• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

भारत में शुरू हो चुका है कोरोना वायरस का कम्‍युनिटी ट्रांसमिशन, आईएमए ने कहा स्थिति बहुत खराब, दी ये बड़ी चेतावनी

|

नई दिल्ली। भारत में कोरोना वायरस से संक्रमितों का आंकड़ा 10 लाख के पार पहुंच चुका है। वहीं एक बुरी खबर ये भी है कि भारत में कोरोना का कम्‍युनिटी ट्रांसमिशन शुरू हो चुका है। यानी कि अब भारत में भी कोरोना समुदाय में फैलना आरंभ हो चुका है। ये खुलासा इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) ने शनिवार को किया है। इसके साथ आईएमए ने अपनी रिपोर्ट में कोरोना को लेकर कुछ ऐसे भी खुलासे किए हैं जिसने सभी की चिंता और बढ़ा दी है।

भारत में कोविड -19 का सामुदाय में प्रसार शुरू हो गया है

भारत में कोविड -19 का सामुदाय में प्रसार शुरू हो गया है

रिपोर्ट के अनुसार भारत में 34,000 से अधिक नए मामले दर्ज किए और जिसके बाद अब भारत में कुल मिलाकर 10.38 लाख का आंकड़ा पार कर चुका है। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) ने शनिवार को कहा कि भारत में कोविड -19 का सामुदाय में प्रसार शुरू हो गया है और स्थिति बहुत खराब हो चुकी है। इस बयान को आईएमए हॉस्पिटल बोर्ड ऑफ इंडिया के चेयरपर्सन डॉ वीके मोंगा को सौंपते हुए, रिपोर्ट में कहा "यह अब एक खतरनाक वृद्धि है"।

IIT दिल्ली ने लॉन्च की दुनिया की सबसे सस्‍ती कोविड -19 टेस्टिंग किट, जानें कितनी होगी कीमत

अब ग्रामीण क्षेत्रों में फैल रहा है कोरोना, यह एक बुरा संकेत है

अब ग्रामीण क्षेत्रों में फैल रहा है कोरोना, यह एक बुरा संकेत है

डॉ वीके मोंगा ने कहा कि स्थिति वास्तव में खराब है और यह अब एक समुदाय का प्रसार दर्शाता है। इसके साथ कई कारक जुड़े हैं लेकिन कुल मिलाकर यह अब ग्रामीण क्षेत्रों में फैल रहा है। डॉ. मोंगा ने कहा, संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। रोज 30 हजार से ज्यादा मामले आ रहे हैं। यह अच्छी स्थिति नहीं है। यह एक बुरा संकेत है। यह अब और बुरी स्थिति हो जाएगी क्योंकि ये अब समुदाय को फैलना शुरु हो चुका है।

सितंबर तक देश में कोराना की स्थिति होगी भयावह, IISC के दावे डराने वाले

स्थिति को नियंत्रित करना बहुत मुश्किल हो जाएगा

स्थिति को नियंत्रित करना बहुत मुश्किल हो जाएगा

मौजूदा स्थिति के बारे में डॉ मोंगा ने कहा कि यह खतरनाक संकेत है, जो सामुदायिक प्रसार को दर्शाता है। महामारी के छोटे कस्बों और ग्रामीण इलाकों में फैलने पर नियंत्रण कर पाना मुश्किल होगा। उन्होंने कहा, हम इसे दिल्ली में रोकने में सक्षम थे, लेकिन यह महाराष्ट्र, केरल, गोवा, मध्य प्रदेश जैसे राज्यों के सुदूर गांवों और कस्बों में कैसे संभव होगा, जहां नए हॉटस्पॉट बन सकते हैं?

