TV सीरियल देख लड़की ने पिता पर किया रेप केस, फिर बोली- प्यार से किस करते थे

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi
    Delhi: TV Serial देख कर बेटी ने पिता पर लगाया Rape का आरोप | वनइंडिया हिंदी

    नई दिल्ली। दिल्ली की स्पेशल कोर्ट ने एक व्यक्ति को अपनी ही बेटी के रेप के आरोप में बरी कर दिया। कोर्ट ने रेप के आरोपी पिता को तब बरी कर दिया जब उसकी 11 वर्षीय बेटी अदालत में अपने पिछले बयान से मुकर गई। लड़की ने कोर्ट में कहा है कि उसने टीवी सीरियल 'सावधान इंडिया' देखकर पिता के खिलाफ रेप का केस दर्ज कराया था क्योंकि सीरियल में दिखाया गया था कि पिता द्वारा किस करना गलत है। सीआरपीसी की धारा 164 के तहत जज को दिए बयान में लड़की ने बताया कि उसके पिता ने कुछ भी गलत नहीं किया है।

    मैंने मां और पुलिस को बढ़ा-चढ़ाकर बोला था

    मैंने मां और पुलिस को बढ़ा-चढ़ाकर बोला था

    उसने मजिस्ट्रेट को बताया कि छोटी-छोटी बातों को लेकर माता-पिता के बीच होने वाले झगड़े के चलते वह पिता से नाराज थी। लड़की ने अपने बयान में कहा, 'मैंने मां और पुलिस को बढ़ा-चढ़ाकर बोला। पिता प्यार से किस करते थे। मैंने गलत समझ लिया था। 'अदालत में दिए लड़की के बयान के बाद जज प्रेम कुमार बार्थवाल ने कहा, 'संभव है कि लड़की को ऐसा बयान देने के लिए कहा गया।' लेकिन उसके बयान में कोई आरोप नहीं होने पर, आरोपी को दोषी नहीं ठहराया जा सकता है। पिछले साल 9 सितंबर को लड़की द्वारा शिकायत दर्ज करवाए जाने के बाद लड़की का मेडिकल टेस्ट करवाया गया था।

    लड़की की सुरक्षा को देखते हुए उसे प्रार्थना होम में रखा गया

    लड़की की सुरक्षा को देखते हुए उसे प्रार्थना होम में रखा गया

    उसे एक एनजीओ ने मामले में सलाह भी दी। जिसके बाद उसकी मां ने शिकायत दर्ज की थी। एफआईआर फ्रेंड्स कॉलोनी पुलिस स्टेशन में आईपीसी धारा और पोक्सो एक्ट के तहत आरोपी पिता के खिलाफ दर्ज की गई। चूंकि आरोपी लड़की का पिता था इसलिए लड़की की सुरक्षा को देखते हुए उसे प्रार्थना होम में रखा गया। उसी दिन पुलिस ने सीआरपीसी की धारा 164 के तहत जज के सामने लड़की को पेश करने से उसका बयान दर्ज किया था।

     पेरेंट्स मीटिंग बताई थी यौन शोषण की बात

    पेरेंट्स मीटिंग बताई थी यौन शोषण की बात

    केस के ट्रायल के दौरान कोर्ट में मामले की दो गवाह लड़की और उसकी मां थी। लेकिन दोनों ही अपने बयान से मुकर गईं। लड़की की मां ने बताया कि वह पेरेंट्स मीटिंग अटैंड करने स्कूल गई थी। वहां उसे जब उसने अपनी बेटी से उसके खराब प्रदर्शन के बारे में पूछा तो लड़की ने रोना शुरू कर दिया। तब उसने बताया कि यौन उत्पीड़न का शिकार हुई है। पूछताछ के दौरान मां ने बताया कि उसने अपनी बेटी को पिता के खिलाफ झूठी गवाही देने के लिए डांटा भी क्योंकि उसे लगता था कि हम हर समय लड़ते रहते हैं। जिससे उसकी पढ़ाई प्रभावित हो रही थी।

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    A special court has acquitted a man accused of rape after his 11-year-old daughter turned hostile in court

    Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
    पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.