• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

भाजपा सांसद की मांग, UPSC परीक्षा की सब्जेक्ट लिस्ट से हटे 'इस्लामिक स्टडीज'

|

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश के भाजपा सांसद हरनाथ सिंह यादव ने केंद्रीय लोक सेवा आयोग (UPSC) की परीक्षाओं से इस्लामिक स्टडीज़ विषय को हटाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि इस्लामिक स्टडीज़ में इस्लाम के उदय से लेकर इसके प्रसार और विज्ञान, कला, वास्तुशास्त्र और फिलॉसफी पढ़ाई होती है और ऐसी परीक्षा का हिस्सा इसे नहीं शामिल नहीं किया जाना चाहिए, जिससे नौकरशाह और पुलिस अफसर चुने जाते हैं।

upsc

सांसद हरनाथ सिंह यादव ने कहा है कि वो इस मुद्दे को बाकायदा राज्यसभा में भी उठाएंगे। हालांकि सबसे महत्वपूर्ण बात यह निकलकर सामने आ रही है कि यूपीएससी के सब्जेक्ट लिस्ट में इस्लामिक स्टडीज की पुष्टि नहीं हुई है। कहना का अर्थ यह है कि यूपीएससी परीक्षा के सब्जेक्ट लिस्ट इस्लामिक स्टडीज नामक विषय नहीं है।

JEE-NEET परीक्षा: 'जरा याद उन्हें भी कर लो, जो एग्जाम की तैयारी करके घरों में बैठे हैं?'

इस्लामिक स्टडीज़ के यूपीएससी का हिस्सा होने पर कड़ी आपत्ति है: सांसद

इस्लामिक स्टडीज़ के यूपीएससी का हिस्सा होने पर कड़ी आपत्ति है: सांसद

दरअसल, यूपीएससी के नतीजों को लेकर देशभर में चर्चा चल रही है और कुछ संगठनों ने यूपीएससी में मुस्लिमों के सेलेक्शन की बढ़ती संख्या के खिलाफ अभियान छेड़ते हुए यूपीएससी परीक्षा में शामिल इस्लामिक स्टडीज विषय को टारगेट किया है। हालांकि भाजपा सांसद ने ऐसे किसी भी लिंक से साफ इनकार करते हुए कहा कि उन्हें इस्लामिक स्टडीज़ के यूपीएससी का हिस्सा होने पर कड़ी आपत्ति है।

इस्लामिक स्टडीज़ का शामिल होना भारतीय संस्कृति के साथ मेल नहीं खाता

इस्लामिक स्टडीज़ का शामिल होना भारतीय संस्कृति के साथ मेल नहीं खाता

मूलत: मैनपुरी के निवासी हरनाथ सिंह यादव ने द टेलिग्राफ अखबार को दिए इंटरव्यू में कहा कि यूपीएससी में इस्लामिक स्टडीज़ का शामिल होना भारतीय संस्कृति के साथ मेल नहीं खाता। उन्होंने आगे कहा, मैं इस सब्जेक्ट के बारे में और ज्यादा जानकारी हासिल करुंगा और इस मुद्दे को संसद के अगले सत्र में उठाऊंगा। उन्होंने कहा कि वे इस्लामिक स्टडीज़ को यूपीएससी परीक्षा से हटाने की मांग करेंगे।

UPSC में मुस्लिमों के सेलेक्शन को लेकर सुदर्शन न्यूज चैनल ने सवाल उठाए

UPSC में मुस्लिमों के सेलेक्शन को लेकर सुदर्शन न्यूज चैनल ने सवाल उठाए

हरनाथ सिंह यादव का यह बयान ऐसे समय में आया है, जब यूपीएसएसी में इस साल मुस्लिमों के सेलेक्शन को लेकर सुदर्शन न्यूज चैनल के चीफ एडिटर सुरेश चव्हाणके ने हाल ही में अपने शो के ट्रेलर का वीडियो साझा किया। इस वीडियो में वो सवाल खड़ा करते हुए नजर आते हैं कि अचानक मुसलमान आईएएस, आईपीएस में कैसे बढ़ गए? आईएएस और आईपीएस एसोसिएशन ने चव्हाण के इस वीडियो की निंदा की है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
BJP MP from Uttar Pradesh Harnath Singh Yadav has demanded the removal of the subject of Islamic Studies from the Central Public Service Commission (UPSC) examinations. He said that Islamic studies cover the rise and spread of Islam and its science, art, architecture and philosophy and should not be included as part of the examinations by which bureaucrats and police officers are elected. He has also said to raise the issue in the Rajya Sabha.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X