• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

'क्योंकि वो एक स्टार नहीं थी, झोपड़ी में रहती थी', सामना में कंगना पर निशाना

|

मुंबई। एक बार फिर से शिवसेना ने अभिनेत्री कंगना रनौत पर निशाना साधा है, पार्टी के मुखपत्र 'सामना' में शिवसेना नेता और राज्यसभा सदस्य संजय राउत ने लिखा है कि जिन लोगों ने महाराष्ट्र और मुंबई के खिलाफ कंगना रनौत की आधारहीन टिप्पणियों का समर्थन किया था और उनके अवैध निर्माण को गिराने पर इंसाफ की मांग की थी, वे अब चुप हैं और हाथरस पीड़िता के लिए इंसाफ मांगने का समय आया तो वे गायब हो गए हैं।

'हाथरस पीड़िता कोई बड़ी हस्ती नहीं थी, गरीब थी'

'हाथरस पीड़िता कोई बड़ी हस्ती नहीं थी, गरीब थी'

क्योंकि हाथरस पीड़िता कोई बड़ी हस्ती नहीं थी, बड़े घर में नहीं रहती थी, एक झोपड़ी में रहती थी, ना ही उसने ड्रग्स लिया था और ना ही उसने अवैध निर्माण पर करोड़ों रुपये खर्च किए थे, वह एक साधारण लड़की थी जिसके शव को रात में अवैध रुप से जला दिया गया। यह सबकुछ योगी के राजराज्य में हुआ, अब कंगना को समर्थन वाले कुछ नहीं कहेंगे, जिन्होंने उनके शोर को सही मान लिया।

यह पढ़ें: Saamana: शिवसेना ने सुशांत सिंह को बताया 'चरित्रहीन', पूछा- गुप्तेश्वर का 'गुप्त रोग' हुआ दूर?

'अब किसी को पाकिस्तान याद नहीं आ रहा है'

'अब किसी को पाकिस्तान याद नहीं आ रहा है'

यही नहीं 'सामना' में राउत ने हाथरस की घटना को पाकिस्तान में हिंदू लड़कियों के साथ हो रहे अत्याचार से तुलना करते हुए लिखा है कि हमने सुना कि ऐसी घटनाएं पाकिस्तान में होती हैं, जहां पर हिंदू लड़कियों का अपहरण कर रेप और मर्डर कर दिया जाता है। हाथरस में जो कुछ भी हुआ वो इससे अलग नहीं था लेकिन अभी तक किसी ने भी हाथरस को पाकिस्तान नहीं कहा, आपको बता दें कि कंगना रनौत ने मुंबई की तुलना POK से कर डाली थी और कहा था कि यहां रहने में डर लगता है।

'हद है इन लोगों के इंसाफ की लड़ाई'

'हद है इन लोगों के इंसाफ की लड़ाई'

'सामना' में राउत ने आगे लिखा है कि उत्तर प्रदेश, हरियाणा, मध्य प्रदेश में 2014 से लेकर 2019 तक 12,257 गैंगरेप की घटनाएं हुईं हैं लेकिन, इंसाफ जाति, धर्म और राजनीतिक संबद्धता को देखते हुए दिया जाता है, हद है इन लोगों के इंसाफ की लड़ाई, जिन लोगों ने एक एक्ट्रेस के अवैध निर्माण को ढहाने पर हमारे खिलाफ आवाज उठाई , वो अभी कहां है,उन्हें हाथरस पीड़िता के लिए भी न्याय की मांग करनी चाहिए।

'पहले गैंगरेप, हत्या की कोशिश फिर जबरन जलाया'

'पहले गैंगरेप, हत्या की कोशिश फिर जबरन जलाया'

मालूम हो कि संजय राउत के साथ कंगना की सार्वजनिक तौर पर बहसबाजी के बाद BMC ने कंगना के बंगले में अवैध रूप से किए गए निर्माण पर बुलडोजर चला दिया था, जिस पर काफी बवाल मचा था और शिवसेना और बीएमएसी की चौतरफा अलोचना हुई थी।

हाथरस में दलित लड़की के साथ गैंगरेप

गौरतलब के यूपी के हाथरस में एक 19 वर्षीय दलित लड़की के साथ उसी के गांव के चार लोगों ने गैंगरेप किया था और उसके बाद उसे मारने की कोशिश की थी, उसकी रीढ़ की हड्डी तोड़ दी थी और उसकी जीभ को काट दिया, गंभीर हालत में पीड़िता को एम्स में भर्ती कराया गया था, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई, उसके बाद पीड़िता के शव को जबरन यूपी पुलिस ने उसके घरवालों के विरोध के बावजूद रात ढाई बजे जला दिया, इसी की बाद से यूपी पुलिस और योगी सरकार लोगों और विरोधियों के निशाने पर है।

यह पढ़ें: दिल्ली-NCR में सर्दी की आहट लेकिन हवा का स्तर हुआ खराब, जानिए क्या कह रहे हैं एक्सपर्ट

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Because Hathras victim was not a star, Not Rich and lived in a hut: Sanjay Raut takes on BJP, Kangana Ranaut, here is details.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X