• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Covid19: जानिए, किसके लिए सिरदर्द बन गए हैं मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग जैसे उपाय

|

नई दिल्ली। कोरोनोवायरस महामारी के प्रसार के बीच सुरक्षा एजेंसियों के लिए बुरे सपने की तरह हैं। यह इसलिए, क्योंकि महामाारी के कारण उनके सामने विभिन्न खतरे उभरे हैं। इनमें फ़िशिंग, साइबर हमले, इन्फोडेमिक और मालवेयर जैसी समस्याएं प्रमुख हैं। इसके अलावा Covid19 संक्रमण के प्रसार के रोकथाम के लिए प्रभावी मास्क भी सुरक्षा अधिकारियों के लिए परेशान का बड़ा सबब बन गए हैं।

police

सुरक्षा से जुड़े एक सुरक्षा अधिकारी ने वनइंडिया को बताया कि मास्क उनके लिए एक बड़ा सिरदर्द बन गया है, क्योंकि सीसीटीवी फुटेज देखकर अपराधों पर नकेल कसना बेहद मुश्किल हो गया है, क्योंकि संदेह वाले अपराधियों का चेहरा भी मास्क से ढंका होगा।

police

क्या आपके Gmail एकाउंट में भी आए हैं ऐसे दावों वाले मेल? गूगल ने 18 मिलियन मैलवेयर का पता लगाया

उन्होंने बताया कि यह समस्या सीसीटीवी फुटेज तक ही सीमित नहीं हैं, बल्कि मास्क की वजह से हवाई अड्डों और अन्य स्थानों पर लोगों की स्क्रीनिंग करना भी बहुत मुश्किल होगा। उन्होंने बताया कि यह अभी भी चुनौतीपूर्ण बना रहेगा, क्योंकि संदेहास्पद व्यक्ति को अपना चेहरा ढंकना होगा।

लॉकडाउन: भारतीय उद्योग के राजस्व में 40% गिरावट की उम्मीद, उबरने में पूरा साल लगेगा

police

गौरतलब है सुरक्षा अधिकारियों के लिए सोशल डिस्टेंसिंग मानदंड भी एक अतिरिक्त चुनौती बना हुआ हैं। हालांकि उन्होंने कहा कि यह एक असाधारण समय हैं और मास्क के साथ ही साथ सोशल डिस्टेंसिंग मानदंड दोनों बेहद महत्वपूर्ण हैं।

Covid Hotspots: ये फैक्टर भी कोरोना वायरस संक्रमण में तेजी के लिए हो सकते हैं बड़े जिम्मेदार!

police

हालांकि इस बीच हमलावर तकनीकों में फ़िशिंग सबसे आम बनी हुई है, जिसका प्रमुख टारगेट WHOहैं, जहां हमलावर दुनिया भर में कथित प्राधिकरण के संदर्भ में एक स्पैमिंग ईमेल और संदेश के माध्यम से भेष बदलकर हमला करता है। हमलावर ईमेल यूजर्स को सुरक्षा छलावों के जरिए एक URL अथवा डाक्यूमेंट को डाउनलोड करवाकर पीड़ितों को नुकसान पहुंचाने का कोशिश करेगा।

बॉयज़ लॉकर रूम पेज का ग्रुप एडमिन गिरफ्तार, 12वीं का छात्र है एडमिन

police

इसके अलावा स्कैमर भी दर्शकों को भ्रमित करने के लिए हूबहू असली की तरह एक नकली डोमेन पंजीकृत करेगा। इन्फोडेमिक भी एक एक और बड़ी समस्या है, जिसका दुनिया सामना कर रही है। इसके बारे में कहा जाता है कि हमलावर बायो हथियार के रूप में इस्तेमाल करके बड़े पैमाने पर हिस्टीरिया पैदा किया जा रहा है। इसका उपयोग नस्लवाद को उकसाने के लिए भी किया जाता है।

युवक चार्जिंग के दौरान स्मार्टफोन पर गेम खेल रहा था और 2 दिन बाद कमरे में मिली उसकी लाश!

police

दूसरा मुद्दा है कि कोरोनोवायरस के प्रकोप के बाद पंजीकृत वेबसाइटों की बढ़ती संख्या है, जहां गलत सूचना फैलाई गई है। ऐसे वेबसाइट्स पर फ़िशिंग पृष्ठों को होस्ट किया जा रहा है और वहां पर वैध ब्रांडों को लगाया जा रहा है। इसके अलावा यह भी देखा गया है कि इंटरनेट मास्क और अन्य सुविधाओं वाले विज्ञापनों से भर गए हैं, जो कि बिटकॉइन और उसके कस्टमाईज्ड रूपों के बदले में रियायती दरों पर लोगों को ऑफर किए जा रहे हैं।

Covid-19 वैक्सीन पर मिली सफलता को हम पूरी दुनिया के साथ साझा करेंगेः इजरायली राजदूत

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
A security officer associated with defense affairs told OneIndia that the mask had become a major headache for him, as CCTV footage made it very difficult to crack down on crimes, as the faces of suspected criminals would also be covered by masks. He explained that this problem is not limited to CCTV footage, but because of the mask it will be very difficult to screen people at airports and other places.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Oneindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Oneindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more