• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

भारत-चीन तनाव के बीच हथियार सप्लाई को लेकर रूस ने दिया पाकिस्तान को बड़ा झटका

|

नई दिल्ली। रक्षा मंत्री राजनाथ सिसंह रूस के दौरे पर हैं, इस दौरान रक्षा मंत्री ने रूस के रक्षा मंत्री के साथ बैठक की। रक्षा मंत्रालय के अनुसार रूस और भारत के रक्षा मंत्री के बीच यह बैठक तकरीबन एक घंटे तक चली। इस मुलाकात के दौरान भारत और रूस के रक्षा मंत्री के बीच कई अहम मसलों पर बात हुई। लेकिन दोनों के बीच जो सबसे अहम बात हुई वह पाकिस्तान को आर्म सप्लाई को लेकर हुई है। सूत्रों के अनुसार भारत ने रूस से अपील की थी कि वह पाकिस्तान को आर्म सप्लाई नहीं करे। भारत की इस अपील को स्वीकार करते हुए रूस ने एक बार फिर से पाकिस्तान को हथियार नहीं सप्लाई करने की अपनी नीति को दोहराया है।

    Russia ने India से किया वादा, Pakistan के लिए No Arms Supply नीति रहेगी कायम | वनइंडिया हिंदी

    rajnath singh

    बता दें कि राजनाथ सिंह रूस की राजधानी मॉस्को में होने वाली शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) बैठक में हिस्सा लेने के लिए पहुंचे हैं। इस दौरान चीन के रक्षा मंत्री वे फेंग ने भारतीय समकक्ष राजनाथ सिंह से शुक्रवार को मिलने की इच्छा जताई थी। न्यूज एजेंसी एएनआई के सूत्रों के अनुसार वे फेंग चाहते हैं कि एससीओ में उनकी एक मीटिंग भारतीय रक्षा मंत्री राजनथा सिंह के साथ कराई जाए। लेकिन मॉस्को रवाना होने से पहले ही भारतीय अधिकारियों ने बता दिया था कि वेई फेंग और राजनाथ सिंह के बीच कोई संभावित बैठक नहीं होगी। बता दें कि इससे पहले गुरुवार को राजनाथ सिंह और रूसी रक्षा मंत्री जनरल सर्गेई शोइगु के बीच एक अहम बैठक हुई थी। राजनाथ सिंह ने खुद ट्वीट कर बताया था कि जनरल सर्गेई शोइगु के साथ उनकी मुलाकात शानदार रही।

    सेना के प्रवक्‍ता कर्नल अमन आनंद के मुताबिक लद्दाख में मिलिट्री और राजनयिक वार्ता के बाद कई आम सहमतियां बनी थी। जिसका 29-30 जून की रात चीनी सैनिकों ने उल्लंघन किया। इस दौरान उनकी ओर से भड़काऊ सैन्‍य गति‍विधियों को अंजाम दिया गया। भारतीय सेना ने साफ किया कि वो लद्दाख में सीमा पर शांति और स्थिरता कायम करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। साथ ही समान रूप से अपनी क्षेत्रीय अखंडता की सुरक्षा के लिए भी दृढ़ निश्चित हैं। सूत्रों का कहना है कि ब्‍लैक टॉप जिस पर अब भारत का नियंत्रण है, वहां पर भारतीय और चीनी सैनिक बहुत करीब हैं। भारत की सेना ने पैंगोंग लेक के दक्षिण में ऊंची पहाड़‍ियों पर कब्‍जे की कोशिश की थीं।

    इसे भी पढ़ें- Video: ताइवान में घुसपैठ की कोशिशें में लगे चीनी फाइटर जेट के ढेर होने की खबरें!

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Big success to India Russia reiterated its policy of no arms supply to Pakistan.
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X