• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

गरीब रथ को लेकर रेलवे ने किया ये बड़ा बदलाव, यात्रा करने से पहले जानना जरूरी

|

नई दिल्ली। रेलवे ने बेडरोल को लेकर कुछ नए बदलाव किए हैं। एसी कोच में बेडरोल की चोरी होने की घटनाओं के बाद अब फैसला लिया गया है कि दुरंतो और अन्य मेल एक्सप्रेस ट्रेनों की तरह गरीब रथ में भी यात्रियों के लिए इसे लेना जरूरी होगा। इसका शुल्क किराए के साथ ही शामिल होगा। इसके लिए यात्रियों को 25 रुपये चुकाने होंगे। बता दें ट्रेनों में यात्री की सुविधा के लिए रेलवे आमतौर पर बेडरोल मुहैया कराता है।

व्यवस्था 15 मई से शुरू

व्यवस्था 15 मई से शुरू

इसके लिए किराए के साथ ही शुल्क लिया जाता है। लेकिन केवल गरीब रथ में ही बेडरोल का शुल्क यात्री अपनी इच्छा के साथ देता है। यानी वो अगर चाहे तो बेडरोल ले सकता है, नहीं लेना चाहता तो उससे इसका शुल्क भी नहीं वसूला जाता है। लेकिन अब इनकी चोरी रोकने के लिए गरीब रथ में भी बेडरोल अनिवार्य हो गया है। ये व्यवस्था 15 मई से शुरू होगी।

सीट कम कर बेडरोल के लिए जगह बनाने का आदेश

सीट कम कर बेडरोल के लिए जगह बनाने का आदेश

जानकारी के मुताबिक रेलवे ने साफ्टवेयर को अपडेट करने के साथ विभाग को ट्रेन के कुछ कोच में सीट कम कर बेडरोल के लिए जगह बनाने को कहा है। जितनी सीटें कम होगी, रिजर्वेशन सिस्टम में उस हिसाब से सीटों की बुकिंग में बदलाव होगा।

रेलवे की छवि भी खराब हो रही थी

रेलवे की छवि भी खराब हो रही थी

रेलवे को ये कदम इसलिए उठाना पड़ा क्योंकि बेडरोल की चोरी से उसे काफी नुकसान हो रहा था, साथ ही इससे रेलवे की छवि भी खराब हो रही थी। रेलवे के मुताबिक गरीब रथ के थर्ड एसी कोच में अब यात्री को बेडरोल लेना होगा। इसके लिए रेलवे बोर्ड ने नया आदेश जारी कर दिया है।

कोरोना वायरस: डिफेंस एक्सपो में शामिल नहीं होगा चीन, भारत आने वालों के वीजा भी रद्द

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
bedroll is necessary in garib rath also like other said indian railways.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X