• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

कोरोना वायरस: स्वास्थ्य मंत्रालय ने होम आइसोलेशन के लिए जारी की संशोधित गाइडलाइंस, यहां पढ़ें

|

नई दिल्ली। कोरोना वायरस (कोविड-19) से संक्रमित मरीजों के लिए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने होम आइसोलेशन की गाइडलाइंस में संशोधन किया है। अब जारी की गईं नई गाइलाइंस में बहुत हल्के/ प्री-सिम्प्टोमैटिक/ एसिम्प्टोमैटिक कोविड-19 मामलों को भी शामिल किया गया है। हालांकि जो मरीज इम्यून संबंधित परेशानी जैसे एचाआईवी, कैंसर से जूझ रहे हैं, उन्हें होम आइसोलेशन की इजाजत नहीं है। ऐसे लोगों को अस्पताल में ही अपना इलाज कराना होगा।

    Coronavirus: Health Ministry ने Home Isolation के लिए जारी की नई गाइडलाइन | वनइंडिया हिंदी

    कोरोना वैक्सीन: ऑक्सफोर्ड ही नहीं, ये 6 वैक्सीन भी पहुंच चुकी हैं थर्ड फेज के ट्रायल में

    coronavirus, health ministry, home isolation, covid-19, coronavirus home isolation, home isolation guidelines, home isolation revised guidelines, home isolation in delhi, home isolation meaning in hindi, home isolation guidelines delhi, guidelines, patient, कोरोना वायरस, कोविड-19, आइसोलेशन, होम आइसोलेशन, कोविड-19, कोरोना वायरस होम आइसोलेशन, दिशा-निर्देश, गाइडलाइंस, स्वास्थ्य मंत्रालय, कोरोना वायरस मरीज, होम आइसोलेशन दिल्ली, होम आइसोलेशन नियम

    ये हैं संशोधित गाइडलाइंस-

    • बहुत हल्के या बिना किसी लक्षण वाले वो लोग जिन्हें कोई दूसरी बीमारी नहीं है, होम आइसोलेशन में रहते हुए इलाज करवा सकते हैं। लेकिन डॉक्टर की इजाजत लेनी होगी।
    • होम आइसोलेशन के लिए घर में रहने की पूरी व्यवस्था होनी चाहिए, साथ ही परिवार के सदस्यों के लिए भी क्वारंटाइन की जगह होनी चाहिए।
    • जो कोरोना मरीज अन्य किसी बीमारी जैसे एचआईवी या फिर कैसर से पीड़ित हैं, वह होम आइसोलेशन में नहीं रह सकते।
    • 60 साल से ऊपर के बुजुर्ग और डायबिटीज, हाईपर टेंशन, हार्ट, कैंसर, किडनी और फेफड़ों से संबंधित बीमारी वाले लोगों को इलाज करने वाले चिकित्सा अधिकारी द्वारा उचित मूल्यांकन के बाद ही होम आइसोलेशन की मंजूरी मिलेगी।
    • जो भी मरीज का देखभालकर्ता होगा, वह उसके पास 24 x7 रहना चाहिए। आइसोलेशन अवधि के दौरान देखभालकर्ता को अस्पताल से संपर्क करते रहना जरूरी होगा।
    • देखभालकर्ता और ऐसे मामलों के सभी करीबी संपर्क वाले लोगों को प्रोटोकॉल के अनुसार और चिकित्सा अधिकारी द्वारा प्रिसक्राइब किए जाने पर हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन प्रोफिलैक्सिस लेनी चाहिए।
    • सभी के फोन में आरोग्य सेतु एप का होना आवश्यक है और ये हर समय एक्टिव होना चाहिए।
    • मरीज को अपने स्वास्थ्य की निगरानी करने के लिए सहमत होना होगा और नियमित रूप से अपने स्वास्थ्य की स्थिति को जिला निगरानी अधिकारी को सूचित करना होगा, ताकि वह आगे की सुविधा प्रदान कर सकें।
    • मरीज को सेल्फ-आइसोलेशन के लिए अंडरटेकिंग भरना होगा और होम आइसोलेशन के सभी नियमों का पालन करना होगा। इसके साथ ही इलाज करने वाले डॉक्टर को ये पूरी तरह से सुनिश्चित करना होगा मरीज के लिए सेल्फ आइसोलेशन ठीक है या नहीं।
    • देखभालकर्ता और मरीज को सभी आवश्यक निर्देशों का पालन करना होगा।

    12 अगस्‍त को रूस से आ रही है पहली कोरोना वायरस वैक्‍सीन, जानिए इसके बारे में सबकुछ

    भारत में कोरोना वायरस की दूसरी वैक्सीन भी तैयार, मानव परीक्षण के लिए मिली मंजूरी

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    coronavirus update health ministry of india issued revised home isolation guidelines for covid 19 patients
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X