• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Covid19: वैश्विक महामारी के खिलाफ लड़ाई में शीर्ष पर हैं भारत, कनाडा और ऑस्ट्रेलिया

|

नई दिल्ली। ऐसे समय में जब कई देशों द्वारा कोरोना वायरस महामारी को फैलने से रोकने के लिए सख्त लॉकडाउन लागू है। वहीं, केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय (MOHFW) और दुनिया भर के आंकड़ों से पता चला है कि पश्चिम के अधिकांश देशों की तुलना में भारत को 12,000 या उससे अधिक Covid19 पॉजिटिव रोगियों की संख्या तक पहुंचने अधिक समय लगा है।

जानिए, कितनी होगी उस वैक्सीन की कीमत, जिसे कोरोना के खिलाफ तैयार कर रहा सीरम इंस्टीट्यूट

Covid19

आंकड़ों के मुताबिक भारत में संक्रमितों लोगों दर से पता चलता है कि भारत में कोरोना वायरस रोगियों की संख्या 3000-6000 तक पहुंचने में कुल छह दिन का समय लिया था और भारत में पिछले सप्ताह ही यह संख्या दोगुने से अधिक यानी 12,799 पहुंच चुका है।

Covid19

12 अगस्‍त को रूस से आ रही है पहली कोरोना वायरस वैक्‍सीन, जानिए इसके बारे में सबकुछ

Covid19: लॉकडाउन के कारण अकेले विमानन क्षेत्र में खतरे में हैं 20 लाख नौकरियां!

स्वास्थ्य मंत्रालय में एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि गत 25 मार्च से 21 दिनों के लिए शुरू हुए लॉकडाउन 1.0 में महामारी को रोकने के लिए भारत का प्रयास सफल रहा, जिसे दुनिया भर में महामारी को टालने के व्यापक अभ्यास के रूप में देखा गया।

Covid19

उन्होंने कहा कि रेल नेटवर्क और घरेलू हवाई अड्डों पर प्रतिबंधों के साथ संयुक्त प्रतिबंध ने अब कार्यस्थल के मानदंडों को निर्धारित करते हुए औद्योगिक क्षेत्रों और ग्रामीण क्षेत्रों में गतिविधि फिर से शुरू करने का भारत को अवसर दिया है और अब हम लॉकडाउन 2.0 के दौरान भी 20 अप्रैल से इन क्षेत्रों में परिचालन शुरू करते हैं।

Covid19 वॉरियर्स: 'मैं स्वाद या गंध पहचानने असमर्थ थी' रिकवर हुई महिला ने इंस्टाग्राम पर साझा किया दर्द!

संक्रमितों की 3000 से 6000 तक पहुंचने में भारत ने 6 दिन का समय लिया

संक्रमितों की 3000 से 6000 तक पहुंचने में भारत ने 6 दिन का समय लिया

आंकड़ों के मुताबिक भारत में संक्रमितों लोगों दर से पता चलता है कि भारत में कोरोना वायरस रोगियों की संख्या 3000-6000 तक पहुंचने में कुल छह दिन का समय लिया था और भारत में पिछले सप्ताह ही यह संख्या दोगुने से अधिक यानी 12,799 पहुंच चुका है।

लॉकडाउन 1.0 में महामारी को रोकने के लिए भारत का प्रयास सफल रहा

लॉकडाउन 1.0 में महामारी को रोकने के लिए भारत का प्रयास सफल रहा

स्वास्थ्य मंत्रालय में एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि गत 25 मार्च से 21 दिनों के लिए शुरू हुए लॉकडाउन 1.0 में महामारी को रोकने के लिए भारत का प्रयास सफल रहा, जिसे दुनिया भर में महामारी को टालने के व्यापक अभ्यास के रूप में देखा गया।

लॉकडाउन 2.0 के दौरान 20 अप्रैल से परिचालन शुरू कर सकते हैं

लॉकडाउन 2.0 के दौरान 20 अप्रैल से परिचालन शुरू कर सकते हैं

रेल नेटवर्क और घरेलू हवाई अड्डों पर प्रतिबंधों के साथ संयुक्त प्रतिबंध ने अब कार्यस्थल के मानदंडों को निर्धारित करते हुए औद्योगिक क्षेत्रों और ग्रामीण क्षेत्रों में गतिविधि फिर से शुरू करने का अवसर दिया है, अब हम लॉकडाउन 2.0 के दौरान भी 20 अप्रैल से इन क्षेत्रों में परिचालन शुरू कर सकते हैं।