डॉक्‍टर मोंगा ने कहा राज्य सरकारों को पूरी सावधानी बरतनी चाहिए

डॉक्‍टर मोंगा ने कहा राज्य सरकारों को पूरी सावधानी बरतनी चाहिए

डॉक्‍टर मोंगा ने कहा कि राज्य सरकारों को पूरी सावधानी बरतनी चाहिए और स्थिति को संभालने के लिए केंद्र से मदद लेनी चाहिए।उन्‍होंने कहा कि यह एक वायरल बीमारी है जो बहुत तेजी से फैलती है। इस बीमारी को रोकने के लिए केवल दो विकल्प हैं। उन्होंने कहा, इस बीमारी को रोकने के दो ही तरीके हैं। पहला, 70 फीसदी आबादी इस महामारी के संपर्क में आ जाए और प्रतिरक्षा विकसित हो जाए। दूसरा, बाजार में इसकी दवा आ जाए।आंगनबाड़ी व आशा कर्मियों की कोरोना से मौत होने पर परिजनों को प्रति माह 7500 रुपये देगी ओडिशा सरकार

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय का ये दावा है झूठा क्योंकि .....

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय का ये दावा है झूठा क्योंकि .....

बता दें आईएमए की ये रिपोर्ट इसलिए महत्वपूर्ण है क्योंकि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि कोविड -19 का सामुदायिक प्रसारण भारत में अभी तक शुरू नहीं हुआ है, यह दावा स्वतंत्र स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा दृढ़ता से किया गया है। बता दें सरकार ये दावा इस सच्‍चाई के बावजूद कर रही है कि जब कि कोरोना से सर्वाधिक प्रभावित देशों में भारत तीसरे नंबर पर पहुंच चुका है जिसमें अमेरिका पहले और ब्राजील नंबर पर है। कुछ दिनों पूर्व तक भारत इस सूची में चौथे स्‍थान पर था और रुस तीसरे पर, लेकिन पिछले दिनों भारत में केस बढ़ने के बाद भारत तीसरे नंबर पर पहुंच चुका है। शनिवार के ,केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि भारत में अब तक 10,38,716 लोगों ने कोविड -19 का टेस्‍ट पॉजिटिव पाया गया इनमें से 6,53,751 की रिकवरी हुई है, जबकि 26,273 की अब तक मौत हो चुकी है।

जानें, कोरोना के चार चरण क्या हैं

जानें, कोरोना के चार चरण क्या हैं

गौरतलब है कि कोरोना वायरस के फैलने के चार चरण हैं। जिसमें पहले चरण में वे लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए जो दूसरे देश से संक्रमित होकर भारत में आए। यह स्टेज भारत पार कर चुका है बहुत दिनों पहले ही पार कर चुका हैं। दूसरे चरण में स्थानीय स्तर पर संक्रमण फैलता है, लेकिन ये वे लोग होते हैं जो किसी ना किसी ऐसे संक्रमित शख़्स के संपर्क में आए जो विदेश यात्रा करके लौटे थे। ये चरण भी भारत पार का चुका है और तीसरा और थोड़ा ख़तरनाक स्तर है 'कम्युनिटी ट्रांसमिशन' का, जिसे लेकर भारत सरकार लगातार इंकार कर रही है लेकिन आईएमए ने ये खुलासा कर दिया है कि भारत में समुदाय में कोरोना फैलना शुरु हो चुका है।

ये राज्य सरकार कोरोना मरीजों के लिए प्‍लाज्मा दान करने वाले लोगों को दे रही ये बड़ा ऑफर

क्यों खतरनाक है कम्युनिटी ट्रांसमिशन

क्यों खतरनाक है कम्युनिटी ट्रांसमिशन

कम्युनिटी ट्रांसमिशन तब होता है जब कोई व्यक्ति किसी ज्ञात संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आए बिना या वायरस से संक्रमित देश की यात्रा किए बिना ही इसका शिकार हो जाता है। पिछले दो सप्ताह में जितनी बार भारत सरकार के वरिष्ठ अधिकारियों ने प्रेस वार्ता की है, उसमें इस बात पर विशेष ज़ोर दिया गया है कि भारत में अभी तीसरा चरण नहीं आया है और चौथा चरण होता है, जब संक्रमण स्थानीय स्तर पर महामारी का रूप ले लेता हैं।

बिग बॉस सीजन 13 की प्रतिभागी हिमांशी खुराना ने भी करवाया कोरोना टेस्‍ट, जानें क्या आई रिपोर्ट

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Covid situation in India is very bad because community spread has started in India:Indian Medical Association
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X