• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

उग्र भीड़ से मायावती को बचाया था लालजी टंडन ने, बहन उमा भारती ने किया था खुलासा

|

लखनऊ। मध्य प्रदेश के गवर्नर लालजी टंडन का मंगलवार सुबह लखनऊ के मेदांता हॉस्पिटल में निधन हो गया, 85 वर्षीय लालजी टंडन का मेदांता अस्पताल में करीब डेढ़ महीने से भर्ती थे, लालजी टंडन किडनी और लिवर की बीमारियों से जूझ रहे थे,कल रात उनकी स्थिति काफी खराब हो गई थी जिसके बाद आज सुबह 5 बजे उन्होंने दुनिया को अलविदा कह दिया, मालूम हो कि लालजी टंडन के निधन के बाद यूपी में तीन दिन का राजकीय शोक घोषित किया गया है।

पीएम मोदी ने कब-कब जवानों के बीच पहुंचकर सबको चौंकाया ?

मायावती और उमा भारती के राखी भाई थे लालजी टंडन

मायावती और उमा भारती के राखी भाई थे लालजी टंडन

यूं तो लालजी टंडन को लखनऊ का नाथ कहा जाता था, वो बीजेपी और राजनीति का बड़ा नाम थे तो वहीं उनके संबंध विरोधियों से भी काफी मधुर रहे, बीएसपी सुप्रीमो मायावती और उमा भारती दोनों उन्हें अपना राखी भाई मानती थीं, मायावती ने राखी बांधने की वजह से ही टंडन की बात मानकर यूपी में बीजेपी के साथ मिलकर बीएसपी की सरकार बनाई थी।

यह पढ़ें: नहीं रहे लालजी टंडन, पीएम मोदी ने जताया शोक, कहा- उन्हें लोग समाज सेवा के लिए याद करेंगे

मायावती ने बांधी थी चांदी की राखी

मायावती ने बांधी थी चांदी की राखी

इस बारे में बात करते हुए उमा भारती ने एक इंटरव्यू में कहा था कि गेस्ट हाउसकांड के वक्त टंडन ही थे जो मायावती की जान बचाने पहुंचे थे, इसके बाद मायावती ने उन्हें खुद की अपनी रक्षा करने के लिए धन्यवाद देते हुए राखी बांधी थी, जिसके बाद ये सिलसिला कायम हो गया, मायावती ने सीएम पद पर रहते हुए भी टंडन को राखी बांधती रहीं, एक बार तो उन्होंने चांदी की राखी लालजी टंडन की कलाई पर बांधी थी।

    Madhya Pradesh Governor Lalji Tandon का Lucknow में निधन,PM Modi ने दी श्रद्धांजलि | वनइंडिया हिंदी
    क्या था गेस्ट हाउस कांड

    क्या था गेस्ट हाउस कांड

    2 जून 1995 को मायावती लखनऊ में मीराबाई स्टेट गेस्ट हाउस में थीं कि तभी इस दौरान भीड़ ने उस गेस्ट हाउस को घेर लिया और जमकर हंगामा किया। भीड़ में सपा से जुड़े कई चेहरे भी शामिल थे। मायावती ने खुद को कमरे में बंद कर लिया तो उनका दरवाजा तोड़ने की कोशिश भी की गई थी, तमाम कोशिशों के बावजूद पुलिस वहां नहीं पहुंची थी,तभी भाजपा नेता ब्रह्मदत्त द्विवेदी और लालजी टंडन मौके पर पहुंचे थे , जिसके बाद भाजपा कार्यकर्ताओं की मदद से मायावती को जैसे-तैसे सुरक्षित वहां से निकाला था और इसके बाद में भाजपा ने बसपा को समर्थन देकर यूपी में मायावती के नेतृत्व में सरकार बनाई थी।

    उमा की घर वापसी के पीछे लालजी टंडन का बड़ा हाथ

    उमा की घर वापसी के पीछे लालजी टंडन का बड़ा हाथ

    तो वहीं उमा भारती के लिए लालजी टंडन उनके मार्गदर्शक, साथी और बड़े भाई रहे, वो भी लालजी टंडन को राखी बांधती आई हैं, उमा भारती की भाजपा में वापसी के पीछे बहुत बड़ा हाथ लालजी टंडन और लाल कृष्ण आडवाणी को माना जाता रहा है।

    मायावती ने जताया शोक

    लालजी टंडन के निधन पर बसपा सुप्रीमो मायावती ने गहरा शोक प्रकट किया है उन्होंने ट्वीट किया है कि मध्यप्रदेश के गवर्नर व यूपी में बीजेपी की सरकार में कई बार वरिष्ठ मंत्री रहे श्री लालजी टण्डन, जो काफी सामाजिक, मिलनसार व संस्कारी व्यक्ति थे, उनका इलाज के दौरान आज लखनऊ में निधन होने की खबर अति-दुःखद व उनके परिवार के प्रति मेरी गहरी संवेदना।

    यह पढ़ें: मध्य प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन का निधन, यूपी में 3 दिन का राजकीय शोक

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    When the 1995 guest house incident took place then Brahm Dutt Dwivedi and Lalji Tandon had saved BSP Chief Mayawati said Uma Bharti , Read story.
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X