Covid19 मामले 10,000 पार करने वाले दिन हुए 2.1 लाख परीक्षण

Covid19 मामले 10,000 पार करने वाले दिन हुए 2.1 लाख परीक्षण

MOHFW के आंकड़े यह भी बताते हैं कि जिस दिन Covid19 के मामले 10,000 अंक को पार कर गए थे उस दिन 2.1 लाख परीक्षण किए गए थे जबकि दो सप्ताह पहले जब पॉजिटिव मामले 5000 अंक पार कर गए थे, जब भारत में 1.14 लाख परीक्षण किए गए थे। केवल कनाडा ही एक ऐसा देश था, जिसने इस पैरामीटर पर भारत से बेहतर प्रदर्शन किया है। कनाडा ने इसी मामले की पॉजिटिव संख्या के लिए 2.9 लाख परीक्षण और 2.4 लाख परीक्षण किए।

घनी आबादी के बावजूद प्रति 10 लाख आबादी पर भारत में केवल 9 मामले

घनी आबादी के बावजूद प्रति 10 लाख आबादी पर भारत में केवल 9 मामले

MOHFW और वर्ल्डोमीटर के आंकड़े यह भी बताते हैं कि भारत घनी आबादी के बावजूद प्रति 10 लाख आबादी पर केवल 9 मामले सामने आए हैं। इस मामले में भारत ऑस्ट्रेलिया( 253), जापान (68) और दक्षिण कोरिया ( 207) से काफी पीछे हैं। इस मामले में भारत न केवल अमेरिका (1946) बल्कि स्पेन (3864) और इटली (2732) से भी पीछे है।

 प्रति 10 लाख आबादी में होने वाली मौतों के मामले में भी भारत बेहतर

प्रति 10 लाख आबादी में होने वाली मौतों के मामले में भी भारत बेहतर

आंकड़ों से यह भी पता चलता है कि प्रति 10 लाख आबादी में होने वाली मौतों के मामले में भी भारत अपने एशियाई पड़ोसी देशों मसलन ऑस्ट्रेलिया (2), जापान (1), दक्षिण कोरिया (4) जैसे ट्रांसकॉन्टिनेंटल देशों से पीछे है। इसी श्रेणी में स्पेन (402), इटली (358), फ्रांस (263) और यूके (190) ने 100 का आंकड़ा पार कर लिया है।

Covid19

MOHFW के आंकड़े यह भी बताते हैं कि जिस दिन Covid19 के मामले भारत में 10,000 अंक को पार कर गए थे उस दिन 2.1 लाख परीक्षण किए गए थे जबकि दो सप्ताह पहले जब पॉजिटिव मामले 5000 अंक पार कर गए थे, जब भारत में 1.14 लाख परीक्षण किए गए थे।

Covid19

इस मामले में केवल कनाडा ही एक ऐसा देश था, जिसने इस पैरामीटर पर भारत से बेहतर प्रदर्शन किया है। कनाडा ने इसी मामले की पॉजिटिव संख्या के लिए 2.9 लाख परीक्षण और 2.4 लाख परीक्षण किए, जबकि इटली ने इसी मामले की पॉजिटिव संख्या के लिए covid19 संदिग्धों के केवल 73,154 और 49,937 परीक्षण किए गए थे, जहां अब तक 21,645 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है।

Covid19

Covid19: महामारी का रोजगार पर बड़ा असर, भारत में 23 फीसदी से अधिक हुई बेरोजगारी

MOHFW और वर्ल्डोमीटर के आंकड़े यह भी बताते हैं कि भारत की घनी आबादी के बावजूद प्रति 10 लाख आबादी पर केवल 9 मामले सामने आए हैं और इस मामले में भारत ऑस्ट्रेलिया( 253), जापान (68) और दक्षिण कोरिया ( 207) से काफी पीछे हैं। इस मामले में भारत न केवल अमेरिका (1946) बल्कि स्पेन (3864) और इटली (2732) से भी काफी पीछे है।

Covid19

आंकड़ों से यह भी पता चलता है कि प्रति 10 लाख आबादी में होने वाली मौतों के मामले में भी भारत ने अपने एशियाई पड़ोसी देशों मसलन ऑस्ट्रेलिया (2), जापान (1), दक्षिण कोरिया (4) जैसे ट्रांसकॉन्टिनेंटल देशों से पीछे छोड़ा है। इसी श्रेणी में स्पेन (402), इटली (358), फ्रांस (263) और यूके (190) ने 100 का आंकड़ा पार कर लिया है।

लॉकडाउन के कारण 60 सालों में पहली बार थम जाएगा एशियाई देशों का विकास- IMF

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
A senior official in the Ministry of Health said that India's effort to stop the epidemic was successful in Lockdown 1.0, which began for 21 days from March 25, which was seen as a widespread practice of avoiding the epidemic worldwide. The ban, combined with the restrictions on the rail network and domestic airports, has given India the opportunity to resume activity in industrial areas and rural areas by setting workplace norms and we will now be in place during the lockdown 2.0 from April 20 Start operations in areas.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Oneindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Oneindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more