• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

शर्मनाक: पहले पिता ने किया सौदा, फिर 4 बार बेची गई ढाई महीने की बच्ची, DCW ने इस तरह बचाया

|

नई दिल्ली। कोरोना वायरस से जूझ रही राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली से एक शर्मसार कर देने वाली घटाना सामने आई है। यहां दिल्ली महिला आयोग को एक फोन कॉल पर शख्स ने बताया कि उसकी ढाई महीने की बेटी को बेचने की कोशिश की जा रही है। डीसीडबल्ल्यू को कॉल करने वाले शख्स ने अपना नाम अमनप्रीत बताया और इस सिलसिले में मदद मांगी। मामले पर संज्ञान लेते ही डीसीडबल्ल्यू की टीम ने तुरंत कार्रवाई की और दिल्ली पुलिस के साथ मिलकर बच्ची को मुक्त करा लिया गया है।

पहले पिता ने किया बेटी का सौदा

पहले पिता ने किया बेटी का सौदा

इस मामले में पुलिस ने पांच लोगों को गिरफ्तार किया है जिनमें से चार मानव तस्कर हैं और एक बच्ची का पिता है। दरअसल, ढाई महीने की बच्ची का पिता अमनप्रीत उसका पालन-पोषण करने में असमर्थ था, उसकी पहले से ही दो बेटियां हैं। ऐसे में उनसे अपनी बच्ची को दूसरे परिवार को 40 हजार रुपए में बेच दिया था। लेकिन बाद में उसे पता चला कि वह परिवार उसकी बेटी को कहीं और बेचने की फिराक में है।

आगे चार बार बेची गई बच्ची

इसकी जानकारी मिलते ही अमनप्रीत ने दिल्ली महिला आयोग का दरवाजा खटखटाया और मदद मांगी। मामले की जानकारी मिलते ही दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मलिवाल ने एक टीम का गठन किया और दिल्ली पुलिस की सहायता से बच्ची को सही-सलामत बरामद कर लिया। बच्ची के पुनर्वास की कोशिश चल रही है। इस मामले में पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक महिला आयोग की टीम बेटी के पिता अमनप्रीत के साथ सबसे पहले जाफराबाद पहुंची, जहां बच्ची के पिता ने उसे मनीषा नाम की महिला को सौंपा था।

दिल्ली पुलिस और महिला आयोग ने बचाया

दिल्ली पुलिस और महिला आयोग ने बचाया

बताए गए पते पर मनीषा वहीं नहीं मिली, इसके बाद टीम ने अमनप्रीत को मनीषा को फोन करने को कहा, फोन पर मनीषा ने बताया कि उसने बच्ची को आगे बेच दिया है। मनीषा की बातचीत के दौरान ही इस बात को खुलासा हुआ कि अमनप्रीत ने अपनी बच्ची 40 हजार में मनीषा को बेची थी। इसके बाद आयोग की टीम अमनप्रीत को थाने में ले गई और पुलिस ने उससे पूछताछ की, इस दौरान उसने बताया कि उसकी पहले से 2 बेटिंयां हैं और आर्थिक रूप से कमजोर होने के चलते उसने बेटी को 40,000 रुपए में बेच दिया।

पिता ने खोले कई राज

पिता ने खोले कई राज

पुलिस से सख्ती से पूछने पर अमनप्रीत ने मादीपुर में रहने वाली इंदु के घर का पता बताया, जब पुलिस वहां पहुंची तो इंदु ने बच्ची को आगे शकूरपुर में राधा नाम की महिला को बेच दिया था। इसके बाद डीसीडबल्ल्यू और दिल्ली पुलिस की संयुक्त टीम शकूरपुर के पते पर पहुंची जहां राधा की बहन मिली, उसने बताया कि उसने बच्ची को त्रिलोकपुरी में किसी जानकार के पास छोड़ा था। गुरुवार की सुबह बच्ची को सही सलामत बरामद कर लिया गया है।

पिता समेत चार महिलाएं गिरफ्तार

पिता समेत चार महिलाएं गिरफ्तार

इस मामले में दिल्ली पुलिस ने अमनप्रीत, इंदु, मंजू, मनीषा और राधा को गिरफ्तार कर लिया है। दिल्ली महिला आयोग चीफ स्वाति मालीवाल ने बताया कि एक ढाई महीने की बच्ची को DCW ने दिल्ली पुलिस के साथ मिलकर बचाया। तीसरी बेटी होने के कारण बाप ने इसे 40,000 में बेचा था। ये बच्ची 4 बार बिक चुकी है। 5 लोग अरेस्ट हुए जिसमें से 4मानव तस्कर हैं। दिल्ली पुलिस से अपील है कि वो इस मामले की तह तक जाए।

क्या भारत ने पार कर लिया है कोरोना का पीक? रिकवर हुए मरीजों की संख्या एक्टिव केस से 10 लाख अधिक

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
DCW rescues two and a half month old girl along with Delhi Police
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X