• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

अगस्त-सितंबर तक आ सकती है कोरोना की तीसरी लहर: एम्स डायरेक्टर

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली, 23 जुलाई। कोरोना महामारी की तीसरी लहर का खतरा लगातार देश पर मंडरा रहा है। लोगों को इस बात का डर सता रहा है कि एक बार फिर से कोरोना की तीसरी लहर आ सकती है। जिस तरह से कुछ महीने पहले कोरोना की दूसरी लहर आई थी, उसमे बड़ी संख्या में लोगों ने अपनी जान गंवा दी थी। इस बीच एम्स के डायरेक्टर डॉक्टर रणदीप गुलेरिया ने लोगों से मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग और टीकाकरण को अपनाने की सलाह दी है। उन्होंने कहा कि लोगों को ढिलाई नही बरतनी चाहिए, नहीं तो यह खतरनाक हो सकती है।

    Coronavirus India Update: एम्स डायरेक्टर ने Corona की Third Wave को लेकर दि चेतावनी
    aiims

    एंटिबॉडी के बावजूद हो सकता है संक्रमण

    हाल ही में सिरो सर्वे आया था जिसमे कहागया था के देश में दो तिहाई आबादी में कोरोना की एंटीबॉडी मौजूद है। ऐसे में सवाल यह उठता है कि क्या दो तिहाई लोग कोरोना से सुरक्षित हैं इसपर डॉक्टर गुलेरिया का कहना है कि मुझे नहीं लगता है कि हम ऐसा कह सकते हैं। हमे पता है कि एंटिबॉडी समय के साथ खत्म हो जाएगी, दूसरी बात हमे यह नहीं पता है कि कितने लोगों में एंटिबॉडी आने के बाद लोग सुरक्षित हैं। पिछले साल कई ऐसे मामले सामने आए थे जिनके भीतर एंटिबॉडी थी बावजूद इसके वो संक्रमित हुए थे।

    लोगों के गलत रवैये से साफ संकेत

    कोरोना की तीसरी लहर के बारे में डॉक्टर गुलेरिया ने कहा कि बहुत अधिक संभावना है कि कोरोना की तीसरी लहर सितंबर या अक्टूबर में आ सकती है क्योंकि अगर हम चीजों को देखे कि वह किस तरह से हुई है तो इस बात के अधिक संकेत हैं। जैसे ही लोगों को प्रतिबंध से राहत मिली लोगों की भारी भीड़ पर्यटन स्थलों पर देखने को मिली, बड़ी संख्या में लोग ट्रैवल कर रहे हैं, लोग प्रोटोकॉल का पालन नहीं कर रहे हैं। हम चार लाख केस प्रतिदिन से 30 हजार केस प्रति दिन तक पहुंच गए हैं, लेकिन अगर आप पहले लहर पर नजर डालें तो उस वक्त भी नंबर बड़ी संख्या में कम हुए थे, लेकिन बाद में दूसरी लहर आई थी। । इस बात की संभावना है कि अगले कुछ हफ्तों के बाद या फिर सितंबर तक तीसरी लहर आ सकती है।

    इसे भी पढ़ें- पेगासस पर नया खुलासा, निगरानी वाली लिस्ट में था अनिल अंबानी और पूर्व CBI प्रमुख का नंबरइसे भी पढ़ें- पेगासस पर नया खुलासा, निगरानी वाली लिस्ट में था अनिल अंबानी और पूर्व CBI प्रमुख का नंबर

    बच्चों पर पड़ेगा असर

    क्या कोरोना की तीसरी लहर बच्चों पर अधिक असर डालेगी, इस सवाल पर डॉक्टर गुलेरिया का कहना है कि बच्चे वैक्सीन से सुरक्षित नहीं हैं, ऐसे में जो लोग वैक्सीन से सुरक्षित नहीं हैं उनपर कोरोना की तीसरी लहर असर डाल सकती है। जब संक्रमण के मामले बढ़ेंगे तो इसका असर उन लोगों पर सबसे अधिक होगा जो वैक्सिनेटेड नहीं हैं और बच्चे भी उसमे शामिल हैं। डॉक्टर गुलेरिया ने कहा कि हमने जो बच्चों की वैक्सीन के लिए ट्रायल किया उसमे तकरीबन 50 फीसदी बच्चों में पहले से ही एंटिबॉडी थी, बड़ी संख्या में बच्चे पहली और दूसरी लहर में हल्क संक्रमण का शिकार हुए और खुद ठीक हो गए। बहुत ही कम बच्चों को तेज बुखार या अन्य तरह की शिकायत हुई जिसकी वजह से उन्हें भर्ती कराना पड़े।

    English summary
    Coronavirus third wave might hit by september or october say AIIMS director.
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X