेटे मेरे साथ दुष्कर्म करते रहे'

गोपाल ने बंगाली में लिखा एक सुसाइड नोट छोड़ा है। सुसाइड नोट में गोपाल ने लिखा है कि बचपन से ही मामा-मौसी के बेटे उसके साथ दुष्कर्म करते रहे हैं और वह यह सब अब और नहीं सह सकता। जांच में पता चला है कि बीते 10 अप्रैल को भी उसने नींद की गोलियां खाकर जान देने की कोशिश की थी। समय रहते प्रशासन को इसका पता चल गया था, जिसके बाद उसे अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। सफदरजंग अस्पताल से छुट्टी मिलने के बाद उसे भाई बच्चू राम में काफी समझाया भी था। लेकिन इसके बावजूद वह हॉस्टल के अपने कमरे में पहुंचा और गुरुवार रात पंखे से फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली।

ये भी पढ़ें- उन्नाव गैंगरेप पर टूटी सीएम आदित्यनाथ की चुप्पी, कहा- अपराधी कोई भी हो बख्शा नहीं जाएगा

ये भी पढ़ें- मेरठ: गन्ने के खेत में युवती का न्यूड वीडियो बनाकर किया वायरल

ये भी पढ़ें- सेक्स पावर बढ़ाने के लिए लिया इंजेक्शन तो छोड़कर भागा प्रेमी, लड़की की मौत

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Delhi: IIT student ends life, note speaks of ‘abuse’

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.