• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

NDA-SAD में टूट, कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा-अकाली दल का एनडीए छोड़ना नैतिकता नहीं मजबूरी

|

नई दिल्ली। कृषि बिल पर एनडीए के पुराने साथियों में से एअक शिरोमणि अकाली दल ने राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन से बाहर होने का फैसला किया। एनडीए और एसडीए के बीच का गठबंधन टूट गया। इस पर प्रतिक्रिया देते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि कि अकाली दल का एनडीए से अलग होना उनकी नैतिकता नहीं बल्कि मजबूरी है। उन्होंने कहा कि यह बादलों के लिए राजसी मजबूरी से बढ़कर और कुछ नहीं है। अकाली दल के इस फैसले में कोई भी नैतिकता शामिल नहीं है। अमरिंदर सिंह ने कहा कि कृषि विधेयक को लेकर अकाली दल द्वारा एनडीए पर आरोप मढ़े जाने के बाद उनके पास गठबंधन से अलग होने के अलावा कोई चारा नहीं था।

amarinder singh

अकाली दल पर निशाना साधते हुए कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि कृषि बिल पर केंद्र सरकार के खिलाफ बोलने के बाद सुखबीर बादल के पास कोई विकल्प नहीं बचा था। बादल की हालत आगे कुआं और पीछे खाई वाली बन गई थी। उन्होंने कहा कि अकाली दल ने पहले कृषि अध्यादेशों पर कोई स्टैंड नहीं लिया, बाद में किसानों के गुस्से को देखकर उन्होंने अचानक से यूटर्न लिया। उन्होंने कहा कि एनडीए से बाहर होने के फैसले पर अकाली दल को अपनी नाक बचाने में मदद नहीं मिलेगी। उन्होंने कहा कि एनडीए से बाहर होने के बाद अकाली दल के पास केंद्र और पंजाब में कहीं भी राजनैतिक तौर पर ठहरने योग्य जगह नहीं बची।

    Sanjay Raut का बड़ा बयान, कहा- जहां Shiv Sena और Akali Dal नहीं, वो NDA नहीं | वनइंडिया हिंदी

    गौरतलब है कि शनिवार को अकाली दल ने सर्वसम्मति से एनडीए से बाहर होने का फैसला किया। कृषि विधेयक को लेकर सरकार के खिलाफ अकाली दल की अहम बैठक में ये फैसला लिया गया। बैठक की अध्यक्षता अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल ने की। उन्होंने किसानों के मुद्दे को लेकर एनडीए गठबंधन से बाहर होने का फैसला किया।

    BJP की नई टीम से बाहर हुए राहुल सिन्हा का छलका दर्द, कहा-40 साल तक पार्टी की सेवा का मिला ईनाम

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Punjab CM Captain Amarinder Singh has termed Akali Dali's decision to quit NDA as nothing more than a desperate case of political compulsion for the Badals, who were effectively left with no other option after the BJP's public criticism of the SAD over the farm bills: CMO
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X