• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

दक्षिणी चीन सागर पर चीन चाहता है अपना एकछत्र राज, विवादित सागर पर जबरन चला रहा है चीनी कानून

|

नई दिल्ली। एक तरफ जहां दुनिया कोरोनावायरस महामारी में उलझी हुई है, तो दूसरी तरफ चीन दक्षिणी चीन सागर पर अपना प्रभुत्व स्थापित करने के लिए अपने पैर पसारने शुरू कर दिए हैं। चीन के वुहान सिटी से निकलकर पूरी दुनिया पर कहर ढा रही नोवल कोरोना वायरस से पूरी दुनिया कराह रही है और चीन के खिलाफ मोर्चाबंदी कर रही हैं, लेकिन बेपरवाह दक्षिण चीन सागर को हड़पने की कोशिश में हैं।

चीन के ‘जीन’ में है विस्तारवाद , उसकी जमीन हड़पो नीति से भारत समेत दुनिया के 23 देश परेशान

china

रिपोर्ट के मुताबिक चीन दक्षिण चीन सागर में अपने अधिकार क्षेत्र से अधिक क्षेत्रों पर अपनी हुकूमत चलाने के मूड में है। क्योंकि चीनी तटरक्षक दल, पीपुल्स लिबरेशन आर्मी व अन्य चीनी सरकारी एजेंसियां दक्षिण चीन सागर को हथियाने की फिराक में जुटी है। यही नहीं, विवादित सागर में चीनी कानून जबरन चलाया जा रहा है। इसी क्रम में चीन की तरफ से वियतनाम के एक मछली पकड़ने के जहाज भी डूबो दिया गया था।

china

दिल्ली: 10 दिन में तैयार हुई दुनिया की सबसे बड़ी Covid-19 केयर फैसिलिटी के बारे में सबकुछ जानिए

कोरोना वायरस को लेकर फिर चीन पर भड़के ट्रंप, बोले- महामारी को रोक सकता था बीजिंग

गौरतलब है चीन की ओर से समूचे दक्षिण चीन सागर और द्वीपों पर दावा किया जाता रहा है। गत 18 अप्रैल को बीजिंग ने क्षेत्र पर संप्रभुता के अपने दावे को मजबूत करने के लिए पेरासेल द्वीप समूह और स्प्रैटली द्वीपों पर अपना एकछत्र राज चलाते हुए दो जिले बना दिए हैं और उसके एक दिन बाद चीन ने 80 जियोग्राफिक और पानी के अंदर मौजूद फीचर्स के चीनी नाम प्रकाशित कर दिए हैं।

china

चीन अभी भी कोरोना वायरस की महत्वपूर्ण जानकारी छिपा रहा है: अमेरिकी विदेश मंत्री

हाल में ही अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोंपियो न चीन पर आरोप लगाया था कि Covid-19 के संकट से जूझ रहे अन्य देशों का फायदा बीजिंग ले रहा है और दूसरे देशों को डराने के लिए अपने सैन्य जहाजों को तैनात कर दिया है, ताकि वह अपतटीय गैस और तेल परियोजनाओं के विकास को पूरा कर सके। पोम्पेओ का बयान बीजिंग के दक्षिण चीन सागर में आगे बढ़ाने के प्रयासों को रेखांकित करता है, जहां इसके वियतनाम, फिलीपींस, ताइवान, मलेशिया और ब्रुनेई के साथ क्षेत्रीय संघर्ष हैं।

china

Covid-19 प्राकृतिक नहीं, बल्कि यह एक लैब से निकला वायरस है: नितिन गडकरी

उल्लेखनीय है कि चीन के कारण विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) भी संदेह के घेरे में आ गया है। अमेरिका ने चीन पर नोवल कोरोना वायरस के बारे में जानकरी छुपाने और विश्व स्वास्थ्य संगठन को चीन का साथ देने का आरोप लगाते हुए अमेरिका की ओर विश्व स्वास्थ्य संगठन को दी जाने वाली 400 मिलियिन डॉलर की सहायता को रोक दिया था।

कोरोनावायरस पर कथित 'झूठ' पर चीनी पलटवार के बाद चीन और अमेरिका के बीच छिड़ा वर्ड वार

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
China is in the mood to rule the South China Sea over territories beyond its jurisdiction. Because the Chinese Coast Guard, People's Liberation Army and other Chinese government agencies are trying to grab the South China Sea. Not only this, Chinese law is being forced in the disputed sea. In the same order, a fishing vessel of Vietnam was drowned by China.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Oneindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Oneindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more