• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

पराली समाधान के लिए केंद्र सरकार को जो काम करना चाहिए था, वो CM केजरीवाल ने किया: गोपाल राय

|

नई दिल्ली। दिल्ली सरकार के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने पराली के मुद्दे पर केंद्र सरकार को घेरा है। उन्होंने कहा है कि पराली जलाने की समस्या को लेकर जो काम केंद्र सरकार को करना चाहिए था, वह काम दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार ने किया है। गोपाल राय ने बताया कि हमने दिल्ली के लोगों की जिंदगी को बचाने के लिए पराली जलाने की समस्या का समाधान ढूंढ निकाला है। उन्होंने बताया कि दिल्ली सरकार ने बायो डीकंपोजर तकनीक का प्रयोग किया है, जबकि उत्तर प्रदेश, पंजाब और हरियाणा में पराली जलाई जाती है और इसके प्रदूषण से दिल्ली के लोग परेशान होते हैं।

Gopal Rai

भाजपा का काम है सिर्फ झूठ बोलना- गोपाल राय

गोपाल राय ने कहा कि दिल्ली में बायो डीकंपोजर से पराली के समाधान का प्रयोग सफल रहा है। 15 सदस्यीय कमेटी की रिपोर्ट के आधार पर ही दिल्ली सरकार ने एयर क्वालिटी कमीशन में याचिका दायर की है। गोपाल राय ने कहा कि विपक्ष का काम है विरोध करना, लेकिन विपक्ष सिर्फ झूठ बोले और तथ्यहीन बातें करे, यह ठीक नहीं है। भाजपा से अपील है कि लोगों की जिंदगी से जुड़े हुए मसलों पर राजनीति न करे, झूठ बोल कर सच्चाई को नहीं दबाया जा सकता हैं।

पूसा के संग मिल दिल्ली सरकार ने किया नया आविष्कार

    PM Modi-CMs meeting: Delhi cM Arvind Kejriwal ने की 1000 अतिरिक्त ICU बेड्स की मांग | वनइंडिया हिंदी

    पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने बुधवार को वर्चुअल प्रेस कॉन्फ्रेंस के माध्यम से कहा दिल्ली के अंदर पहली बार राष्ट्रीय कृषि अनुसंधान संस्थान ने नया आविष्कार बायो डीकंपोजर का नया आविष्कार किया। पूसा ने कवक के माध्यम से कैप्सूल बनाया और उसकी मदद से पराली को गलाया जा सकता है, जिससे वो खाद का रूप ले लेता है। दिल्ली सरकार ने पूसा इंस्टीट्यूट के साथ मिलकर के दिल्ली के अंदर इसका प्रयोग किया और वह काफी सफल रहा है।

    हमने पूरी दिल्ली में खेत-खेत जाकर छिड़काव किया है- गोपाल राय

    गोपाल राय ने कहा कि बायो डिकंपोजर तकनीक पर बीजेपी के नेताओं का कहना है कि दिल्ली के अंदर कहीं पर बायो डीकंपोजर घोल का छिड़काव ही नहीं हुआ। मैं उनसे ये कहना चाहूंगा कि वो पूरी दिल्ली में जाकर घूमकर आएं और एक ही दिन पूरी दिल्ली के खेत नाप आए। दिल्ली सरकार को पूरी दिल्ली में घूम-घूम कर घोल का छिड़काव करने में 20 दिन लग गए और भाजपा वाले कह रहे हैं छिड़काव किया ही नहीं। गोपाल राय ने कहा कि इससे बड़ा झूठ कुछ नहीं हो सकता है।

    90 प्रतिशत पराली को गला सकता है डी कंपोजर घोल

    पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने कहा बायो डीकंपोजर घोल के छिड़काव का क्या असर हुआ, हमने हिरनकी गांव में जाकर अपनी आंखों से इसका परिणाम देखा। 20 दिन पहले 13 अक्टूबर को छिड़काव शुरू हुआ था और वहां पर 4 नवंबर को माननीय मुख्यमंत्री जी के साथ मैं खुद जाकर देखा कि कैसे बायो डीकंपोजर के छिड़काव के बाद पराली करीब 90 प्रतिशत गल कर खाद में बदल गई।

    दिल्ली में पॉल्यूशन के खिलाफ चलाए गए हैं ये अभियान

    गोपाल राय ने कहा कि दिल्लीवालों ने प्रदूषण के खिलाफ अभियान छेड़ा हुआ है। जहां सरकार ने पराली की समस्या का समाधान ढूंढा है तो वहीं दिल्लीवालों ने वाहन प्रदूषण पर कंट्रोल कर बहुत अच्छा काम किया है। गोपाल राय ने कहा कि दिल्ली में गाड़ियों के प्रदूषण को कम करने के लिए 'रेड लाइट ऑन, गाड़ी ऑफ' अभियान चलाया गया, जिसे दिल्लीवालों ने खूब सफल बनाया है। इसके अलावा धूल के प्रदूषण को रोकने के लिए सरकार ने शक्ति के साथ 'एंटी डस्ट अभियान' चलाया है। दिल्ली के अंदर जगह-जगह जो आग लगती है, उस बायोमास बर्निंग को रोकने के लिए टीमें बनाकर कार्रवाई की जा रही है।

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    CM Kejriwal did work that central government should have done for Straw: Gopal Rai
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X