• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

CTI ने वित्त मंत्री को लिखा पत्र, पेट्रोल-डीजल पर एक्साइज ड्यूटी कम करने की मांग

|

नई दिल्ली: चैंबर ऑफ ट्रेड एंड इंडस्ट्री (CTI) ने केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण को पत्र लिखा है। जिसमें उन्होंने पेट्रोल और डीजल पर एक्साइज ड्यूटी कम करने की मांग की है। इसके अलावा इस पत्र की एक कॉपी शनिवार को केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान को भी भेजी गई है। CTI के मुताबिक इस मंदी के दौर में पेट्रोलियम पदार्थों पर ज्यादा एक्साइज ड्यूटी लगाना ठीक नहीं है।

diesel

CTI के अध्यक्ष बृज गोयल ने पत्र में कहा कि कोरोना वायरस की वजह से मौजूदा वक्त में पूरा देश वित्तीय संकट से जूझ रहा है। ऐसे में वो अनुरोध करते हैं कि पेट्रोल और डीजल पर एक्साइज ड्यूटी को कम किया जाए, ताकी जनता को कुछ हद तक राहत मिल सके। उन्होंने आगे लिखा कि कोरोना महामारी के दौर में लोग सार्वजनिक वाहनों की यात्रा से बच रहे हैं। जब वो अपने वाहन से जाते हैं तो उनकी जेब पर ज्यादा भार पड़ता है।

पेट्रोल-डीजल की कीमतों में हस्तक्षेप से सुप्रीम कोर्ट का इनकार, खारिज की याचिका

CTI के मुताबिक किसान भारतीय अर्थव्यवस्था की रीढ़ हैं। वो भी महंगे पेट्रोल-डीजल का उपयोग करते हैं, जिसका अर्थव्यवस्था पर प्रभाव पड़ता है। उन्होंने उम्मीद जताई की सरकार जल्द उनकी मांगों पर विचार करेगी और पेट्रोलियम पदार्थों पर एक्साइज ड्यूटी कम करेगी। विपक्ष भी कई बार पेट्रोल-डीजल के दामों को लेकर मोदी सरकार पर निशाना साध चुका है।

क्या है आज का दाम?

सरकारी ऑयल मार्केटिंग कंपनियों एचपीसीएल, बीपीसीएल और इंड‍ियन ऑयल ने शनिवार को भी पेट्रोल की कीमतों में कोई बदलाव नहीं किया, लेकिन डीजल की कीमतों में आज 20 पैसे प्रति लीटर की कटौती की गई है। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में आज पेट्रोल 81.14 रुपये और डीजल 71.82 रुपये प्रति लीटर बिक रहा है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
chamber of Trade and Industry wrote letter to finance minister for excise duty on petrol diesel
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X