• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

चिराग पासवान को एक और बड़ा झटका, एलजेपी के अध्यक्ष पद से भी हटाए गए

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली, 15 जून: चिराग पासवान को लोकजन शक्ति पार्टी के अध्यक्ष पद से हटा दिया गया है। चिराग पासवान को हटाकर सूरजभान सिंह को कार्यकारी अध्यक्ष बनाया गया है। मंगलवार को चिराग पासवान के चाचा और पार्टी सांसद पशुपति कुमार के घर पर हुई एलजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में ये फैसला लिया गया। राष्ट्रीय कार्यकारिणी ने सूरजभान सिंह को कार्यकारी अध्यक्ष चुनते हुए उनको नया राष्ट्रीय अध्यक्ष के पद के लिए चुनाव कराने की जिम्मेदारी भी दी है। एक दिन पहले लोजपा सांसदों ने चिराग पासवान को लोकसभा में नेता के पद से हटाकर पशुपति पारस को संसदीय दल का नया नेता चुना है।

Chirag Paswan has been removed from the post of national president of Lok Janshakti Party (LJP)
    Chirsag Paswan को LJP के अध्यक्ष पद से हटाया गया, कौन बना नया अध्यक्ष? | वनइंडिया हिंदी

    बिहार में प्रभाव रखने वाली लोक जन शक्ति पार्टी में बीते दो दिनों में बड़ी हलचल देखने को मिली है। पार्टी के छह में से पांच सांसदों ने पार्टी अध्यक्ष चिराग पासवान से बगावत की है। बिहार के हाजीपुर से सांसद और चिराग पासवान के चाचा पशुपति पारस की अगुवाई में ये बगावत हुई है। सोमवार को पहले पार्टी सांसदों ने चिराग पासवान को लोकसभा में नेता के पद से भी हटाया। इसके बाद पशुपति कुमार पारस को सर्वसम्मति से लोकसभा में लोक जनशक्ति पार्टी संसदीय दल का नेता चुना गया। वहीं अब पार्टी के अध्यक्ष पद से भी चिराग को हटा दिया है। लोकजनशक्ति पार्टी के संस्थापक पूर्व केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान की मौत के बाद पार्टी का नेतृत्व कर रहे उनके बेटे चिराग पासवान अब पार्टी में एकदम अकेले और कमजोर हो गए हैं। रामविलास पासवान के बाद से अभी तक वही पार्टी के सबसे बड़े नेता औरचेहरा थे।

    लोकजन शक्ति पार्टी के छह लोकसभा सांसद हैं। इसमें एक पार्टी अध्यक्ष चिराग पासवान भी हैं। चिराग को छोड़ बाकी सभी सांसद पशुपति कुमार पारस, चौधरी महबूब अली कैसर, वीणा देवी, चंदन सिंह और फ्रिंस राज ने पशुपति पारस को अपना नेता माना है।

    पशुपति पारस चिराग से मिले तक नहीं

    सोमवार को चिराग पासवान ने दिल्ली में पशुपति पारस के घर पहुंचकर उनसे मिलने की कोशिश की थी। हालांकि चिराग को करीब एक घंटे इंतजार करान के बाद भी पशुपति पारस ने उनसे मुलाकात नहीं की।

    चाचा के पार्टी तोड़ने के बाद चिराग पासवान की पहली प्रतिक्रिया, साझा किया पुराना पत्रचाचा के पार्टी तोड़ने के बाद चिराग पासवान की पहली प्रतिक्रिया, साझा किया पुराना पत्र

    बिहार के जमुई से सांसद चिराग पासवान ने कहा है कि उन्होंने पार्टी को एकजुट रखने की हर मुमकिन कोशिश की थी। वहीं पशुपति पारस का कहना है कि पार्टी को बचाने के लिए ये जरूरी थी क्योंकि चिराग के नेतृत्व में सब ठीक नहीं चल रहा था।

    English summary
    Surajbhan Singh has been appointed as the National Working President of the party. Party has also given him the charge to conduct elections for the appointment of the party's national president
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X