• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

चार घंटे तक नहीं पहुंची एंबुलेंस, बीच सड़क कोरोना मरीज की तड़प-तड़पकर मौत

|

बेंगलुरु। भारत का सिलकॉन वैली कहा जाने वाले बेंगलुरु में एक ऐसी खबर सामने आई है जिसे जानने के बाद आपके रौंगटे खड़े हो जाएंगे। यहां के हनुमान नगर में कोरोना वायरस से संक्रमित एक मरीज समय पर एंबुलेंस सेवा न मिलने की वजह से सड़क किनारे तड़प कर मर गया। आप जानकर सन्‍न रह जाएंगे कि ब्रुहट बेंगलुरू महानगर पालिका (BBMP) को चार घंटे पहले एंबुलेंस के लिए सूचित किया गया था फिर भी वो समय पर नहीं पहुंची। अब बीबीएमसी के कमिश्‍नर अनिल कुमार का कहना है कि हमने जांच के आदेश दे दिए हैं जो भी दोषी पाया जाएगा उसपर सख्‍त कार्रवाई होगी।

    Bengaluru में Covid-19 Positive ने सड़क पर तोड़ा दम, 2 घंटे तक पड़ी रही डेड बॉडी | वनइंडिया हिंदी
    सड़क पर पड़ी रही डेडबॉडी, 3 घंटे बाद पहुंची एंबुलेस

    सड़क पर पड़ी रही डेडबॉडी, 3 घंटे बाद पहुंची एंबुलेस

    दरअसल शुक्रवार को एक 64 वर्षीय व्यक्ति की कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद सड़क पर ही गिरकर मौत हो गई। उस व्यक्ति की डेडबॉडी तकरीबन 3 घंटे तक सड़क पर ही पड़ी रही। तीन घंटे बाद अस्पताल की एंबुलेंस आई। उस व्यक्ति की पत्नी ने बताया है कि जब उनके पति का कोरोना टेस्ट पॉजिटिव आया तो उन्होंने चार घंटे पहले ही अपने घर के पास एंबुलेंस मंगाई थी। वो नहीं चाहते थे कि कोरोना की जानकारी सुनकर पड़ोसियों में पैनिक क्रिएट हो। लेकिन वो बीच रास्ते में ही गिर पड़े और उनकी मौत हो गई।

    बीबीएमपी अधिकारी ने कही ये बात

    BBMP के एक अधिकारी ने कहा-दरअसल एंबुलेंस पहुंचने में देर कम्यूनिकेशन फेलियर की वजह से हुई। इस मामले में दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। शाम को शहर में हुई भारी बारिश की वजह से एंबुलेंस पहुंचने में और भी ज्यादा देर हुई। आपको बता दें कि एक हफ्ते पहले शहर में एक 52 वर्षीय व्यक्ति की मौत एंबुलेंस में ही हो गई थी। उसे 18 अस्पतालों ने अपने यहां एडमिट करने से मना कर दिया था। अस्पतालों को उस मामले में कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है।

    बेंगलुरु में अचानक बढ़ा है कोरोना का संक्रमण

    बेंगलुरु में अचानक बढ़ा है कोरोना का संक्रमण

    बेंगलुरु में चिंताजनक रूप से कोरोना मामले बढ़े हैं। बीते शनिवार से लेकर बुधवार के बीच में इस मेट्रोपोलिटन शहर में कोरोना मरीजों की संख्या दोगुनी हो गई है। शनिवार को शहर में जहां कोरोना के एक्टिव केस 1913 थे वहीं बुधवार को बढ़कर ये आंकड़ा 4649 तक पहुंच गया। अगर डबलिंग रेट के हिसाब से देखा जाए तो बेंगलुरु में कोरोना रोगियों की संख्या दिल्ली, मंबई और चेन्नई से भी तेजी से बढ़ रही है। हालांकि अगर कोरोना के कुल मामालों के हिसाब से देखा जाए तो बेंगलुरु अब भी अन्य महानगरों से कहीं पीछे है.।लेकिन अगर रफ्तार यही रही तो जल्दी ही स्थिति बेहद चिंताजनक हो जाएगी।

    पूरे कर्नाटक का है ये हाल

    पूरे कर्नाटक का है ये हाल

    बता दें कि कर्नाटक में शुक्रवार को एक दिन में सबसे ज्यादा 1694 लोगों में कोरोना वायरस के संक्रमण की पुष्टि हुई। स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि 21 और रोगियों की मौत के बाद मृतकों का आंकड़ा 293 हो गया। वहीं राज्य में 201 मरीजों का आईसीयू में उपचार चल रहा है। आज सामने आए 1694 मामलों में से 994 बेंगलुरू शहरी क्षेत्र के हैं।

    जल्‍द आ सकती है कोरोना की वैक्‍सीन लेकिन सबको नहीं पड़ेगी जरूरत, जानिए आप किस लिस्‍ट में हैंजल्‍द आ सकती है कोरोना की वैक्‍सीन लेकिन सबको नहीं पड़ेगी जरूरत, जानिए आप किस लिस्‍ट में हैं

    English summary
    Dead Body of Coronavirus Victim Remains Lying on Bengaluru Road for 3 Hours, Civic Body Blames Communication Failure.
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X