• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

नक्सल प्रभावित इलाकों में थानों के लिए जारी फंड का इस्तेमाल ना होने पर कैग की केंद्र को फटकार

|

नई दिल्ली। नियंत्रक एवं महालेखापरीक्षक (कैग) ने नक्सल प्रभावित इलाकों में फोर्टिफाइड पुलिस स्टेशनों के लिए जारी फंड की निगरानी ना कर पाने को लेकर केंद्रीय गृह मंत्रालय को फटकार लगाई है। कैग ने इस बात को लेकर नाराजगी जताई है कि नक्सल प्रभावित 10 राज्यों के 83 जिलों में पुलिस स्टेशन के निर्माण के लिए जो फंड इस्तेमाल नहीं किया गया, उसका इस्तेमाल नहीं हुआ लेकिन इसको गृह मंत्रालय की ओर से मॉनिटर नहीं किया गया।

नक्सल प्रभावित इलाकों में थानों के लिए जारी फंड का इस्तेमाल ना होने पर कैग की केंद्र को फटकार
    CAG Report 2020: Naxal प्रभावित इलाकों में थानों के फंड को लेकर केंद्र को फटकार | वनइंडिया हिंदी

    रिपोर्ट में कहा गया है कि कुल 623 करोड़ रुपए में से 52.18 करोड़ की राशि 2012 और 2016 में 10 राज्यों के 83 जिलों में 400 पुलिस स्टेशनों और चौकियों के निर्माण के लिए जारी किए गए। सीएजी ने एक रिपोर्ट में कहा है कि इसक तीन साल बाद भी धनराशि का इस्तेमाल नहीं किया गया है। सीएजी रिपोर्ट में मध्य प्रदेश में दो अतिरिक्त पुलिस स्टेशनों के निर्माण पर लगभग 3.79 करोड़ रुपये खर्च किए, जो इस योजना का हिस्सा नहीं थे। इसको लेकर भी सवाल किए गए हैं।

    फोर्टिफाइड पुलिस स्टेशनों बनाने की योजना के तहत, गृह मंत्रालय ने राज्य सरकारों को एक पुलिस स्टेशन के लिए 2 करोड़ रुपये की लागत से 400 पुलिस स्टेशनों के निर्माण और सुदृढ़ीकरण में सहायता करने का काम सौंपा गया था। केंद्र और राज्य सरकारों के बीच धन का आवंटन 80:20 के अनुपात पर था।

    ये भी पढ़िए- पश्चिम बंगाल राज्यपाल बोले- ममता बनर्जी ने मुझसे नहीं की बात, डीजीपी ने भी नहीं दिया जवाब

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    CAG slams Centre for not monitoring funds for Naxal hit states Police Stations
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X