भोपाल गैंगरेप- 15 मिनट का सिगरेट-गुटखा ब्रेक लेकर 3 घंटे तक चलती रही हैवानियत, 6 पुलिसवाले सस्‍पेंड

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi
Bhopal: लगातार 3 घंटे तक 4 युवकों ने युवती को बनाया हवस का शिकार । वनइंडिया हिंदी

भोपाल। मध्‍य प्रदेश की राजधानी भोपाल में 19 साल की यूपीएससी छात्रा को अगवा कर उसका गैंगरेप करने के मामले में दर्दनाक खुलासे हुए हैं। गिरफ्तार आरोपियों ने पूछताछ में जो बातें कबूल की हैं उसे जानकर आपके रौंगटे खड़े हो जाएंगे। अंग्रेजी अखबार टाइम्‍स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक गैंगरेप करने के बाद मुख्‍य आरोपी सिगरेट और गुटखा लेने गया। 15 मिनट बाद वो वापस आया और फिर अपने साथी के साथ मिलकर गैंगरेप किया। उसके बाद वो फिर 15 मिनट के बाहर गया और दो और लोगों के साथ आया और फिर गैंगरेप किया। मुख्‍य आरोपी की पहचान गोलू बिहारी के रूप में हुई है और वो अपनी ही बेटी की हत्‍या के आरोप में दोषी करार दिए जाने के बाद बेल पर बाहर है। आइए पूरे मामले को बिस्‍तार से समझाते हैं।

सबसे पहले जान लीजिए पूरा घटनाक्रम

सबसे पहले जान लीजिए पूरा घटनाक्रम

पीडि़ता सब-इंस्पेक्टर की बेटी है। वो आईएएस की कोचिंग करती है। मामला 31 अक्‍टूबर का है। पीडि़ता को पहले दो लोगों ने किडनैप किया और फिर बाद में दो लोग और आए और कई बार सामूहिक बलात्‍कार किया। इस दौरान उसे जान से मारने की कोशिश भी की गई। शर्म की बात ये थी घटना के बाद वो जीआरपी थाने पहुंची लेकिन पुलिस रिपोर्ट दर्ज करने की बजाय उसे टरकाती रही।

अब जानिए हैरान करने वाली बात

अब जानिए हैरान करने वाली बात

आरोपियों में से एक गोलू बिहारी ने पुलिस को बताया कि उसने और उसके एक साथी अमर ने मिलकर लड़की को अगवा किया। पहले दोनों ने लड़की से सामूहिक बलात्‍कार किया और फिर सिगरेट और गुटखा लाने के लिए गोलू ने लड़की को अमर के हवाले कर दी। वो गया और फिर 15 मिनट बाद वापस आया। दोनों ने सिगरेट पी, मसाला खाया और फिर पीडि़ता का गैंगरेप किया।

लड़की ने मांग कपड़ा तो फिर हुआ ऐसा

लड़की ने मांग कपड़ा तो फिर हुआ ऐसा

पीड़िता की शिकायत के अनुसार उसने आरोपियों से कुछ कपड़ों की मांग की तो गोलू कुछ कपड़े लेकर आया लेकिन उसके साथ दो व्यक्ति रमेश और राजेश में साथ आए। इसके बाद चारों ने मिलकर फिर से पीड़िता के साथ गैंगरेप किया और यह सिलसिला तीन घंटे तक चला।

सीएम ने दिए जांच के आदेश

सीएम ने दिए जांच के आदेश

इस वारदात के बाद भोपाल में कांग्रेस, प्रदेश सरकार के खिलाफ मामले को लेकर प्रदर्शन कर रही है। वहीं मामले को संज्ञान में लेते हुए सीएम शिवराज सिंह चौहान ने मामले की जांच के आदेश दिए हैं। वहीं लापरवाही के आरोप में 6 पुलिसकर्मियों (तीन थानेदार, दो सब-इंस्‍पेक्‍टर और एक कांस्‍टेबल) भी गाज गिरी है और उन्हें सस्पेंड कर दिया गया है।

Read Also- इस एक्‍ट्रेस ने अंडरटेकर पर लगाए 'गंदे आरोप', जानिए क्‍या-क्‍या किया खुलासा

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Madhya Pradesh Chief Minister Shivraj Singh Chouhan on Friday took cognisance of 19-year-old’s gang rape case of Bhopal. He directed trial in fast-track court.
Please Wait while comments are loading...