• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

अपने चार साथियों की हत्या करने वाले CISF जवान को लेकर खुलासा- मानसिक बीमारी से था परेशान

By Brajesh Mishra
|
Google Oneindia News

नई दिल्ली। अपने चार साथियों पर गोली चलाकर उनकी हत्या करने वाले सीआईएसएफ जवान बलबीर सिंह के बारे में उसके परिवार ने पहले ही अधिकारियों को सूचना दे रखी थी कि वह मानसिक तौर पर बीमार है। बिहार के औरंगाबाद जिले में अपने साथियों पर गोली बरसाने वाले वाले जवान ने कुछ समय मनोचिकित्सक को भी दिखाया था। बलबीर सिंह की मां ने कहा कि इस बारे में सबको पता था कि उसकी मानसिक स्थिति ठीक नहीं है। उसके दोस्तों और पड़ोसियों को भी इस बात की जानकारी थी कि वह कभी भी भड़क जाता है और कुछ भी कर बैठता है। यह खुलासा होने से सीआईएसएफ पर सवाल उठने लगे हैं।

अपने साथियों की हत्या करने वाले CISF को लेकर खुलासा- मानसिक बीमारी से था परेशान

सर्विस राइफल से फोड़ा था पत्नी का सिर
एक रिश्तेदार ने बताया कि बलबीर की मानसिक हालत का अंदाजा इस बात से ही लगाया जा सकता है कि साल 2011 में उसने उस कार के ड्राइवर को मारने की कोशिश की थी जिसमें वह सफर कर रहा था। बोकारो में हुई इस घटना के समय उसकी दूसरी पोस्टिंग थी। उन्होंने बताया कि बलबीर ने ड्राइवर का गला दबा रखा था। उसके साथ में उसके बड़े भाई भी थे, जिन्होंने आखिर में उसके कान में जोर से काटा तब जाकर बलबीर ने ड्राइवर को छोड़ा था। इसके बाद साल 2013 में उसने अपनी पत्नी पर जानलेवा हमला किया था और अपनी सर्विस राइफल के बट से उसका सिर फोड़ दिया था। READ ALSO: BSF जवान तेज बहादुर का नया ऑडियो सामने आया

एक बार दी गई थी सजा
बलबीर सिंह की मां सरोज देवी ने बताया कि साल 2008 में उसने सीआईएसएफ ज्वाइन किया था। साल 2010 में के आसपास उसे यह समस्या शुरू हुई। उन्होंने कहा, 'वो बीमार था। मेरे बेचे शेर सिंह ने बलबीर की यूनिट को इसकी जानकारी दी थी और सलाह दी थी कि उसे खतरनाक हथियार न दिए जाएं तो ही बेहतर होगा। उन्हें उसकी बात सुननी चाहिए थी। अगर तभी मान गए होते तो ये घटना नहीं होती।' उसके भाई विनोद ने कहा कि वह सीनियर अधिकारियों के पास भी गया था और उन्हें इस बारे में जानकारी दी थी। उसने इलाज के लिए उसे छुट्टी देने की भी अपील की थी लेकिन किसी ने नहीं सुना। सीआईएसएफ के पीआरओ मंजीत सिंह ने कहा कि उनके पास बलबीर की बीमारी का कोई रिकॉर्ड नहीं है और न ही वह कभी सीआईएसएफ हॉस्पिटल में इलाज के लिए गया। हालांकि उन्होंने यह बताया कि बलबीर को साल 2010 में छुट्टियों के दौरान देर से वापस आने के लिए सजा दी गई थी। उन्होंने इस बात से इनकार किया है कि बलबीर के परिवार ने सीआईएसएफ को उसकी बीमारी की जानकारी दी थी।

English summary
CISF jawan's family claims he is mentally ill and his unit was informed earlier.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X