• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

CoWIN:वैक्सीनेशन हुआ आसान,अगले हफ्ते से हिंदी समेत इन भाषाओं में होगा काम

|

नई दिल्ली, 17 मई: जिन लोगों को अंग्रेजी की वजह से कोविन पोर्टल पर वैक्सीन के लिए रजिस्ट्रेशन करने में दिक्कत हो रही थी, उनके लिए बहुत ही राहत भरी खबर है। अगले हफ्ते से कोविन पोर्टल हिंदी के अलावा 14 क्षेत्रीय भाषाओं में भी उपलब्ध होगा। इनके अलावा कोरोना वायरस के वेरिएंट्स की निगरानी के लिए देश में 17 और लैबोरेटरी इंडियन एसएआएस-सीओवी-2 जीनोमिक्स कंसोर्टियम (आईएनएसएसीओजी) नेटवर्क से जोड़े जाएंगे। सोमवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से यह जानकारी दी गई है। मंत्रालय की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि इन फैसलों का ऐलान कोविड-19 पर बने उच्च स्तरीय ग्रुप ऑफ मिनिस्टर (जीओएम) की 26वीं बैठक के बाद की गई है, जिसकी अध्यक्षता केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने की है। यह बैठक वर्चुअल माध्यम से हुई है।

CoWIN:Vaccination becomes easy, by next week onwards, work will be done in Regional languages including Hindi

अब कोविन पोर्टल पर हिंदी में भी होगा काम
सोमवार को हुई बैठक में स्वास्थ्य मंत्री ने अपने मंत्री सहयोगियों को जानकारी दी कि आईएनएसएसीओजी नेटवर्क से 17 नई लैबोरेटरी जोड़ने से ज्यादा सैंपल का विश्लेषण किया जा सकेगा। इस समय इस नेटवर्क से देशभर के अलग-अलग हिस्सों में 10 लैबोरेटरी जुड़े हुए हैं। इस दौरान केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव ने बैठक में मौजूद मंत्रियों और अधिकारियों को बताया कि अगले हफ्ते तक कोविन पोर्टल हिंदी के अलावा 14 क्षेत्रीय भाषाओं में भी उपलब्ध होगा। इस बैठक में डीजी आईसीएमआर ने भी ये जानकारी दी कि होम-आइसोलेशन गाइडलाइंस को भी व्यापक पहुंच के लिए हिंदी और क्षेत्री भाषाओं में कर दिया गया है।

इसे भी पढ़ें- एक कोरोना मरीज से 1 से भी कम व्यक्ति हो रहा है संक्रमित, पहली बार इतना कम हुआ R countइसे भी पढ़ें- एक कोरोना मरीज से 1 से भी कम व्यक्ति हो रहा है संक्रमित, पहली बार इतना कम हुआ R count

टेस्ट की क्षमता में भारी इजाफे की तैयारी
इस दौरान स्वास्थ्य मंत्री ने जानकारी दी की केंद्र राज्यों को महामारी से निपटने में सहयोग के लिए हर तरह से मदद दे रहा है। उनके मुताबिक राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को 4.22 करोड़ एन95 मास्क, 1.76 करोड़ पीपीई किट, 52.64 लाख रेमडेसिविर इंजेक्शन और 45,066 वेंटिलेटर उपलब्ध करवाए हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी बयान में टेस्टिंग क्षमता बढ़ाने के लिए मोबाइल आरटी-पीसीआर टेस्टिंग वैन तैनात करने और रैपिड एंटीजन टेस्ट बढ़ाने की भी बात रखी गई है। इस समय देश में एक दिन में करीब 25 लाख टेस्ट की क्षमता है (13 लाख आरटी-पीसीआर, 12 लाख आरएटी) है। नई टेस्टिंग व्यवस्था में इसे बढ़ाकर 45 लाख (18 लाख आरटीपीसीआर, 27 लाख आरएटी) रोजाना तक करने की कोशिश है।

English summary
CoWIN portal will now work in 14 regional languages including Hindi, new arrangement will start next week
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X