• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

7 महीने तक दिन में 10 घंटे नहाता रहा शख्स, रोज खत्म करता था 3 साबुन की टिकिया, हुआ ये हाल

|

नई दिल्ली। कहते हैं शरीर की साफ-सफाई के लिए रोज नहाना जरूरी है, औसतन एक व्यक्ति को नहाने में 20 मीनट या उससे कम-ज्यादा का समय भी लग सकता है। लेकिन तब क्या हो जब आपको पता चले की एक शख्य ऐसा भी है जो दिन में 10 घटें तक नहाता ही रहता था। जी हां, कुछ ऐसा ही मामला बेंगलुरु में सामने आया है जहां एक व्यक्ति 7 महीने तक दिन में 10 घंटे तक नहाता रहता था। इनता नहीं वह नहाने के लिए प्रतिदिन 3 साबुन की टिकिया खत्म कर देता था।

संक्रमण के संपर्क में आने का था डर

संक्रमण के संपर्क में आने का था डर

दरअसल, बेंगलुरु आईटी क्षेत्र में काम करने वाला एक कर्मचारी ऑब्सेसिव-कम्पल्सिव डिसऑर्डर (ओसीडी) नामक बीमारी से पीड़ित था। इस बीमारी से पीड़ित व्यक्ति को हमेशा संक्रमण होने का डर लगा रहता है जिस वजह से वह जरूरत से ज्यादा ही साफ-सफाई का ध्यान रखने लगता है। जिस व्यक्ति की बात हम कर रहे हैं उस पर नहाने का जुनून इस कदर सवार था कि वह 10-10 घंटे तक बाथरूम में ही समय बिताता था।

घरवाले हुए परेशान

घरवाले हुए परेशान

उसकी इस आदत से परेशान घर वाले जब उसे मनोचिकित्सक के पास ले गए तब उन्हें उसकी बीमारी के बारे में पता चला। उसको इलाज के लिए एक क्लीनिक में दाखिल कराया गया जहां उसकी सूखी त्वचा, नाखूनों के नीचे जमाव और बालों की वजह से लोगों का ध्यान उसकी तरफ गया। एक वरिष्ठ मनोचिकित्सक ने बताया कि शख्स को हमेशा संक्रमण के संपर्क में आने का डर लगा रहता था इसलिए वह दिन में 10 घंटे नहाता था।

सूर्योदय से पहले नहाने लगता था शख्स

सूर्योदय से पहले नहाने लगता था शख्स

डॉक्टर सतीश रमैया ने बताया कि ओसीडी से पीड़ित शख्स का दिन नहाने से शुरू होता था और खत्म भी नहाने पर होता था। उसने प्रतिदिन 10 घंटे से ज्यादा समय बाथरूम में बिताया और ऐसा करीब 7 महीनों तक चला। उसने यह सब एक डर की वजह से किया, उसे लगता था कि अगर वह स्वच्छता नहीं रखेगा तो संक्रमित हो जाएगा। डॉक्टर के मुताबिक शख्स का नहाना सूर्योदय से पहले ही शुरू हो जाता था और वह शाम के समय भी नहाने में 4 घंटे का समय लगाता था।

नहाने की आदत से परेशान पत्नी ने दिया तलाक

नहाने की आदत से परेशान पत्नी ने दिया तलाक

डॉक्टर सतीश बताते हैं कि उसे संक्रमण का इतना डर था कि वह नल और बाथरूम का दरवाजा खोलने, साबुन उठाने, शॉवर और अन्य कामों के लिए प्लास्टिक के दस्ताने का इस्तेमाल करता था। उसकी इस आदत से शख्स की पत्नी परेशान हो गई और मां अवसाद से पीड़ित होने लगी। तीन महीने तक उसकी इन्हीं आदत के चलते पत्नी ने उसे तलाक दे दिया। डॉक्टर ने बताया कि उसके प्रतिदिन नहाने में बड़ी मात्रा में पानी, एक दर्जन प्लास्टिक बैग और साबुन की तीन टिकियां का खर्च आता था। फिलहाल उसका इलाज किया जा रहा है।

CAA-NRC Protest: मुश्किल में है देश, क्लास की जगह सड़कों पर दिख रहे हैं छात्र: सुनील गावस्कर

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Bengaluru IT man bathed 10 hours a day for 7 months
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X